ENGLISH HINDI Friday, April 03, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
मरकज की तब्लीगी जमात से लौटे छह नागरिकों की पहचान: डीसी सोशल डिस्टेंसिंग से ही बचा जा सकता है कोरोना सेनेतागिरी चमका रहे राजसी नेताओं पर नहीं कसा जा रहा शिकंजाकोविड-19 से लड़ने में युद्ध स्तर पर जुटे सीएसआईआर के वैज्ञानिकराष्ट्रपति करेंगे राज्यपालों, लेफ्टिनेंट गवर्नरों एवं राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेश प्रशासकों के साथ कोविड-19 पर चर्चादेश के 410 जिलों में कराया गया राष्‍ट्रीय कोरोना सर्वेक्षण जारीलक्ष्य ज्योतिष संस्थान ने जरूरतमन्द लोगों में भोजन बांटालॉक डाउन: डोर टू डोर गार्बेज कलेक्टर यूनियन ने प्रधानमंत्री को समस्याओं और मांगों से ट्वीट कर करवाया अवगत
पंजाब

आवारा पशुओं के हल के लिए विधानसभा में प्रस्ताव लाएगी ‘आप’

February 14, 2020 10:40 AM

चण्डीगढ़, फेस2न्यूज:
राज्य में विकराल होती जा रही आवारा पशुओं की समस्या के ठोस हल के लिए आम आदमी पार्टी पंजाब आगामी विधान सभा सत्र में प्रस्ताव पेश कर रही है। वीरवार को पार्टी के नेता और विधायक अमन अरोड़ा, कुलतार सिंह संधवां और प्रो. बलजिन्दर कौर ने विधान सभा के स्पीकर राणा केपी सिंह को प्रस्ताव सौंप दिया है।
स्पीकर राणा केपी सिंह के साथ मुलाकात के उपरांत मीडिया को संबोधन करते हुए अमन अरोड़ा, कुलतार सिंह संधवां और प्रो. बलजिन्दर कौर ने कहा कि आवारा पशूओं की समस्या बेकाबू हो चुकी है, क्योंकि समय समय की कांग्रेसी और अकाली-भाजपा सरकारों ने इस समस्या के हल के लिए जरुरी ठोस कदम ही नहीं उठाए।
अरोड़ा ने बताया कि आगामी बजट सत्र के दौरान वीरवार वाले दिन यह प्रस्ताव सदन में पेश किया जाएगा। इस संबंधी माननीय स्पीकर ने भी समस्या की गंभीरता को समझते हुए प्रस्ताव पेश करने की प्रवानगी देने का भरोसा दिया है।
‘आप’ विधायकों ने कहा कि आवारा पशुओं के कारण हर साल भारी जान और माली नुक्सान होता है। सडक़ दुर्घटनाओं में सैंकड़े जानें जातीं हैं और फसलों का भारी नुक्सान होता है। अमन अरोड़ा ने बताया कि यदि सरकार आवारा पशूओं की दिन प्रति दिन विकराल हो रही समस्या का समय रहते हल न किया तो पंजाब समेत देश भर में 28 करोड़ आवारा पशु हो जाएंगे, जिनकी संभाल के लिए सालाना 5 लाख 40 हज़ार करोड़ रुपए की जरूरत होगी।
अरोड़ा ने कहा कि पंजाब में इन आवारा पशुओं में करीब 15 प्रतिश्त देसी नसल की गाय और बैल हैं जबकि बाकी 85 प्रतिशत अमरीकी /एच.एफ गाय-बैल हैं, जिनका भारत में पवित्र और पूजनीय मानी जाती गाय नसल के साथ बायओलोजीकल या वैज्ञानिक तौर पर कोई लेना-देना नहीं है। जिस की पुष्टि डी.ऐन.ए टैस्ट करवा कर की जा सकती है।
अरोड़ा ने बताया कि प्रस्ताव द्वारा मांग की गई है कि देसी नसल की गाय व बैलों की गौशाला में सम्मान सहित संभाल यकीनी बनाई जाए, जबकि अमरीकी /एफएम नसल के आवारा पशुओं को पकड़ कर बुच्चडख़़ानों में भेजा जाए, जिससे लोगों की जान-माल और फसलों का बचाव हो सके।
कुलतार सिंह संधवां और प्रो. बलजिन्दर कौर ने पंजाब के लोगों से अपील की है कि वह अपने अपने हलके के विधायकों पर इस लोग-हित प्रस्ताव की विधान सभा के सदन में पार्टीबाजी से ऊपर उठ कर हिमायत करें क्योंकि सडकों पर हादसे और फसलों के नुक्सान ‘आप वाले’, अकाली या कांग्रेसी देख दे नहीं होते।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
नेतागिरी चमका रहे राजसी नेताओं पर नहीं कसा जा रहा शिकंजा 3 व्यक्तियों की गिरफ्तारी से पुलिस ने धारीवाल हत्याकांड मामला सुलझाया कोरोना की एंट्री पर रोक लगाने शहरों व गांवों में बेरीगेटिंग शुरु दिल्ली में भाग लेने वालों में तब्लीगी जमात से संबंधित बरनाला के भी थे दो लोग विधायक आवला ने मुख्यमंत्री राहत कोष में अपना दो साल का वेतन दिया चेतावनी: ज़रूरी वस्तुओं की अधिक कीमत वसूलने वालों पर की जाएगी सख्त कार्यवाही सिविल डिफेंस वार्डनों को सीडीआई ने दिए वालंटियरों को तैयार रखने के निर्देश बैसाखी पर सिख संगत को एकत्रित न होने का संदेश देने की श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार से अपील सेवामुक्त होने वाले पुलिसकर्मियों का सेवाकाल 31 मई तक बढ़ाया कोरोना : पहले कैदियों को रिहा किया, अब नशामुक्ति केंद्रों से नशेडिय़ों को भेजा जाएगा घर