ENGLISH HINDI Wednesday, April 08, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
कोविड-19 के विरुद्ध जंग में महान योगदान के लिए मैडीकल समुदाय की प्रशंसाबकरियां चराने गये बुजुर्ग पर जंगली सूअर का आक्रमण, बुजुर्ग की हुई मौतट्राईडेंट उद्योग समूह जिला के सेहत विभाग को देगा 10 हजार मेडीकल सूटकोरोना वायरस से मारे गए लोगों की अंतिम रस्में निभाने संबंधी हिदायतें जारी हों : ग्रेवाल जमाखोरी, कालाबाजारी और मूल्य वृद्धि को नियंत्रण के लिए विशेष टीमें गठितमंडी में पहुंचने वाले किसान को मिलेगा मास्क और सैनिटाइजरनिजामूद्दीन मरकज़ में तबलीगी जमात में भाग लेने वालों को दी 24 घंटों की अंतिम समय-सीमाकोरोना से बिना हथियार सीधी लड़ाई लड़ रहे योद्धा सेहत कर्मियों को आज मिलीं बचाव किट्टें
पंजाब

आई.ए.एस. अधिकारी कोरोनावायरस आपदा प्रबंधन और राहत कोष हेतु एक दिन के वेतन का योगदान डालेंगेे

March 23, 2020 08:07 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व में मंत्रीमंडल ने ‘मुख्यमंत्री राहत कोष’ के लिए एक महीने का वेतन देने का योगदान डालने का ऐलान किया है। इसी तरह कोरोनावायरस के खि़लाफ़ शुरु की गई लड़ाई में अपना योगदान डालते हुए पंजाब के आई.ए.एस. अधिकारियों ने भी अपना एक दिन का वेतन देने का फ़ैसला किया है।  

आई.पी.एस. और पी.पी.एस. अधिकारियों द्वारा कोविड-19 के विरुद्ध लड़ाई में डटे पुलिस मुलाजि़मों के लिए एक दिन का वेतन देने का ऐलान


राज्य के आई.पी.एस. और पी.पी.एस. अधिकारियों ने इस ख़तरनाक वायरस से निपटने के लिए किये जा रहे यत्नों में शामिल पंजाब पुलिस के मुलाजि़मों के कल्याण के लिए एक दिन का वेतन दान करने का ऐलान किया है।
एक सरकारी प्रवक्ता के मुताबिक मुख्यमंत्री के नेतृत्व में समूह मंत्रीमंडल द्वारा कोरोनावायरस आपदा प्रबंधन और राहत कोष के लिए दान के रूप में एक महीने का वेतन देने का योगदान डाला जायेगा।
पंजाब कैडर के आई.ए.एस. अधिकारियों ने ऐलान किया कि उन्होंने मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए एक दिन के वेतन का योगदान डालने का फ़ैसला किया है जिससे कोविड-19 के फैलाव को रोकने के लिए लगाए कफ्र्यू से प्रभावित होने वाले परिवारों की सहायता की जा सके।
डी.जी.पी. दिनकर गुप्ता ने कहा कि इंडियन पुलिस सर्विस और पंजाब पुलिस सर्विस के अधिकारी स्वैच्छा से पुलिस कल्याण कोष के लिए एक दिन के वेतन का योगदान डालेंगे जिससे राज्य भर में कोरोनावायरस की महामारी के विरुद्ध जंग में सेवाएं निभा रहे पुलिस मुलाजि़मों के लिए कल्याण कार्य किये जा सकें।
श्री गुप्ता ने बताया कि राज्य में 121 आई.पी.एस. और 809 पी.पी.एस. अधिकारियों के एक दिन के वेतन के योगदान के रूप में 33.2 लाख रुपए के लगभग बनता है। उन्होंने बताया कि इस राशि को बहादुर पुलिस मुलाजि़मों के लिए प्रबंध करने और विभिन्न कल्याण कार्यों के लिए इस्तेमाल किया जायेगा। उन्होंने कहा कि पुलिस के जवान कोविड-19 के फैलाव को रोकने के लिए राज्य सरकार के यत्नों के प्रति दृढ़ वचनबद्धता और समर्पित भावना से डटे हुए हैं।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
कोविड-19 के विरुद्ध जंग में महान योगदान के लिए मैडीकल समुदाय की प्रशंसा ट्राईडेंट उद्योग समूह जिला के सेहत विभाग को देगा 10 हजार मेडीकल सूट कोरोना वायरस से मारे गए लोगों की अंतिम रस्में निभाने संबंधी हिदायतें जारी हों : ग्रेवाल निजामूद्दीन मरकज़ में तबलीगी जमात में भाग लेने वालों को दी 24 घंटों की अंतिम समय-सीमा कोरोना से बिना हथियार सीधी लड़ाई लड़ रहे योद्धा सेहत कर्मियों को आज मिलीं बचाव किट्टें ड्रोन से कफ्र्यू पर पुलिस की पैनी नजर सर्वदलीय बैठक बुलाने के लिए न तो समय और न ही जरूरत: कैप्टन का सुखबीर को जवाब कोविड-19 संकट के मद्देनजऱ निर्धारित बिजली दरों में कटौती का ऐलान सेवा कर मिसाल कायम करने वाले कर्मियों और अधिकारियों का किया जाएगा सम्मान कफ्र्यू के दौरान फीस मांगने वाले 22 स्कूलों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्यवाही की शुरू: शिक्षा मंत्री