ENGLISH HINDI Wednesday, April 08, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
शरीर कैसे छोडऩा है दादी पहले से ही कर ली थी प्लानिंग, दादी जी नही चाहती थी कि उनके शरीर छोडऩे पर ज्यादा खर्च होकोविड-19 के विरुद्ध जंग में महान योगदान के लिए मैडीकल समुदाय की प्रशंसाबकरियां चराने गये बुजुर्ग पर जंगली सूअर का आक्रमण, बुजुर्ग की हुई मौतट्राईडेंट उद्योग समूह जिला के सेहत विभाग को देगा 10 हजार मेडीकल सूटकोरोना वायरस से मारे गए लोगों की अंतिम रस्में निभाने संबंधी हिदायतें जारी हों : ग्रेवाल जमाखोरी, कालाबाजारी और मूल्य वृद्धि को नियंत्रण के लिए विशेष टीमें गठितमंडी में पहुंचने वाले किसान को मिलेगा मास्क और सैनिटाइजरनिजामूद्दीन मरकज़ में तबलीगी जमात में भाग लेने वालों को दी 24 घंटों की अंतिम समय-सीमा
पंजाब

फाजिल्का में सामने आया कोरोना वायरस का संदिग्ध केस

March 25, 2020 11:04 PM

सेहत विभाग ने युवती के कोरोना टेस्ट के लिए नमूने पटियाला लैब भेजे
फाजिल्का :अमृत सचदेवा

कोरोना वायरस के संकट के बीच जहां सरकार द्वारा जिस मंशा से कफ्र्यू लगाकर लोगों को एहतियात बरतते हुए घरों में बंद रहने के लिए कहा गया है, वह सार्थक साबित हो रही है। जाने, अनजाने विदेश या विदेश से आए लोगों के संपर्क में आकर कोरोना का शिकार हुए या फिर धार्मिक समारोहों में कोरोना से प्रभावित लोगों से मिलकर इस नामुराद बीमारी का शिकार हुए लोग धीरे धीरे सामने आने से कफ्र्यू का निर्णय सही साबित होने लगा है। अब तक इस वायरस के संक्रमण से बचे रहे फाजिल्का वासियों के लिए बुधवार का दिन थोड़ा विचलित करने वाला निकला। क्योंकि शहर के आर्य नगर क्षेत्र से कोरोना वायरस से प्रभावित होने का एक संदिग्ध मामला सामने आया है।

 
  
  
सरकारी अस्पताल लाई गई आर्य नगर की एक युवती जोकि दुबई से लौटी बताई जा रही है, को खांसी, जुकाम आदि होने पर एहतियात के तौर पर उसका कोराना वायरस टेस्ट करवाया जा रहा है। हालांकि इस सारे घटनाक्रम में राहत की बात ये है रही कि विदेश से वापसी मौके एयरपोर्ट पर हुए टेस्ट में वह कोरोना नेगटिव पाई गई थी। उसके बावजूद उसके द्वारा एकांतवास में रहने की बात कही जा रही है और अब भी उसमें खांसी जुकाम की अवस्था बनी है, उसे कोरोना की बजाए साधारण वायरल होने की ही संभावना जताई जा रही है। फिलहाल अस्पताल प्रशासन की ओर से उसकी थूक और ब्लड सैंपल लेकर कोरोना वायरस टेस्ट के लिए उसे पटियाला स्थित लैब में भेजा गया है, साथ ही एक दो दिन जब तक रिपोर्ट नहीं आ जाती, तब तक उसे आइसोलेटेड वार्ड में रखने का निर्णय लिया गया है।

