ENGLISH HINDI Friday, April 10, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
30 अप्रैल तक सरचार्ज या ब्याज सहित सभी बकायों पर नहीं लगेगा विद्यार्थियों को तनाव और मानसिक स्वास्थ्य से संबंधित परेशानियों से मुक्ति दिलाने के लिए हेल्पलाइन लांचरात को कहीं भी बिजली नहीं काटी जाएगी: रणजीत सिंहकोविड आइसोलेशन वार्डों में कार्यरत डॉक्टरों, नर्सों, पैरा मेडिकल, ड्राइवरों को कोरोना पीरियड के दौरान वेतन दोगुना मिलेगा  रबी फसल खरीद के दौरान किसानों की सुविधा के लिए, 24&7 टोल-फ्री हेल्पलाइन सुविधा जिला बरनाला में कोरोना वायरस से हुई पहली मौतकोरोना का करंट! औसत बिजली बिल आने से भड़के शहर वासी, जब काम धंधा नहीं कहा से भरेंगे बिलप्राईवेट स्कूलों को कफ्र्यू दौरान स्टाफ को पूरा वेतन जारी करने के निर्देश
हरियाणा

हरियाणा में कांग्रेस केवल भूपेन्द्र हुड्‌डा कांग्रेस, शेष नेताओं का वजूद गायब: मलिक

March 17, 2020 08:06 PM

गुरुग्राम, फेस2न्यूज:
हरियाणा में कांग्रेस केवल भूपेन्द्र हुड्‌डा की बपौती बन गई है। यहां प्रदेशभर में केवल राज्यसभा जाने के लिए केवल दीपेन्द्र हुड्‌डा ही एक चेहरे हैं। जबकि अन्य सभी नेताओं को देखकर लगता है कि उनका वजूद ही नहीं है। यह बात मंगलवार को भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता रमन मलिक ने कही। उन्होंने कहा कि राज्यसभा में खाली सीटों का चुनाव क्या आया लगता है कि कांग्रेस के अंदर विखंडीकरण का वायरस घुस गया है। आज कांग्रेस अपने ही पक्षपाती रवैया से जूझ रही है। जहां पिछले सप्ताह ही मध्यप्रदेश के दिग्गज नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया कांग्रेस को छोड़ भाजपा में शामिल हो गए। लेकिन इसके बावजूद भी कांग्रेस के कर्ताधर्ताओं का संगठन पर कोई ध्यान नहीं है।
आज कांग्रेस गुजरात, राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, महाराष्ट्र, झारखंड सभी जगह अंतरकलह से जूझ रही है। हरियाणा में कांग्रेस अपना अस्तित्व खो चुकी है और वह मात्र एक परिवार का दल है। विधानसभा चुनाव के दौरान हरियाणा में भूपेंद्र सिंह हुड्डा की चली थी और अन्य नेताओं को साइड कर दिया था। कुलदीप बिश्नोई, शैलजा, रणदीप सुरजेवाला, अजय यादव सब डरे सहमे से बैठे हैं। डॉक्टर अशोक तंवर का किस्सा सभी याद कर रहे हैं और अपने आपको नापतोल रहे हैं। दीपेंद्र हुड्डा को निर्वाचित करके राज्यसभा भेजने के फैसले ने यह स्पष्ट कर दिया है कि भारतीय कांग्रेस नहीं बल्कि हुड्डा कांग्रेस है। इस कांग्रेस के अंदर सिर्फ और सिर्फ भूपेंद्र सिंह हुड्डा की चलती है, यहां तक कि राहुल गांधी की भी नहीं। कांग्रेस के अंदर दो बड़े धड़े हैं, जिनमें एक धड़ा जिसको हम ओल्ड गार्ड कह सकते हैं जो माताजी और बहन जी के साथ है और दूसरा यंग ब्रिगेड है, जो राहुल के साथ है। कुछ समय से यह सामने आया है कि ओल्ड गार्ड और माताजी का दल यंग ब्रिगेड के ऊपर भारी पड़ रहा है। ज्योतिरादित्य सिंधिया की तरह कुछ अन्य नेता भी अपनी योजना के अनुसार प्रतीक्षा कर रहे हैं और जल्द ही अपनी सरकारों या अन्य दीवारों को तोड़कर अपने नए आशियाना ढूंढने निकल पड़ेंगे।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हरियाणा ख़बरें
30 अप्रैल तक सरचार्ज या ब्याज सहित सभी बकायों पर नहीं लगेगा विद्यार्थियों को तनाव और मानसिक स्वास्थ्य से संबंधित परेशानियों से मुक्ति दिलाने के लिए हेल्पलाइन लांच रात को कहीं भी बिजली नहीं काटी जाएगी: रणजीत सिंह कोविड आइसोलेशन वार्डों में कार्यरत डॉक्टरों, नर्सों, पैरा मेडिकल, ड्राइवरों को कोरोना पीरियड के दौरान वेतन दोगुना मिलेगा   रबी फसल खरीद के दौरान किसानों की सुविधा के लिए, 24&7 टोल-फ्री हेल्पलाइन सुविधा जमाखोरी, कालाबाजारी और मूल्य वृद्धि को नियंत्रण के लिए विशेष टीमें गठित मंडी में पहुंचने वाले किसान को मिलेगा मास्क और सैनिटाइजर कोविड-19 संक्रमण की भ्रामक सूचना पर साइबर सेल की पैनी नज़र, गलत पोस्ट पर हो सकती है सजा एक आईएएस अधिकारी स्थानांत्रित निजी विद्यालयों को निर्देश: फीस जमा करवाने पर तत्काल प्रभाव से रोक