ENGLISH HINDI Friday, April 03, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
मरकज की तब्लीगी जमात से लौटे छह नागरिकों की पहचान: डीसी सोशल डिस्टेंसिंग से ही बचा जा सकता है कोरोना सेनेतागिरी चमका रहे राजसी नेताओं पर नहीं कसा जा रहा शिकंजाकोविड-19 से लड़ने में युद्ध स्तर पर जुटे सीएसआईआर के वैज्ञानिकराष्ट्रपति करेंगे राज्यपालों, लेफ्टिनेंट गवर्नरों एवं राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेश प्रशासकों के साथ कोविड-19 पर चर्चादेश के 410 जिलों में कराया गया राष्‍ट्रीय कोरोना सर्वेक्षण जारीलक्ष्य ज्योतिष संस्थान ने जरूरतमन्द लोगों में भोजन बांटालॉक डाउन: डोर टू डोर गार्बेज कलेक्टर यूनियन ने प्रधानमंत्री को समस्याओं और मांगों से ट्वीट कर करवाया अवगत
हिमाचल प्रदेश

कोरोना वायरस से भयभीत नहीं, सजग रहने की जरूरत: परमार

February 09, 2020 06:47 PM

धर्मशाला (विजयेन्दर शर्मा) ।

संत परम्परा मे गुरू रविदास का महत्वपूर्ण स्थान रहा है। गुरू रविदास के शब्द जीवन जीने का बोध ही नहीं करवाते बल्कि हमें आपसी सद्भाव, मेल-जोल तथा प्यार-भावना का भी मार्ग प्रशस्त करवाते हैं।

यह उदगार संत गुरू रविदास जयंती के शुभ अवसर पर स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री विपिन सिंह परमार ने सुलाह विधानसभा क्षेत्र के भवारना और भदरोल अपने संबोधन में व्यक्त किये। इससे पूर्व उन्होंने भवारना में 12 लाख की लागत से निर्मित होने वाले गुरु रविदास भवन की आधारशिला रखी।

परमार ने कहा कि गुरू रविदास की गणना महान संतो के रूप में भारत में ही नहीं अपितु विश्व के में की जाती है। उन्होंने कहा कि संत रविदास एक समाज के न होकर पूरी मानवता के गुरू थे। उन्होंने समाज में फैली कुरीतियों व छुआछूत को समाप्त किया। उन्होंने कहा कि संत रविदास की शिक्षाएं समाज के लिए प्रेरणा स्त्रोत है तथा उनका प्रेम सच्चाई और धार्मिक सौहार्द का पावन संदेश हर दौर में प्रासंगिक है। गुरू रविदास का कार्य न्यायसंगत समतावादी समाज के लिए प्रेरणा स्त्रोत है।

भवारना में आरंभ होगी सीटी स्कैन सुविधा

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री विपिन सिंह परमार ने कहा कि सिविल अस्पताल भवारना में शीघ्र सिटी स्कैन सुविधा आरंभ करने के साथ अन्य जरूरी आधुनिक मशीनें भी उपलब्ध करवाई जाएंगी। उन्होंने कहा कि भवारना, सुलह विधानसभा क्षेत्र का प्रमुख स्थान है और यहां मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाना उनकी प्राथमिकताओं में एक है। उन्होंने कहा कि 24 करोड से भवारना में सिविल अस्पताल का भवन निर्मित किया जा रहा है तथा हलके के सभी प्रमुख अस्पतालों में आधुनिक मशीने उपलब्ध करवाने के साथ विशेषज्ञ चिकित्सक तथा निःशुल्क दवाइयां उपलब्ध करवाई जा रही है।

उन्होंने कहा कि भवारना, भडग्वार, आरठ और चंजेहड़ में जल जीवन मिशन के तहत प्रत्येक घर को नल जल उपलब्ध करवाने के लिए 3 करोड रुपए व्यय किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि भवारना के शमशान घाट के सौंदर्यीकरण पर 20 लाख, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला भवारना में ओवरहेड पुल निर्माण के लिए 25 लाख के अतिरिक्त साइंस लैब का निर्माण किया जा रहा है

कोरोना वायरस से भयभीत नहीं सजग रहने की जरूरत

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री, विपिन सिंह परमार ने कहा की प्रदेश में कोरोना वायरस से किसी को भी भयभीत होने की जरूरत नहीं है। प्रदेश में इस वायरस का कोई मामला सामने नहीं आया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार तथा स्वास्थ्य विभाग किसी भी स्थिती से निपटने के लिए पूरी तरह सजग और तैयार है। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस का उद्गम चीन के एक प्रांत से हुआ लेकिन भारत के लोग और बच्चे चीन के कई प्रांतों में शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं इसलिए भारत सरकार पूरी तरह सजग और किसी भी स्थिती से निपटने के लिए तैयार है।

उन्होंने कहा कि भारत सरकार ने कोरोना वायरस के मद्येनजर सभी राज्यों को एडवाइजरी जारी की है इसपर हिमाचल सरकार पूरी तत्परता से अमल कर रही है। उन्होंने कहा कि देश के सभी हवाई अड्डों में इस वायरस की जांच के लिए थर्मो सेंसर लगाए गए हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश के तीनों हवाई अड्डों गगल, भुंतर तथा शिमला में भी नजर रखी जा रही है। उन्होंने कहा कि चीन से आये लोगों पर स्वास्थ्य विभाग नजर बनाये हुए है।  

