ENGLISH HINDI Wednesday, April 08, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
शरीर कैसे छोडऩा है दादी पहले से ही कर ली थी प्लानिंग, दादी जी नही चाहती थी कि उनके शरीर छोडऩे पर ज्यादा खर्च होकोविड-19 के विरुद्ध जंग में महान योगदान के लिए मैडीकल समुदाय की प्रशंसाबकरियां चराने गये बुजुर्ग पर जंगली सूअर का आक्रमण, बुजुर्ग की हुई मौतट्राईडेंट उद्योग समूह जिला के सेहत विभाग को देगा 10 हजार मेडीकल सूटकोरोना वायरस से मारे गए लोगों की अंतिम रस्में निभाने संबंधी हिदायतें जारी हों : ग्रेवाल जमाखोरी, कालाबाजारी और मूल्य वृद्धि को नियंत्रण के लिए विशेष टीमें गठितमंडी में पहुंचने वाले किसान को मिलेगा मास्क और सैनिटाइजरनिजामूद्दीन मरकज़ में तबलीगी जमात में भाग लेने वालों को दी 24 घंटों की अंतिम समय-सीमा
पंजाब

नवरात्रे शुरु, मंदिरों की बजाए घरों से हुए पूजा पाठ

March 26, 2020 08:08 AM

बरनाला, अखिलेश बंसल/करन अवतार कपिल:
भले ही 25 मार्च का दिन हिन्दु नववर्ष एवं नवरात्रों का शुरुआती दिन है लेकिन पचास साल बाद ऐसा दिन आया है। जिस वक्त ना तो कोई नववर्ष की खुशी मना सका है और ना ही नवरातों में हिमाचल के मंदिरों में जाना तो दूर की बात शहर के मंदिर जाकर भी पूजा अर्चना नहीं कर सका है। यहां तक कि देशभर में लोगों को किसी शहर से मंदिरों में से घंटियां बजने की गूंज सुनाई नहीं दी। लोगों ने अपने परिवार के साथ ही घर में बने पूजा स्थलों पर बैठ मां शैलपुत्री का ध्यान किया और दुर्गा स्तुती का पाठ शुरु किया।
कंजक पूजन को लेकर चिंतित:
आदि शक्ति दुर्गा माता मंदिर, प्राचीन दुर्गा माता मंदिर, माता चिंतपूर्णी माता मंदिर, मंदिर माता छिन्नमस्तिका, श्री गीता भवन समेत समस्त मंदिर प्रबंधकीय कमेटियों के पदाधिकारी इस बात को लेकर चिंतित हैं कि लोग नवरातों की पूजा तो घर में बैठकर कर लेंगे लेकिन अष्टमी के मौके एवं नौंवी रात्री का कार्यक्रम कैसे करेंगे। इसके अलावा नवरातों में जो कंजक पूजन का विशेष महत्व होता है उसे कैसे करेंगे। गौरतलब हो कि कंजक पूजन को लेकर पूरे विश्व में उत्साह होता है। लोग अपने अपने घर देसी घी से पुरी-हलवा की कड़ाही बनाते हैं, कंजकों को खुश करने के लिए नाना प्रकार के उपहारों की खरीददारी करते हैं। नन्ही नन्ही कंजकें लोगों के घरों में जाती हैं, घर वाले उनकी श्रद्धा पूर्वक पूजा करते हैं, उन्हें भोजन करवाते हैं उनका आर्शीवाद प्राप्त करते हैं। यह खुशी इस वर्ष लोगों को नसीब होगी या नहीं इस प्रश्न को लेकर आस्था रखने वाले लोगों ने ईश्वर पर छोड़ दी है, साथ ही अपने अपने जिला प्रशास्निक अधिकारियों से कुछ वक्त के लिए छूट देने की भी उम्मीद लगा रहे हैं।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
कोविड-19 के विरुद्ध जंग में महान योगदान के लिए मैडीकल समुदाय की प्रशंसा ट्राईडेंट उद्योग समूह जिला के सेहत विभाग को देगा 10 हजार मेडीकल सूट कोरोना वायरस से मारे गए लोगों की अंतिम रस्में निभाने संबंधी हिदायतें जारी हों : ग्रेवाल निजामूद्दीन मरकज़ में तबलीगी जमात में भाग लेने वालों को दी 24 घंटों की अंतिम समय-सीमा कोरोना से बिना हथियार सीधी लड़ाई लड़ रहे योद्धा सेहत कर्मियों को आज मिलीं बचाव किट्टें ड्रोन से कफ्र्यू पर पुलिस की पैनी नजर सर्वदलीय बैठक बुलाने के लिए न तो समय और न ही जरूरत: कैप्टन का सुखबीर को जवाब कोविड-19 संकट के मद्देनजऱ निर्धारित बिजली दरों में कटौती का ऐलान सेवा कर मिसाल कायम करने वाले कर्मियों और अधिकारियों का किया जाएगा सम्मान कफ्र्यू के दौरान फीस मांगने वाले 22 स्कूलों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्यवाही की शुरू: शिक्षा मंत्री