ENGLISH HINDI Tuesday, June 15, 2021
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
सिखों के पांचवें गुरू अर्जन देव के शहीदी दिवस पर मीठे पानी की छबील का आयोजनकोरोना पीड़ितों की मदद के लिए नगर पार्षद मनु शर्मा अपना घर-बार भूलकर सेवा में जुटेसेक्टर-26 मंडी मार्किट कमेटी के सेक्रेटरी व ठेकेदार की धक्काशाही से परेशान व्यापारी व आम जनतापंजाब में सुपरवाइजऱ के 112 पद भरने के लिए विज्ञापन जारीधर्म, पंथ, जाति, सम्प्रदाय से ऊपर उठकर मानवता की सेवा हेतु रक्तदान का मार्ग चुनेंकोविड-19 की तीसरी लहर से निपटने के लिए समिति गठितफैक्ट्री को धौला ग्रिड से दी जा रही बिजली सप्लाई का विरोध, किसानों ने लगाया हाईवे पर जामअकाली-बसपा गठजोड़ मौकाप्रस्त और बेमेल: रंधावा
हिमाचल प्रदेश

जल शक्ति अभियान के अन्तर्गत विकास खंड ने स्थापित किया कीर्तिमान

February 17, 2020 09:35 PM

देहरा, (विजयेन्दर शर्मा)
भारत सरकार द्वारा संचालित ‘‘जल शक्ति अभियान’’ के अन्तर्गत ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग हिमाचल प्रदेश के निर्देशानुसार उपायुक्त कांगड़ा राकेश प्रजापति द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में जल संरक्षण हेेतु जिले के सभी पंचायत घरों में ‘‘छत जल संरक्षण टैंक’’ के निर्देशों के अनुरूप् विकास खंड देहरा पूरे प्रदेश में पहला ऐसा विकास खंड बन गया है, जिसकी सभी 64 ग्राम पंचायतों के कार्यालय के भवनों में छत जल संरक्षण टैंक बनकर तैयार हो चुके हैं।
इन छत जल संरक्षण टैंक को पंचायत भवनों में बनाने का उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में निवास करने वाली जनता को वर्षा जल के उचित संचयन एवं संरक्षण हेतु प्रेरित करना हैं। जिससे पंचायत घर के भवनों में बनाए गए इन मॉडल टैंकों से क्षेत्र के निवासी वर्षा जल संरक्षण के प्रति जागरुक हों तथा वह भी अपने घरों में इस प्रकार जल संचय करके जल संरक्षण में सरकार के सहयोगी बनें। जिससे भू जल के गिरते स्तर की गंभीरता को देखते हुए, उस पर निर्भरता कम हो सके।
भू जल का संरक्षण और संवर्धन न केवल वर्तमान पीढ़ी के लिए अपितु भविषय के लिए भी अति आवश्यक है। भू जल के स्तर को बढ़ाना और उसे संरक्षित करना आज सबका परम कतर्व्य है। अतः भू जल के संरक्षण हेतु सरकार के साथ-साथ आम जन मानस की सहभागिता भी अपेक्षित है। इसी उद्देश्य के दृष्टिगत उपायुक्त कांगड़ा द्वारा जिला के सभी पंचायत भवनों में वर्षा जल के संचय हेतु निर्देश दिए गए तथा विकास खण्ड देहरा ने पूर्ण निष्ठा से इसकी अनुपालना करते हुए देहरा विकास खंड के प्रत्येक पंचासत घर के भवन में इसका निर्माण करवाया। इस हेतु समस्त पंचायतों के प्रधान एवं क्षेत्रिय कर्मचारियों ने अपने सक्रिय सहयोग से सभी 64 ग्राप पंचायत के भवनों में इन टैंक का निर्माण करवा कर प्रदेश में देहरा को प्रथम स्थान पर पहुंचा दिया है।
पंचायत भवनों में निर्मित इन छत जल संरक्षण टैंक द्वारा वर्षा जल को संचय करके उसका उपयोग पंचायत के शौचालयों एवं अन्य गतिविधियों के लिए किया जाएगा। तथा इससे भू जल पर निर्भरता कम होने के साथ प्रदेश भर में छत जल संरक्षण का एक कीर्तिमान भी स्थापित हुआ। इस अवसर पर उपायुक्त कांगड़ा राकेश प्रजापति ने कहा कि भू जल का संरक्षण करना आज न केवल सरकार एवं प्रशासन अपितु समाज की जिम्मेवारी भी है। उन्होंने कहा कि इस हेतु कांगड़ा जिला में सरकार एवं प्रशासन द्वारा अनेकों अभियान चलाए जा रहे हैं, जिससे भू जल का संरक्षण एवं संवर्धन संभव हो सके। उन्होंने कहा कि इसी कड़ी में जिला प्रशासन द्वारा पूरे जिले के हर पंचायत भवन में छत जल संरक्षण टैंक बनवाए जा रहे है, अतः विकास खंड देहरा ने सबसे पहले सभी ग्राम पंचायतों के भवन में इसका निर्माण करके सराहनीय कार्य किया है।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हिमाचल प्रदेश ख़बरें
कोरोना पीड़ितों की मदद के लिए नगर पार्षद मनु शर्मा अपना घर-बार भूलकर सेवा में जुटे देहरा कंट्रोल रूम के माध्यम से 2500 संक्रमितों तक पहुंचा प्रशासन कोरोना मामलो में दिन-प्रतिदिन आ रही है गिरावट, जनता के लिए सुखद कोविड-19 की तीसरी लहर से निपटने के लिए समिति गठित सरकार पेयजल संकट का समाधान करे : संजय रतन वाहन दुर्घटना दावा नियमों में संशोधन को सैद्धान्तिक मंजूरीः परिवहन मंत्री केंद्र द्वारा पेट्रोल एवं डीजल के रेट में इजाफा करना गैर जिम्मेदाराना रवैयाः शर्मा 18-44 आयुवर्ग के लिए 14 तथा 17 जून को लगेगी कोविड वैक्सीन मानसून सीजन में जिला-उपमंडल स्तर पर खुले रहेंगे कंट्रोल रूम एनसीसी को वैकल्पिक पाठ्यक्रम के रूप में शामिल करने पर बल