इस संदिग्ध मरीज को लेकर बुधवार को फाजिल्का पहुंचे बाबा फरीद मेडिकल साइंस यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर डा. राज बहादुर ने भी सेहत विभाग को जरूरी दिशानिर्देश दिए। जहां शहरवासी उसके कोरोना से इंफेक्टेड न होने की प्रार्थना कर रहे हैं.
एक सप्ताह के भीतर फरीदकोट में दी जाएगी कोरोना टेस्ट की सुविधा, फरीदकोट मेडिकल कालेज के अंतर्गत आने वाले 5 जिलों में एक भी पॉजीटिव केस नहीं: वाइस चांसलर
देश भर में मंडरा रहे कोरोना वायरस के खतरे से निपटने के लिए जहां कफ्र्यू लगाकर हर किसी को घरों में रहने के लिए पाबंद कर दिया गया है वहीं सेहत विभाग का अब पूरा ध्यान कोरोना इंफेक्टेड मरीजों को सही करने और उनके संपर्क में आए लोगों की तलाश कर यह सुनिश्चित करने पर है कि कोरोना को प्रथम स्टेज पर ही रोक लिया जाए। इसके तहत सबसे बड़ा प्रयास फाजिल्का, फिरोजपुर और श्री मुक्तसर साहिब जैसे क्षेत्रों के लिए ये किया जा रहा है कि यहां नजदीक ही कोरोना वायरस टेस्ट की लैब स्थापित की जाए। यह शब्द बाबा फरीद मेडिकल साइंस यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर डा. राज बहादुर ने फाजिल्का आगमन के दौरान सरहद केसरी के साथ बातचीत में कहे।
वाइस चांसलर डा. राज बहादुर ने बताया कि बाबा फरीद मेडिकल यूनिवर्सिटी को अपने आसपास के 5 जिलों जिनमें फरीदकोट के साथ साथ बठिंडा, श्री मुक्तसर साहिब, फाजिल्का और फिरोजपुर शामिल हैं, में कोरोना नियंत्रण की जिम्मेवारी सौंपी गई है। इन जिलों में जहां कोरोना के मरीजों को न बढऩे देना सेहत विभाग की प्राथमिकता है, वहीं जल्द से जल्द डायग्नोज करने के लिए कोरोना टेस्ट के लिए लैब फरीदकोट में स्थापित करने पर युद्ध स्तर पर काम हो रहा है। एक सप्ताह के भीतर फरीदकोट में कोरोना टेस्ट होने लगेंगे, इसकी प्रबल संभावना है जबकि अब तक ये सारा क्षेत्र पटियाला लैब पर निर्भर है। जल्द नतीजे आने से स्थिति भी जल्द स्पष्ट होगी। वाइस चांसलर डा. राजबहादुर ने इस बात पर भी संतुष्टि जताई कि यूनिवर्सिटी के अधीन आने वाले किसी भी जिले में वर्तमान में कोई पॉजीटिव मरीज नहीं है और प्रार्थना की कि जो भी टेस्ट हो रहे हैं, वो भी नेगेटिव ही आएं। फाजिल्का जिले में किए जा रहे कोरोना नियंत्रण के प्रयासों बारे डा. राजबहादुर ने कहा कि जलालाबाद में 100 बैड कोरोना इलाज के लिए प्रबंध किए जा रहे हैं। पहले चरण में 20 आइसोलेटेड बैड तैयार हो चुके हैं। जरूरत अनुसार उसकी क्षमता 100 बैड की जा सकती है। एक सवाल के जवाब में उन्होंने बताया कि ये केवल आइसोलेशन वार्ड का काम नहीं करेंगे बल्कि यहां इस वायरस से पीडि़तों के इलाज की भी पूरी व्यवस्था अलग अलग स्टेज पर की जाएगी।  

कोरोना टेस्ट के लिए लैब फरीदकोट में स्थापित करने पर युद्ध स्तर पर काम हो रहा है। एक सप्ताह के भीतर फरीदकोट में कोरोना टेस्ट होने लगेंगे, इसकी प्रबल संभावना है जबकि अब तक ये सारा क्षेत्र पटियाला लैब पर निर्भर है। जल्द नतीजे आने से स्थिति भी जल्द स्पष्ट होगी। वाइस चांसलर डा. राजबहादुर ने इस बात पर भी संतुष्टि जताई कि यूनिवर्सिटी के अधीन आने वाले किसी भी जिले में वर्तमान में कोई पॉजीटिव मरीज नहीं है और प्रार्थना की कि जो भी टेस्ट हो रहे हैं, वो भी नेगेटिव ही आएं। फाजिल्का जिले में किए जा रहे कोरोना नियंत्रण के प्रयासों बारे डा. राजबहादुर ने कहा कि जलालाबाद में 100 बैड कोरोना इलाज के लिए प्रबंध किए जा रहे हैं। पहले चरण में 20 आइसोलेटेड बैड तैयार हो चुके हैं। जरूरत अनुसार उसकी क्षमता 100 बैड की जा सकती है।


