ENGLISH HINDI Saturday, April 04, 2020
Follow us on
 
पंजाब

संगरूर के लौंगोवाल में स्कूल वैन को लगी आग, 4 मासूम जिन्दा जले, मुख्यमंत्री ने दिए घटना की मैजिस्ट्रेट जांच के आदेश

February 15, 2020 06:24 PM

8 की हालत गंभीर, मंदभागी घटना में चार बच्चों की दु:खद मौत पर गहरे दु:ख का प्रगटावा, प्रत्येक पीडि़त परिवार के लिए 7.25 लाख रुपए एक्स -ग्रेशिया का ऐलान,स्कूली बच्चों की सुरक्षा को यकीनी बनाने के लिए राज्य भर में स्कूल बसों की चैकिंग के आदेश
संगरूर/लौंगोवाल/चंडीगढ़ (अखिलेश बंसल, करन अवतार बरनाला)।

 
 
 
पंजाब के जिला संगरूर के कस्बा लौंगोवाल में एक निजी स्कूल की वैन को अचानक आग लगने से 4 बच्चे जिंदा झुलस गए। जिनकी मौत हो गई है, जबकि वैन चालक व 8 बच्चों की हालत गंभीर बतायी गई है। जिन्हें सरकारी अस्पताल पहुंचाया गया है। घटना की सूचना मिलते ही राज्य के मुख्यमंत्री कैंप्टन अमरिंदर सिंह ने उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए हैं।

यह दु:खद हादसा उस समय पर घटा जब बदकिस्मत स्कूल वैन लोंगोवाल के एक प्राईवेट स्कूल के नरसरी विंग के बच्चों को सम्बन्धित स्थानों पर छोडऩे के लिए जा रही थी। मुख्यमंत्री के निर्देशों पर शिक्षा मंत्री विजय इंदर सिंगला के साथ डिप्टी कमिश्नर घनश्याम थोरी और एस.एस.पी. डा. सन्दीप गर्ग मौके पर पहुँचे और बाद में अस्पताल भी गए और पीडि़त परिवारों के साथ मुलाकात की। स्कूल प्रबंधकों के खि़लाफ़ आई.पी.सी. की धारा 304 के अंतर्गत पहले ही केस दर्ज किया जा चुका है।  

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने संगरूर जि़ले में लोंगोवाल के नज़दीक स्कूल वैन को आग लगने की घटना में चार बच्चों की दर्दनाक मौत पर गहरे दु:ख का प्रगटावा किया है। मुख्यमंत्री ने इस हादसे की मैजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने प्रत्येक पीडि़त परिवार को 7.25 लाख रुपए एक्स-ग्रेशिया देने का ऐलान किया है।

मुख्यमंत्री ने परिवहन विभाग को सभी स्कूल बसों की राज्य स्तरीय चैकिंग तुरंत शुरू करने के आदेश दिए जिससे बच्चों की सुरक्षा को यकीनी बनाने के साथ-साथ भविष्य में ऐसे दु:खद हादसों को घटने से रोका जा सके। कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने सामाजिक सुरक्षा विभाग के जि़ला बाल सुरक्षा अफसरों को मोटर व्हीकल एक्ट के नियमों का उल्लंघन करने वाले स्कूल वाहनों पर सख्त नजऱ रखने के निर्देश दिए। उन्होंने विद्यार्थियों के आने-जाने के लिए इस्तेमाल कियेे जाने खऱाब वाहनों का प्रयोग करने पर स्कूल प्रबंधकों पर भी नजऱ रखने के लिए कहा।

मुख्यमंत्री ने परिवहन विभाग को आदेश दिए कि मोटर व्हीकल एक्ट के विभिन्न उपबंधों के अंतर्गत तय दिशा-निर्देशों का उल्लंघन किये जाने पर जि़म्मेदार स्कूल प्रबंधकों के खि़लाफ़ सख्त कार्यवाही की जाये।

