ENGLISH HINDI Tuesday, July 14, 2020
Follow us on
 
चंडीगढ़

वाल्मीकि समाज ने नगर निगम कार्यालय का किया घेराव: राजेश कालिया और कमिश्नर के खिलाफ की नारेबाजी

February 13, 2020 06:22 PM

मेयर राजबाला मालिक ने फरवरी महीने के अंत तक मामला निपटाने के दिया आश्वासन

चंडीगढ़: संघर्ष समिति के बैनर तले वीरवार वाल्मीकि समाज के सैकड़ों लोगों ने चंडीगढ़ नगर निगम कार्यालय का घेराव किया और पूर्व मेयर राजेश कालिया एवम निगम कमिश्नर के के यादव के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। ये घेराव गुरचरण सिंह के खिलाफ 68 लाख रुपये का नोटिस दिए जाने और उन्हें नौकरी से निकाले जाने के विरोध में किया गया था। वहीँ नगर निगम की मेयर राजबाला मलिक ने समिति के प्रतिनिधि मंडल को आश्वासन दिया कि फरवरी महीने के अंत तक इस मामले को निपटा देने का प्रयास करेंगी।

संघर्ष समिति के बैनर तले वीरवार वाल्मीकि समाज के सैकड़ों लोगों ने चंडीगढ़ नगर निगम कार्यालय का घेराव किया और पूर्व मेयर राजेश कालिया एवम निगम कमिश्नर के के यादव के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। ये घेराव गुरचरण सिंह के खिलाफ 68 लाख रुपये का नोटिस दिए जाने और उन्हें नौकरी से निकाले जाने के विरोध में किया गया था। वहीँ नगर निगम की मेयर राजबाला मलिक ने समिति के प्रतिनिधि मंडल को आश्वासन दिया कि फरवरी महीने के अंत तक इस मामले को निपटा देने का प्रयास करेंगी।

भारतीय मजदूर संघ ने भी इस धरना प्रदर्शन में वाल्मीकि समाज का साथ दिया। इस अवसर पर कंवरपाल गहलोत, सतवीर चौधरी, हरजिंदर मकवाना एडवोकेट, धर्मगुरु महेंद्र सिंह, ओम क्लास, बबलू बिरला, अशोक कुमार, प्रेसिडेंट, ऑल कंस्ट्रक्शन कर्मचारी संघ,कालूराम इत्यादि भी मौजूद थे।

इसी मौके संघर्ष समिति के पदाधिकारियों और बाल्मीकि समाज के सदस्यों ने स्पष्ट किया किया कि मेयर राजबाला मलिक द्वारा दिये गए आश्वासन के तहत अगर इस फरवरी महीने के अंत तक कोई परिणाम सामने नही आता, तो मार्च महीने से बाल्मीकि समाज फिर से सड़कों पर उतर आएगा। चंडीगढ़ को भारतीय मजदूर संघ ऑल इंडिया कंडक्टर कर्मचारी संघ और विभिन्न दलित संगठनों ने नगर निगम का घेराव करते हुए पूर्व महापौर राजेश कालिया व निगम के आयुक्त के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए निगम के कार्यालय के आगे रोष प्रदर्शन किया गया।

श्री कंवर पाल गहलोत व श्री सुभाष तमोली ने दलित समाज के लोगों को संबोधित करते हुए बताया कि अक्टूबर 2019 को भगवान वाल्मीकि शोभा यात्रा के इतने बड़े महोत्सव में निगम के मेयर को ना तो आमंत्रित किया गया था और ना ही बैनर पोस्टरों पर उनकी तस्वीर लगाई गई थी. श्री कालिया ने दुर्भावना और अपनी पावर का गलत इस्तेमाल करते हुए शोभा यात्रा के महोत्सव के दौरान लगाए गए बैनर पोस्टर व श्री गुरचरण को माध्यम बनाकर समस्त वाल्मीकि समाज की आस्था व स्वाभिमान को भारी ठेस पहुंचाई।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और चंडीगढ़ ख़बरें
वाल्मीकि आश्रम में की शिव परिवार की स्थापना सान्या शर्मा बनना चाहती है डॉक्टर, हासिल किए 92 फीसदी अंक गवर्नमेंट मॉडल सीनियर सेकेंडरी स्कूल राम दरबार स्कूल में फलदार पौधे लगाए, प्रदीप छाबड़ा भी पहुंचे कोरोना महामारी से बचने के लिए मास्क सैनिटाइजर और 2 गज की दूरी जरूरी पौधारोपण....ताकि धरती हरी भरी रहे सावन में प्रवासी चिड़िया करतीं चीं..चीं कोरोना योद्धाओं को पुरस्कार देकर अपने जन्मदिन पर किया सम्मानित परीक्षाएं लेने के फैसले विरुद्ध ‘आप’ विद्यार्थी विंग ने किया रोष प्रदर्शन बिजली विभाग का कारनामा: भुगतान तिथि वाले दिन भेजे जा रहे हैं बिल पेड़ों के बिना जीवन नहीं, पेड़ ही जीवन है, पेड़ लगाओ जीवन बचाओ