ENGLISH HINDI Saturday, July 11, 2020
Follow us on
 
राष्ट्रीय

विदेशियों के दिल्ली के गुरुद्वारो में प्रवेश को सीमित किया

March 17, 2020 10:27 AM

नई दिल्ली, फेस2न्यूज:
दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने कोरोना वायरस को रोकने की मुहिम के अंतर्गत भारत में आने वाले 15 दिनों से कम अवधि वाले विदेशियों के दिल्ली के सभी एतिहासिक गुरुद्वारों में प्रवेश पर तत्काल प्रभाव से प्रतिबंध लगा दिया गया है।
दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा कि केवल मात्र भारत में 15 दिनों से ज्यादा रहने वाले विदेशी पर्यटकों को ही अब दिल्ली के गुरुद्वारों में प्रवेश मिल सकेगा। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए गुरुद्वारा परिसरों के विभिन्न स्थानों पर सिख संस्थाओं तथा दानवीरों द्वारा लगाये जाने वाले लंगरों पर भी तत्काल प्रभाव से पाबंदी लगाई गयी है तथा सभी सिख संस्थाओं एवं दानवीरों को मुख्य लंगर परिसर में ही अपना लंगर दान देने के लिए कहा गया है। उन्होंने कहा कि एतिहातिक तौर पर गुरुद्वारों के लंगर में कच्ची सब्जियों आदि के स्थान पर पैकेट बंद दालों चावलों आदि को पकाने के लिए कहा गया है तांकि कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए प्रभावी कदम उठाये जायें।
उन्होंने कहा कि गुरुद्वारा परिसरों में कार्यरत सभी सेवादारों/कर्मचारियों को अपनी डयूटी शुरु करने से पहले पूरी तरह कीटाणुरहित सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है तथा अपने हाथ साबुन से धोने व अन्य संभावित एतिहाति कदम उठाने के लिए कहा है।
श्री सिरसा ने कहा कि गुरुद्वारों में श्रद्धालुओं द्वारा प्रयोग की जाने वाली रेलिंग लिफ्ट कुर्सियों आदि को बार-बार कीटाणुरहित करने के आदेश दिये गये हैं। उन्होंने कहा कि सभी सहजधारी सिखों/ गैर सिखों को मुख्य गुरुद्वारा परिसर में प्रवेश के लिए अपने सिर ढकने के लिए अपना व्यक्तिगत घर से हैड सकार्फ (सिर ढकने का कपड़ा) लाने के लिए कहा है तथा गुरुद्वारा कमेटी ने तत्काल प्रभाव से श्रद्धालुओं को हैंड सकार्फ प्रदान करने की सुविधा बंद कर दी है तांकि कोरोना वायरस को रोका जा सके।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और राष्ट्रीय ख़बरें
भ्रष्ट तंत्र की उपज है विकास दुबे— जो बहुतों का जीवन ही ले डूबे एम्‍स दिल्‍ली ने कोविड क्‍लीनिकल मैनेजमेंट के बारे में राज्‍य के डॉक्‍टरों को टेली-परामर्श देना शुरु किया 25 वर्ष के अविवाहित दिव्यांग पुत्र ईसीएचएस सुविधा प्राप्त करने के पात्र कोविड-19 से लड़ने हेतु ईसीएचएस के तहत प्रति परिवार एक पल्स ऑक्सीमीटर की प्रतिपूर्ति की अनुमति अतिरिक्त खाद्यान्न आवंटन योजना अवधि को जुलाई से पांच माह और बढ़ाकर नवंबर तक की मंजूरी भारत में दीपगृह पर्यटन के अवसरों को विकसित करने का आह्वान महामारी को देखते हुए परीक्षाओं पर यूजीसी संशोधित दिशानिर्देश, अकादमिक कैलेंडर जारी कोविड—19: ठीक होने वालों की संख्या करीब 4 लाख 40 हजार हुई आईसीएआर-राष्ट्रीय पादप आनुवांशिक संसाधन ब्यूरो ने किए एमओयू पर हस्ताक्षर सतत विकास के लिए आयु-अनुकूल व्यापक यौनिक शिक्षा क्यों है ज़रूरी?