ENGLISH HINDI Thursday, September 24, 2020
Follow us on
 
हिमाचल प्रदेश

क्रिकेट स्टेडियम में प्रवेश से पहले दर्शकों की स्वास्थ्य जांच

March 12, 2020 08:47 PM

जिला प्रशासन तथा स्वास्थ्य विभाग रहा पूरी तरह से सतर्क
धर्मशाला, (विजयेन्दर शर्मा) । धर्मशाला क्रिकेट स्टेडियम के प्रवेश से पहले कोरोना वायरस के लक्षणों को लेकर सभी दर्शकों की जांच की गई तथा दर्शकों से विदेश इत्यादि की यात्रा के बारे में भी जानकारी ली गई।

उपायुक्त राकेश प्रजापति ने बताया कि भारत-दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट मैच को लेकर पहले से स्वास्थ्य विभाग को आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए थे तथा दर्शकों की स्वारस्थ्य जांच की भी आवश्यक व्यवस्था की गई थी।

उन्होंने कहा कि कैरोना से बचाव के लिए कारगर कदम उठाए गए हैं तथा दुनिया के किसी भी देश से दस फरवरी 2020 के बाद कांगड़ा जिला में आए सभी नागरिकों को स्वेच्छा से नजदीकी स्वास्थ्य केंद्रों में स्वेच्छा से स्वास्थ्य जांच करवाना जरूरी किया गया है।

उन्होंने कहा कि सभी होटल प्रबंधकों, होम स्टे संचालकों सहित ठहराव के अन्य संस्थानों को भी इस बाबत आवश्यक हिदायतें दी गई हैं कि विदेशों से आने वाले यात्रियों के आगमन के बारे में सूचना मुख्य चिकित्सा अधिकारी धर्मशाला को दें। उन्होंने कहा कि आम नागरिक भी कोरोना वायरस को लेकर किसी भी तरह की जानकारी के लिए निशुल्क टो फ्री नंबर 104 तथा 108 पर संपर्क कर सकते हैं। पंपलेंट के माध्यम से भी कोरोना वायरस से बचाव की दिशा में लोगों को जागरूक किया जा रहा है इसके साथ गगल एयरपोर्ट पर भी कोरोना वायरस से बचाव थीम पर आधारित स्टैंडीज भी लगाई गई हैं।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी गुरदर्शन ने बताया कि साबुन और पानी या एल्कोहल वेस्ड हैंड सेनेटीजर से हाथ साफ करें,खांसते और छींकते समय टिश्यू या रूमाल से नाक और मुंह ढकें,ठंड या फ्लू जैसे लक्षणों वाले किसी व्यक्ति के साथ निकट संपर्क न करें, जंगली तथा पालतू जानवरों के साथ असुरक्षित संपर्क से बचें। कोरोना वायरस से घबराएं नहीं वायरस से संक्रमण से बचाव के स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी हिदायतों की अनुपालना सुनिश्चित करें।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हिमाचल प्रदेश ख़बरें
छात्रवृति योजनाओं की ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि 30 नवम्बर साईकलिंग को बनायें स्वस्थ जीवन का हिस्सा आपदा स्थिति में त्वरित राहत एवं बचाव कार्यों से किया जा सकता है जानमाल की क्षति को कम ग्रामीण विकास कार्यों की रफतार बढ़ाने पर दें जोर: एडीसी प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना आई, हो रही है अब फसली नुकसान की भरपाई खांसी, बुखार, जुकाम जैसे लक्षण वाले व्यक्ति हेल्पलाईन नम्बर 104 या 1077 पर करें सम्पर्क 12 रूटों पर रात्रि बस सेवा आरम्भ की जाएंगी ट्रूनाट और रैपिड एंटीजेन टेस्ट तकनीक कोविड-19 की लड़ाई में बनी गेम चेंजर: सीएमओ कोविड-19 मरीजों का ईलाज कर रहे चिकित्सकों व पैरा-मेडिकल स्टाफ की सुरक्षा भी सुनिश्चित होः मुख्यमंत्री आवश्यक वस्तुओं के परचून विक्रय मूल्य किए निर्धारित