यूनिवर्सिटी क्षेत्र में 46 वेंटीलेटर उपलब्ध, 50 नए वेंटीलेटर का आर्डर भेजा
कोरोना के मरीज बढऩे की आशंका की स्थिति में वेंटीलेटर के प्रबंधों बारे पूछने पर वाइस चांसलर डा. राज बहादुर ने कहा कि हर जगह वेंटीलेटर की जरूरत नहीं है। यूनिवर्सिटी के पास वर्तमान में 40 वेंटीलेटर और 6 वेंटीलेटर बठिंडा में हैं। स्थिति को देखते हुए 50 नए वेंटीलेटर का आर्डर प्लेस किया जा चुका है जिसकी पूर्ति होने पर यूनिवर्सिटी को 10 वेंटीलेटर और मिल जाएंगे। उनमें से जलालाबाद में शुरूआती तौर पर 2 वेंटीलेटर मुहैया करवाए जाएंगे।   
विधायक रमिंद्र आवला द्वारा दो साल का वेतन मुख्यमंत्री फंड में देने का ऐलान
जलालाबाद से विधायक रमिंद्र आवला ने कोरोना वायरस जैसी बड़ी आपदा के दौरान सीनियर राजनेताओं से आगे बढ़ते हुए अपने दो वर्षों का वेतन मुख्यमंत्री राहत रिलीफ फंड में देने का ऐलान किया है। इसके साथ ही विधायक आवला ने कहा है कि सरकारी अस्पताल जलालाबाद व फाजिल्का में 4 वैंटीलैंटर भी शीघ्र लाये जायेंगे।
उल्लेखनीय है कि आज पूरा देश कोरोना वायरस महामारी से भारी परेशानी है जिसके चलते पंजाब के मंत्रियों द्वारा अपनो एक महीने का वेतन पंजाब मुख्यमंत्री राहत फंड में देने का ऐलान किया है। लेकिन विधायक आवला ने सबसे बड़ी पहल करते हुए अपने दो वर्षों का वेतन कोरोना वायरस से पीडि़त व जरूरतमंदों की मदद के लिये मुख्यमंत्री राहत फंड में देने की घोषणा कर सबका दिल जीत लिया है।
विधायक आवला ने लोगों से अपील करते हुये कहा कि प्रदेश मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह द्वारा कफ्र्यू लगाने के उठाये कदम प्रत्येक पंजाब वासी के फायदे के लिये है। उन्होंने लोगों से अपील करते हुये कहा कि केंद्र व पंजाब सरकार द्वारा जारी दिशा निर्देशों का लोग पालन करें और प्रशासन का सहयोग करें। उन्होंने कहा कि कुछ दिन हम घरों में कैद रहकर अपना, अपने बच्चों व समाज का भला कर सकते हैं।
 मेडिकल स्टोर्स पर टूटी लोगों की भीड़, प्रशासन ने दवाओं की सप्लाई बारे बनाए नए नियम 
कफ्र्यू के दौरान मिली दवा खरीद की ढील के पहले दिन ही मेडिकल स्टोर्स पर टूटी दवा खरीदने वालों की भीड़ ने कफ्र्यू में अपनाए जाने वाले नियमों की धज्जियां उड़ा दीं। इसके चलते प्रशासन ने केमिस्ट एसोसिएशन के पदाधिकारियों के साथ विशेष बैठक कर नए व सख्त नियम बनाने पड़े हैं।
इस बारे में  केमिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष बाल कृष्ण कटारिया ने बताया कि फाजिल्का के एसडीएम सुभाष चंद्र खटक और डीएसपी जगदीश कुमार के साथ हुई बैठक में प्रशासन ने आदेश दिए हैं कि दवा खरीदने के लिए कोई भी ग्राहक मेडिकल स्टोर पर नहीं आएगा। बल्कि फोन संदेश के जरिये मिले आर्डर को भुगताने के लिए स्टोर का कर्मचारी ही मेडिकल स्टोर का अथारिटी लैटर लेकर फील्ड में जाएगा। बिना अथारिटी लैटर उसे सप्लाई नहीं करने दी जाएगी। वहीं स्टोर संचालकों को दवा सप्लाई के लिए निर्धारित किए गए तारीखों 27, 29 व 31 तारीख को अपनी दुकानों के शटर बंद करके काम करना होगा। दुकान पर 3 से ज्यादा का स्टाफ नहीं रहेगा। जिस दुकान पर ग्राहक नजर आया, उसके खिलाफ तत्काल एफआईआर दर्ज की जाएगी। अध्यक्ष श्री कटारिया ने कहा कि एसोसिएशन प्रशासन की ओर से दिए आदेशों पर अमल करने को तैयार है और ग्राहकों से भी आग्रह करते हैं कि वह भी सहयोग प्रदान करते हुए केवल फोन पर ही अपनी दवा के आर्डर दें ताकि कफ्र्यू के नियमों का पालन किया जा सके और दवाओं की कमी भी न आए।  
कोरोना संकट में जरूरतमंदों की सहायतार्थ आगे आए समाज सेवी संगठन
डीसी अरविंद पाल सिंह संधू को कोविड-19 के तहत जरूरतमंद लोगों की सहायता के मद्देनजर जिला रेडक्रास सोसायटी को जिले के विभिन्न दानी सज्जनों ने 90 हजार रुपये की सहायता राशि के चैक सौंपे हैं। डीसी संधू ने कोरोना के इमरजेंसी हालातों को देखते हुए दी गई सहायता के लिए सामाजिक संस्थाओं के नुमाइंदों का आभार प्रकट किया।
डीसी संधू ने बताया कि कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के लिए जिला प्रशासन द्वारा जहां प्रयास किए जा रहे हैं, वहीं जिले की विभिन्न एसोसिएशनों व संस्थाओं द्वारा भी सहायता राशि दी जा रही है। डीसी ने बताया कि रेडक्रास सोसायट को लाला मुंशीराम चेरीटेबल ट्रस्ट की ओर से 31 हजार रुपये, अरोड़वंश भवन सेवादल सोसायटी द्वारा 31 हजार रुपये की सहायता राशि के चैक के साथ साथ समाजसेवी सुरेंद्र ठकराल की ओर से ज्योति बीएड कालेज की तरफ से 28 हजार रुपये नगद भेंट किए गए हैं ताकि जरूरतमंद लोगों की संकट की स्थिति में सहायता की जा सके।