यह दु:खद हादसा उस समय पर घटा जब बदकिस्मत स्कूल वैन लोंगोवाल के एक प्राईवेट स्कूल के नरसरी विंग के बच्चों को सम्बन्धित स्थानों पर छोडऩे के लिए जा रही थी। मुख्यमंत्री के निर्देशों पर शिक्षा मंत्री विजय इंदर सिंगला के साथ डिप्टी कमिश्नर घनश्याम थोरी और एस.एस.पी. डा. सन्दीप गर्ग मौके पर पहुँचे और बाद में अस्पताल भी गए और पीडि़त परिवारों के साथ मुलाकात की। स्कूल प्रबंधकों के खि़लाफ़ आई.पी.सी. की धारा 304 के अंतर्गत पहले ही केस दर्ज किया जा चुका है।  

स्कूल से लौटते वक्त हुई घटना-
लौंगोवाल के सिद्ध समाधां मार्ग पर स्थित सिमरन पब्लिक स्कूल की वैन में 4-5 वर्ष की उम्र के 12 मासूम सवार थे। जो कि नर्सरी कक्षा में पढ़ते थे और रोजाना की तरह स्कूल से वैन में सवार हो घर लौट रहे थे। कस्बा के पास पहुंचते ही स्कूल वैन को आग लग गई। जिससे सभी बच्चे बुरी तरह से झुलस गए। चीख-पुकार सुनकर पास के खेतों में काम कर रहे किसान दौड़ कर घटनास्थल पर पहुंचे। जिन्होंने वैन पर मिट्टी डाल कर 8 बच्चों को वैन से बाहर निकाल लिया, जबकि चार बच्चे बुरी तरह से झुलस चुके थे और दम तोड़़ चुके थे। जिन नौनिहालों की मौत हुई है उनकी पहचान अराध्या पुत्री सतपाल, कमलप्रीत सिंह पुत्र जगसीर सिंह, नवजोत कौर पुत्री जसवीर सिंह तथा सिमरजीत कौर पुत्री कुलविंदर सिंह के तौर पर हुई है।

शव देख परिजन भी हुए बेहोश-
जैसे ही खबर लौंगोवाल में रहते परिजनों तक पहुंची और वे जिस हालत में बैठे थे ुसी हाल में घटनास्थल पर पहुंचे, बच्चों के शव देख उनका रो-रो कर बुरा हाल हो गया। घटनाक्रम में कई परिजन बेहोश भी हो गए। बाकी परिजन अपने अपने बच्चों की तलाश में जुट गए।

लोगों ने जताया रोष-
घटना की खबर मिलने के बाद जिला संगरूर के डिप्टी कमिश्नर घनश्याम थोरी व जिला पुलिस मुखी ने घटना का जायजा लिया। जिस दौरान पता लगा कि वैन पूरी तरह से खस्ता थी जिसकी रजिस्ट्रेशन अवधि को समाप्त हुए कई साल बीत चुके थे। प्रशासन व पुलिस के समक्ष लोगों ने स्कूलों के प्रबंधन के खिलाफ नारेबाजी करते भारी आक्रोश व्यक्त किया। पुलिस को भी आड़े हाथ लेते कहा कि चालान काट काट कर पुलिस राजस्व बढ़ाने में लगी हुई है। लेकिन प्रणाली में सुधार नहीं ला रही।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
प्रवासी मजदूरों बिना कटेगी प्रदेश में गेहूं की फसल लोगों को कोविड-19 पीडि़त मरीज़ के अंतिम संस्कार का विरोध न करने की अपील कफ्र्यू बढ़ाने संबंधी अभी कोई फैसला नहीं, मौजूदा स्थिति अनुसार लिया जाएगा: मुख्यमंत्री उद्योग विभाग स्वदेशी वैंटीलेटरज़ उपलब्ध करवाने के लिए यत्नशील डी-मार्ट और ढिल्लों ग्रुप ने मुख्यमंत्री कोविड-19 राहत कोष के लिए 5.05 करोड़ रुपए दान किए झूठी ख़बरों पर कड़ी कार्यवाही, डीजीपी द्वारा निगरानी और कार्यवाही के लिए विशेष टीम गठित कर्फ्यू की उल्लंघना करने वाले रखे जाएंगे ओपन जेल में पंजाब के लोग कोवा एप से मँगवा सकेंगे किरयाना और अन्य ज़रूरी वस्तुएं नेतागिरी चमका रहे राजसी नेताओं पर नहीं कसा जा रहा शिकंजा 3 व्यक्तियों की गिरफ्तारी से पुलिस ने धारीवाल हत्याकांड मामला सुलझाया