ENGLISH HINDI Friday, April 10, 2020
Follow us on
 
पंजाब

पंजाब में अनिश्चित कालीन कर्फ्यू शुरु

March 23, 2020 08:58 PM

अखिलेश बंसल/करन अवतार, बरनाला।
एक दिन के जनता कर्फ्यू के बाद पंजाब में कोरोना वायरस (कोविड-19) के प्रभाव को रोकने के लिए रा’य सरकार द्वारा सोमवार से प्रदेश में अनिश्चित काल के लिए कर्फ्यू लगा दिया गया। जिसकी उल्लंघना करने वाले व्यक्ति के खिलाफ फौजदारी जाबता संघता 197& की धारा 144 के तहत कार्रवाई करने के आदेश जिला के डिप्टी कमिश्नरों को दिए गए हैं।

जारी किए गए आदेशों में कहा गया है कि लोगों को घरों से बाहर निकलने, गलियों से निकल सडक़ों पर आने की मनाही है। जबकि वर्दीधारी पुलिस मुलाजिमों, सेना, पैरा मिल्टरी फोर्स, होम गार्डस, सेहत कर्मी, मीडिया कर्मियों समेत कुछ वर्ग और प्रशास्निक तौर पर जारी किए गए पहचान पत्र हासिल कर्मी पाबंदी से मुक्त रहेंगे।

  

हर एक ने कहा.............. कोरोना को हराना है:

देश के प्रधानमंत्री श्री नरिंदर मोदी जी के जनता- कर्फ्यू आहवान पर 22 मार्च की सायं 130 करोड़ देशवासियों ने अपने अपने घरों की छतों, बालकॉनी व गैलरियों में खड़े होकर शंखनाद किया, तालीयां व थालियां बजाई। मकसद था कि ध्वनी से कोरोना का खात्मा हो जाए। जिसके लिए ना केवल आम लोगों ने ही प्रधानमंत्री के आहवान को समर्थन दिया, बल्कि समस्त राजनीतिक पाटियों के नेताओं व कार्यकर्ता भी मीडिया के सामने आम लोगों की तरह तालीयां व थालियां बजाते नजर आए।

 मम्मी की रसोई बनी होटल व ढाबा:
देश को कोरोना वायरस मुक्त करने के लिए जैसे ही रविवार को देशभर में जनता- कर्फ्यू की सुबह शुरू हुई, उस वक्त से सोमवार का पूरा दिन बीतने तक मम्मी की रसोई होटल व ढाबा बना हुआ है। विभिनन घरों में अलग अलग डिशें बन रही हैं। बच्चों की मम्मियां ही रसोई में छोले कुल्चे, पीजा, बर्गर, मटर-मलाई, मटर पनीर, सरसो का साग, मक्की की रोटी, बनाकर दे रही हैं।

बुजुर्गों के टोटके बन रहें राम-बान:
कोविड-19 कोरोना वायरस से बचाने के लिए बुजुर्ग पुराने जमाने के तजुर्बें परिजनों में वितरित कर रहे हैं। मुश्क कपूर, इलायची, जवित्री के फूल की पोटली जेब में रखने, अदरक वाली बिना दूध और तुलसी की चाय पीने, ज्यादा से ज्यादा प्याज खाने, जिनके पास मास्क और सैनीटाईजर नहीं मिल रहे उन्हें सरसों के तेल में पीपल या नीम के पत्ते तडक़ कर दिए जाने समेत अन्य कई किस्म के टोटकें अपनाने को कह रहें हैं।

कर्फ्यू से किराएदार व्यापारियों में चिंता:
कोरोना महांमारी के चलते राज्य सरकार द्वारा पंजाब में सिविल कर्फ्यू लगा दिया गया है। सभी माल, सभी दुकानें, सभी व्यापारिक संस्थानों को 31 मार्च तक बंद रखने का आदेश दिया गया है। किराए की दुकानों में दुकाने चला रहे व्यापारी क्यास लगा रहे है कि कर्फ्यू लगभग एक महीना बंद होने वाला है। उनका कहना है कि बचाव के लिए अच्छा कदम है, लेकिन यद्यपि दुकानें लंबा समय बंद रहती हैं तो वे दुकान मालिकों को दुकान किराया देने में अस्मर्थ रहेंगे। मीडिया के समक्ष उनके कुछ और भी सवाल हैं। जिनमें व्यापारी बैंक को देने वाली बच्चें के शिक्षा कर्ज, कार लोन, मकान लोन आदि की किश्तें कहां से निकालेगा, अपने कर्मचारियों के वेतन कहां से देगा, दुकानों में पड़ाकच्चा माल लगभग कर्फ्यू खत्म होने तक खराब हो चुका होगा उसकी भरपाई कैसे करेगा, मकान व दुकान के बिजली बिल कहां से भरेगा, आयकर रिटर्न कहां से भरेगा।

