ENGLISH HINDI Saturday, May 15, 2021
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
अघोषित बिजली कट्स से परेशान जीरकपुर के लोग पेंपा सेरिंग बने तिब्बत की निर्वासित सरकार के नये प्रधानमंत्रीगुरुद्वारा पातशाही दसवीं सेक्टर 8 में रोछे डायग्नोस्टिक (एनालाइजर) मशीन की शुरुआत:कोविड 19 की आपदा को अवसर में बदला पंजाब यूनिवर्सिटी ने, दाखला टेस्टों के नाम पर आवेदकों से लूटे करोड़ों रुपएजरूरतमंदों को प्लाज्मा दिलवा मदद कर रही चंडीगढ़ की "ब्लड सेवक" संस्थामहिला से शारीरिक संबंध बनाता बठिंडा का एएसआई रंगेहाथ काबू, बरखास्त कोटक महिन्द्रा बैंक के मुलाजिमों की आंखों में मिर्चे डालकर 45 लाख रूपए की लूटदो महीने से नहीं आ रहा बिजली बिल, भरा जा रहा औसत बिल, परेशान और खफा लोग
हिमाचल प्रदेश

जल शक्ति अभियान के अन्तर्गत विकास खंड ने स्थापित किया कीर्तिमान

February 17, 2020 09:35 PM

देहरा, (विजयेन्दर शर्मा)
भारत सरकार द्वारा संचालित ‘‘जल शक्ति अभियान’’ के अन्तर्गत ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग हिमाचल प्रदेश के निर्देशानुसार उपायुक्त कांगड़ा राकेश प्रजापति द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में जल संरक्षण हेेतु जिले के सभी पंचायत घरों में ‘‘छत जल संरक्षण टैंक’’ के निर्देशों के अनुरूप् विकास खंड देहरा पूरे प्रदेश में पहला ऐसा विकास खंड बन गया है, जिसकी सभी 64 ग्राम पंचायतों के कार्यालय के भवनों में छत जल संरक्षण टैंक बनकर तैयार हो चुके हैं।
इन छत जल संरक्षण टैंक को पंचायत भवनों में बनाने का उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में निवास करने वाली जनता को वर्षा जल के उचित संचयन एवं संरक्षण हेतु प्रेरित करना हैं। जिससे पंचायत घर के भवनों में बनाए गए इन मॉडल टैंकों से क्षेत्र के निवासी वर्षा जल संरक्षण के प्रति जागरुक हों तथा वह भी अपने घरों में इस प्रकार जल संचय करके जल संरक्षण में सरकार के सहयोगी बनें। जिससे भू जल के गिरते स्तर की गंभीरता को देखते हुए, उस पर निर्भरता कम हो सके।
भू जल का संरक्षण और संवर्धन न केवल वर्तमान पीढ़ी के लिए अपितु भविषय के लिए भी अति आवश्यक है। भू जल के स्तर को बढ़ाना और उसे संरक्षित करना आज सबका परम कतर्व्य है। अतः भू जल के संरक्षण हेतु सरकार के साथ-साथ आम जन मानस की सहभागिता भी अपेक्षित है। इसी उद्देश्य के दृष्टिगत उपायुक्त कांगड़ा द्वारा जिला के सभी पंचायत भवनों में वर्षा जल के संचय हेतु निर्देश दिए गए तथा विकास खण्ड देहरा ने पूर्ण निष्ठा से इसकी अनुपालना करते हुए देहरा विकास खंड के प्रत्येक पंचासत घर के भवन में इसका निर्माण करवाया। इस हेतु समस्त पंचायतों के प्रधान एवं क्षेत्रिय कर्मचारियों ने अपने सक्रिय सहयोग से सभी 64 ग्राप पंचायत के भवनों में इन टैंक का निर्माण करवा कर प्रदेश में देहरा को प्रथम स्थान पर पहुंचा दिया है।
पंचायत भवनों में निर्मित इन छत जल संरक्षण टैंक द्वारा वर्षा जल को संचय करके उसका उपयोग पंचायत के शौचालयों एवं अन्य गतिविधियों के लिए किया जाएगा। तथा इससे भू जल पर निर्भरता कम होने के साथ प्रदेश भर में छत जल संरक्षण का एक कीर्तिमान भी स्थापित हुआ। इस अवसर पर उपायुक्त कांगड़ा राकेश प्रजापति ने कहा कि भू जल का संरक्षण करना आज न केवल सरकार एवं प्रशासन अपितु समाज की जिम्मेवारी भी है। उन्होंने कहा कि इस हेतु कांगड़ा जिला में सरकार एवं प्रशासन द्वारा अनेकों अभियान चलाए जा रहे हैं, जिससे भू जल का संरक्षण एवं संवर्धन संभव हो सके। उन्होंने कहा कि इसी कड़ी में जिला प्रशासन द्वारा पूरे जिले के हर पंचायत भवन में छत जल संरक्षण टैंक बनवाए जा रहे है, अतः विकास खंड देहरा ने सबसे पहले सभी ग्राम पंचायतों के भवन में इसका निर्माण करके सराहनीय कार्य किया है।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हिमाचल प्रदेश ख़बरें
कोविड ड्यूटी पर तैनात चिकित्सकों, कर्मचारियों व प्रशिक्षुओं को दिया जाएगा मानदेय कोरोना कफ्र्यू आदेशों में आंशिक संशोधन परिवहन मंत्री ने की बस आॅपरेटर यूनियन से हड़ताल खत्म करने की अपील पश्चिम बंगाल में हिंसा का तांडव निश्चित रूप से स्टेट स्पांसर्ड वायलेंस स्वास्थ्य विभाग की सलाह, कोविड के हल्के लक्षण होने पर होम क्वारंटीन रहें मरीज कांग्रेस अपने बारे में बात करें दूसरों की जीत की खुशी ना मनाएं जीवनरक्षक दवाईयां, खाद्य पदार्थ कीमतें आसमान पर, सरकार करे नियन्त्र: कांग्रेस बाहरी राज्यों से आने वाले नागरिकों को पंजीकरण करवाना जरूरी सरकार तुरंत हिमाचल में भारी ओलावृष्टि और बेमौसमी बर्फ़बारी से फसल और बगीचों के नुक़सान का आँकलन करे बर्फबारी और ओलावृष्टि से हुए नुकसान का मूल्यांकन करें उपायुक्तः मुख्यमंत्री