ज्योति बीएड कालेज की ओर से प्रशासन की ओर से जरूरतमंद परिवारों को दिए जाने वाले राशन की सहायता में सौ परिवारों के लिए उक्त राशि का योगदान दिया गया है।इस मौके पर एडीसी विकास नवल राम, एडीसी जनरल डा. आरपी सिंह, एसडीएम सुभाष चंद्र खटक, अबोहर के एसडीएम विनोद बांसल, जिला रेडक्रास सोसायटी के सचिव सुभाष अरोड़ा के अलावा लाला मुंशी राम चेरीटेबल ट्रस्ट के गिरधारी लाल अग्रवाल, विक्रम आहूजा, एडवोकेट सुभाष कटारिया, बीरा कुक्कड़, विनोद अग्रवाल, इंजी. सर्बजीत सिंह गिल, समाजसेवी ओपी सचदेवा व अन्य पदाधिकारी व सदस्य मौजूद रहे। 

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
कोविड-19 के विरुद्ध जंग में महान योगदान के लिए मैडीकल समुदाय की प्रशंसा ट्राईडेंट उद्योग समूह जिला के सेहत विभाग को देगा 10 हजार मेडीकल सूट कोरोना वायरस से मारे गए लोगों की अंतिम रस्में निभाने संबंधी हिदायतें जारी हों : ग्रेवाल निजामूद्दीन मरकज़ में तबलीगी जमात में भाग लेने वालों को दी 24 घंटों की अंतिम समय-सीमा कोरोना से बिना हथियार सीधी लड़ाई लड़ रहे योद्धा सेहत कर्मियों को आज मिलीं बचाव किट्टें ड्रोन से कफ्र्यू पर पुलिस की पैनी नजर सर्वदलीय बैठक बुलाने के लिए न तो समय और न ही जरूरत: कैप्टन का सुखबीर को जवाब कोविड-19 संकट के मद्देनजऱ निर्धारित बिजली दरों में कटौती का ऐलान सेवा कर मिसाल कायम करने वाले कर्मियों और अधिकारियों का किया जाएगा सम्मान कफ्र्यू के दौरान फीस मांगने वाले 22 स्कूलों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्यवाही की शुरू: शिक्षा मंत्री