कोरोना नई बीमारी नहीं:
वहाट्स-एप ग्रुपों में वायरल हुए एक मैसेज में बताया गया है कि कोरोना नई बीमारी नहीं। जिस वैज्ञानिक ने इस बीमारी के बारे में लिखा है उसने ही इसके इलाज के बारे में भी लिखा है। गौर हो कि डॉ रमेश गुप्ता द्वारा लिखी गई इंटरमीडिएट की जन्तु विज्ञान किताब के पेज नंबर-1072 पर कोरोना बीमारी का जिक्र है। चेन्नई से डीएम. की उपाधी हासिल डा. संजीव जिंदल का कहना है कि इस बीमारी से बचने का आसान ईलाज है, 15-20 दिन अपने घर पर बैठें, किसी भी बाहरी व्यक्ति के नजदीक नहीं जाएं। परिवार के हर सदस्य को सैनेटाईजर का इस्तेमाल करने पर जोर दें।

आयलेट्स में खर्च किया पैसा व्यर्थ:
विदेश भेजने के चक्कर में आयलेट्स कोचिंग सेंटरों पर लाखों रुपया गंवा चुका देश व्यर्थ होता नजर आ रहा है। विदेशों में गए भारतियों को वहां के देशों ने वापिस हिंदुस्तान भेजना शुरु कर दिया है। भले ही अभी तक इस बात की अधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं हो सकी है लेकिन सूत्रों के मुताबिक पिछले कुछ वर्षों के दौरान विदेश गए और वहां से मार्च 2020 के बीच वापिस लौटने वालों की संख्या करीब पांच हजार होना बतायी जा रही है। जिनमें पंजाब के मालवा के लोग सर्वाधिक हैं।

आनंदपुर में गए श्रद्धालुओं की तलाश में जुटा प्रशासन-
9 मार्च से 17 मार्च के बीच विदेशों से संगरूर वापिस लौटे डेढ़ सौ पैसेंजरों की सूचि मिली है। जो कोरोना वायरस ग्रस्त विभिन्न देशों से संबंधित हैं। इसके अलावा सरकारी आदेश पर होला मोहल्ला पर जो सिख श्रद्धालू लोग आनंदपुर साहिब गए थे, उनमें वहां पहुंचा बलदेव सिंह नामक एक व्यक्ति कोरोना वायरस से संक्रमित था। जिसकी मौत हो गई थी। उसके बाद सरकार ने अलर्ट कर दिया था। राज्य के सभी जिला प्रशास्निक अधिकारियों ने आनंदपुर साहिब गए लोगों की तलाश शुरु कर दी थी। उनमें जिला बरनाला के दो गांवों की सूचि मिली है जिसके अनुसार 14 लोग पहुंचे थे। बरनाला सिविल अस्पताल में एक महिला सहित संदिग्ध संक्रमित 6 लोग रूप से दाखिल हुए थे। जिन सभी की टैस्ट रिपोर्ट नैगेटिव आयी थी। यह सभी विभिन्न देशों से लौटे थे। बरनाला के गोबिंद कालोनी में यूके से 3 मार्च को पहुंचे युवक के तंदरुस्त होने की वजह से डाक्टरों ने फिल्हाल दाखिल होने से मनाह कर दिया है।

