ENGLISH HINDI Monday, October 26, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
पंजाब

यूनाइटेड सिख्स ने कोविड-19 के बारे में जागरूकता मुहिम व फूड बैंक शुरू किया

March 26, 2020 08:36 AM

मोहाली, फेस2न्यूज:
यूनाइटेड सिख्स ने कोविड-19 संकट के मद्देनजर जागरूकता अभियान चलाया और एक फूड बैंक शुरू किया। संगठन चंडीगढ़ एवं मोहाली में एटीएम और बैंकों को कीटाणमुक्त कर रहा है, साथ ही इसने पंजाब, फरीदाबाद, दिल्ली और अम्बाला में मास्क और सैनिटाइजर वितरित किये हैं। दिल्ली, पंजाब व फरीदाबाद में निचले आय वर्ग वाले क्षेत्रों में वायरस के बारे में जागरूकता फैलाने का अभियान चलाया गया। इसके अलावा, पूरी दुनिया में अनेक स्थानों पर भूखों को भोजन दिया जा रहा है।
फूड बैंक दुनिया भर में स्थापित किये गये हैं, जिनके तहत चलने फिरने में असमर्थ लोगों को उनके ठिकाने पर ही भोजन पहुंचाया जाता है। संगठन की ओर से ओटीसी दवाओं, बुनियादी खाद्य आपूर्ति और लंगर का वितरण भी सुनिश्चित किया जाता है। यह सुविधा अंतर्राष्ट्रीय छात्रों और 65 वर्ष से अधिक उम्र के उन बुजुर्गों को मुहैया करायी जाती है, जो अकेले रहते हैं अथवा कमजोर हैं। बच्चों, अकेली माताओं, विकलांगों और निम्न आय वर्ग के लोगों की भी सहायता की जाती है।
यूएस में यूनाइटेड सिख्स के डायरेक्टर, हरदयाल सिंह ने कहा, ‘संयुक्त राज्य अमेरिका में न्यूयार्क कोरोना से सबसे अधिक प्रभावित है, जहां हमारी संस्था की ओर से कोरोना प्रभावित लोगों को मुफ्त भोजन दिया जाता है। हमारे वर्कर दस्ताने, मास्क और सामाजिक दूरी के नियम का पालन करते हैं और भोजन तैयार करने की पूरी प्रक्रिया के दौरान खाद्य स्वच्छता का खास ध्यान रखा जाता है।’
यूनाइटेड सिख्स संयुक्त राष्ट्र से संबद्ध, एक अंतर्राष्ट्रीय गैर-लाभकारी, गैर-सरकारी, मानवीय राहत, मानव विकास एवं एडवोकेसी संस्था है, जो संयुक्त राज्य अमेरिका, कनाडा, ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया और भारत सहित 11 देशों में पंजीकृत है।
यूनाइटेड सिख्स के डायरेक्टर परविंदर सिंह ने कहा, ‘भारत में यह संगठन सोसायटी पंजीकरण अधिनियम के तहत पंजाब में पंजीकृत है। हम वंचित व्यक्तियों और अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों को प्राकृतिक व मानव निर्मित आपदाओं, भूख, अशिक्षा, बीमारियों से प्रभावित लोगों के जीवन को बदलने, तकलीफ कम करने, शिक्षित करने और जीवन रक्षा के लिए विभिन्न प्रोजेक्ट चलाते हैं। हम लोगों की जाति, रंग, नस्ल, धर्म या पंथ की परवाह किए बिना समाजिक कार्यों को अंजाम देते हैं।’
तीन मुख्य निदेशालयों के तहत संचालित इसकी परियोजनाओं में सामुदायिक सशक्तिकरण और शिक्षा प्रभाग (सीड), जिसमें महिलाओं और युवाओं के सशक्तीकरण के लिए शिक्षा को सपोर्ट करना और मानवीय सहायता के लिए विभिन्न आध्यात्मिक शिविर आयोजित करना शामिल हैं, मानवीय सहायता और अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकारों की वकालत करना शामिल है

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
डेराबस्सी में चोरों का आतंक: हरिपुर से चुरा ले गए चार भैंसें दशहरा पर्व की धूम: सोशल डिस्टेंसिंग की डेराबस्सी में उड़ी धज्जियां दस साल तीन खरीदारों को प्लाट नहीं देने पर प्रीत लैंड डेवलपर एंड प्रोमोटर मोहाली को भुगतना होगा खामियाजा इलेक्ट्रॉनिक्स गोदाम में चोरी की नाकाम कोशिश दुकानदारों में दहशत का माहौल कृषि कानूनों के मुद्दे पर बार-बार यू-टर्न लेने से सुखबीर का नैतिकता रहित चेहरा बेनकाब मिलावटी खाद्य पदार्थों की जांच के लिए विशेष मुहिम का आगाज़ पंजाब शहरी आवास योजना के लिए वैब पोर्टल की शुरूआत प्राचार्यों, मुख्य अध्यापकों और ब्लॉक प्राथमिक शिक्षा अधिकारियों के 585 पद भरने की प्रक्रिया शुरू खाद्य सुरक्षा से परे सोचना चाहिए और किसानों को आय सुरक्षा देनी चाहिए: बदनौर पंजाब: ‘‘ट्रांस-फैट फ्री दीवाली’’ मुहिम की शुरूआत