प्रदेश में कोरोना वायरस जैसा कोई मामला सामने नहीं आया है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग लगातार लोगों को कोरोना वायरस के प्रति जागरूक कर रहा है और वायरस जैसे लक्षणों के होने पर लोगों से नजदीक के स्वास्थ्य संस्थानांे में जांच करवाने की सलाह दी जा रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के मेडिकल कॉलेजों में आइसोलेशन वार्ड तैयार करने को कहा गया है।  

सम्मान पर खर्च होने वाली राशि को दें मुख्यमंत्री राहत कोष में

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि किसी भी कार्यक्रम में उन्हें तथा अन्य लोगों को सम्मानित नहीं करने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने लोगों से कार्यक्रमों में सम्मान, काजू-बदाम इत्यादि के खर्च को मुख्यमंत्री राहत कोष में देकर मानवता की सेवा में आगे आने की अपील की। उन्होंने समस्त कमेटी सदस्य भदरोल द्वारा सम्मानित कार्यक्रम को रद्द करने से बची राशि को मुख्यमंत्री राहत कोष में दस हजार रुपये देने की सराहना की और लोगों का आभार प्रकट किया। उन्होंने कहा कि यह एक अच्छी पहल है जो पूरे प्रदेश में मिशाल होगी। जागृति महिला मण्डल भदरोल ने भी मुख्यमंत्री राहत कोष में 2100 रुपये देने की घोषणा की।

उन्होंने इस अवसर पर 77 लाभार्थियों को मुख्यमंत्री राहत कोष से लगभग साढ़े 11 लाख की सहायता राशि के चेक वितरित किए इससे पूर्व स्वास्थ्य मंत्री ने भदरोल व भवारना में गुरू रविदास जयंती के अवसर पर गुरू रविदास मंदिर में पूजा अर्चना की। उन्होंने कहा कि झुंगा देवी मंदिर भदरोल के सौंदर्यीकरण के 7 लाख रुपये उपलब्ध करवाये गये हैं।

परमार ने सुनी जनसमस्याऐं

इस दौरान स्वास्थ्य मंत्री ने भवारना व भदरोल में उनसे मिलने आए लोगों की समस्याएं सुनीं तथा अधिकांश का मौके पर ही निपटारा कर दिया तथा शेष समस्याओं के समाधान हेतू सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों को दिशा निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी आम जनता की समस्याओं का समयबद्ध निपटारा सुनिश्चित करें ताकि आम जनता को परेशानी का सामना न करना पड़े।

कार्यक्रम में भाजपा जिला अध्यक्ष हरिदत्त शर्मा, मंडलाध्यक्ष देश राज शर्मा, पंचायत समिति के अध्यक्ष सुनील मैहता, बीडीसी सदस्य पूनम धरवाल, तनु भारती, संजीव धरवाल, कश्मीर सिंह, अंकुर कटोच, भवारना पंचायत की प्रधान रीना धीमान, भदरोल पंचायत की प्रधान सुरेश कुमारी, रमेहड पंचायत के प्रधान प्रेमलता, विकास धीमान, कविता धरवाल, मदन ठाकुर, गुरु रविदास समाज कल्याण एवं विकास संस्था भवारना के अध्यक्ष उधम सिंह, उपाध्यक्ष प्यार चंद, सचिव संजीव कुमार, कोषाध्यक्ष ज्ञानचंद, समस्त कमेटी भदरोल प्रेत चंद, उद्यम सिंह, मस्त राम, एसडीएम धीरा विकास जंवाल, तहसीलदार पालमपुर वेद प्रकाश अग्निहोत्री अधिशासी अभियंता जल शक्ति अनिल पूरी सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी तथा क्षेत्र के गणमान्य लोग मौजूद रहे

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हिमाचल प्रदेश ख़बरें
मरकज की तब्लीगी जमात से लौटे छह नागरिकों की पहचान: डीसी सोशल डिस्टेंसिंग से ही बचा जा सकता है कोरोना से सामाजिक दूरी को बनाए रखने में ई-पास मेकेनिज्म होगा सहायकः मुख्यमंत्री गैर पंजीकृत प्रवासी मजदूरों को पंजीकृत कर प्रदान किए जाएं पहचान पत्रः राज्यपाल औद्योगिक घरानों को संचालन शुरू करने के लिए सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी: मुख्यमंत्री हिमाचल भवन में वर्ग विशेष को ठहराने का समाचार तथ्यहीन और भ्रामक 14 अप्रैल तक बंद रहेंगे सरकारी कार्यालय और शैक्षणिक संस्थान: मुख्यमंत्री मरकज की तबलीगी जमात से लौटे नागरिकों की तुरंत दे सूचना: डीसी कोविड-19 सोलीडेरिटी रिस्पांस फंड हेतु मुख्यमंत्री को चैक भेंट किए महामारी के कठिन समय में सरकार के साथ खड़े हों, दलगत राजनीति से उठकर कार्य करें