पंजाब में लगा कर्फ्यू :
रविवार को लगाए गए जनता कर्फ्यू के बाद सोमवार को राज्य सरकार द्वारा कोरोना वायरस की एंटरी बंद करने के लिए बाद दोपहर से मुकम्मल तौर पर कर्फ्यू लगा दिया गया है। त्पुलिस प्रशासन ने बाजारों में मुनादी करवाई। गांवों में सरपंचों ने गुरुद्वारों पर लगे लाऊड स्पीकरों द्वारा मुनादी करवाई। तकालीन जिन लोगों से इक्का-दुक्का खुली दुकानों से जो खरीद हो पाया खरीद घरों को लौट आए। बाजारों में मुकम्मल सन्नाटा छा गया। घर पहुंच टीवी के सामने बैठ गए और हालात को देखने में जुट गए।

पुलिसकर्मी, मीडिया व एनजीओज. ड्यूटी पर तैनात:
सोमवार को बाद दोपहर राज्यभर की सडक़ों पर प्रशास्निक अधिकारी अमन व कानून की व्यवस्था पर नजर रखने एवं स्थिती का जायजा लेने निकल पड़े और मीडीया कर्मी अपने अपने अखबारों व चेन्नलों के लिए रिपोर्टिंग करने के लिए। जबकि हर गली हर लडक़ हर चौराहे पर पुलिसकर्मी ड्यूटी करते मिले। सिविल डिफेंस कर्मी और एनजीओज के साथ प्रशास्निक अधिकारियों ने बैठक की।

मीडियाकर्मियों को दिशा-निर्देश:
सभी समाचार पत्रों व इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के प्रबंधकों ने फील्ड में काम करते पत्रकारों को कोरोना से बचने के लिए रिपोर्टिंग/ड्यूटी के दौरान सावधानियां बरतने के निर्देश दिए हैं।
(1) मूंह पर मास्क लगाकर हर व्यक्ति से 5 फीट की दूरी रखी जाए।
(2) बाइक या कार से उतरने से पहले कलाइयों व हाथ को सेनेटाइज करें ।
(3) ठहरी हुई भीड़ के बीच किसी भी सूरत में लाइव नहीं करें ।
(4) लोगों का रिएक्शन चलते हुए लिया और आगे बढ़ जाएं।
(5) तमाशबीनों, लोकेशन, भीड़ और नजारा सब दूर से कवर करें।
(6) लाइव करने या वीडियो बनाते के लिए अपने वाहन से उतरने वक्त ईयर पीस/बूम आईडी और मोबाइल पर भी सैनिटाइजर लगाएं।
(7) लोगों का इंटरव्यू करने के तुरंत बाद मोबाइल, ईयर पीस और हाथों को फिर से सेनेटाइज करके वाहन में बैठें। गाड़ी में चाबी, स्टेयरिंग, सीट, हैंड ब्रेक इत्यादि पर डिटोल या सेवलोन जैसे लिक्विड से भीगे हुए कपड़े से सफाई करें।
(8) रिपोर्टिंग करने के बाद आफिस से या फील्ड से घर पहुंच किसी सदस्य और खासकर बच्चों को हाथ नहीं लगाएं। पहले हाथ व मूंह धोएं। जूते चप्पल घर के बाहर ही रखें। जो कपड़े आपने पहने हैं उसको अगले दिन इस्तेमाल ना करें।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
छोटे उद्योगों, दुकानों, होटलों और व्यापारियों को बिजली मीटरों का फिक्स्ड चार्ज माफ करे सरकार: अरोड़ा महंगा सैनेटाईजर बेचते शहर का नामी दुकानदार रंगे हाथ काबू लॉकडाऊन बढ़ाने संबंधी गंभीरता से विचार, अंतिम फ़ैसला मंत्रीमंडल की मीटिंग में: कैप्टन मगनरेगा कामगारों को 92 करोड़ रुपए की बकाया राशि की अदायगी कई साल से खड़ी स्वीपिंग मशीन अब दौडेगी सडक़-सडक़ दो व्यक्ति टमाटरों से भरे ट्रक में भुक्की तस्करी आरोप में गिरफ्तार जिला बरनाला में कोरोना वायरस से हुई पहली मौत कोरोना का करंट! औसत बिजली बिल आने से भड़के शहर वासी, जब काम धंधा नहीं कहा से भरेंगे बिल प्राईवेट स्कूलों को कफ्र्यू दौरान स्टाफ को पूरा वेतन जारी करने के निर्देश कोविड-19 को महायुद्ध के तौर पर ले रहे हैं पंजाब के दानवीर लोग