ENGLISH HINDI Sunday, January 24, 2021
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
संत कबीर फाउंडेशन के स्पेशल बच्चों ने गणतंत्र दिवस के उपलक्ष पर आयोजित किए रंगारंग कार्यक्रमखेती कानूनों के विरुद्ध संघर्ष में शहीद हुए 162 किसानों को केंद्र 25-25 लाख का मुआवज़ा दे: पंजाबी कल्चरल कौंसलनाबालिग से छेड़छाड़ का मामला:बाबा देवनाथ ने बीजेपी नेता अनिल दूबे के खिलाफ शिकायत देकर फूंका पुतलानैटबॉल के पहले पूल मुक़ाबलों में जिला मानसा के पुरुष/महिला दोनों वर्गों की बल्ले-बल्लेनैशनल शेड्यूल्ड कास्टस एलायंस और दलित संघर्ष मोर्चा ने कैप्टन सरकार के अड़ियल व्यवहार के खिलाफ दलित महापंचायत बुलाने का निर्णयप्रतिबंधित चायना डोर बेचने जा रहा व्यक्ति काबू, डोर के 110 गट्टू बरामदपहली गेंद पर छक्का: जिला ओलंपिक एसोसिएशन के पुनः होंगे चुनाव: उपायुक्तहास्य व्यंग्य: मेरा मोटर साईकल और गणतंत्र दिवस
पंजाब

कोविड-19 के विरुद्ध जंग तेज़, जीवन बचाओ उपकरणों के भंडार जुटाए

March 29, 2020 10:06 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार कोविड-19 से संबंधित किसी भी दुखद स्थिति से निपटने के लिए जान बचाने वाले उपकरणों जैसे मास्क, दस्तानो, वैंटीलेटरों, पीपीई किटों आदि का भंडारण जुटाने के लिए जंगी स्तरीय पर जुटी हुई है। इन वस्तुओं का बड़ी मात्रा में भंडार पहले ही सरकार के पास मौजूद है और अगले कुछ दिनों में और बहुत से ऐसे उपकरण उपलब्ध होने की उम्मीद है।  

देश में बने पीपीई और एन-95 मास्कों के सैंपल तत्काल टेस्टिंग के लिए भेजे-विनी महाजन


अतिरिक्त मुख्य सचिव विनी महाजन के मुताबिक 31 मार्च तक राज्य में 25000 एन-95 मास्क मौजूद होंगे, जबकि 52500 मास्क और एक लाख नाईटरियल दस्ताने पहले ही उपलब्ध हैं। उन्होंने बताया कि 26,32,000 ट्रिपल लेयर मास्क तैयार करने का काम आखिरी दौर में है, जबकि पहली अप्रैल तक 12,000 और ऐसे मास्क खरीद कर भंडार में शामिल कर लिए जाएंगे।
श्रीमती महाजन ने कहा कि जहाँ तक इस स्थिति में बेहद ज़रूरी ‘पर्सनल प्रोटैकटिव इकुइवपमैंट’(पीपीई) किटों की बात है, सरकार ने कुल 1 लाख किटें तैयार करवाने के आदेश दिए थे, जिनमें से 7640 पहले ही प्राप्त हो चुकी हैं। उन्होंने बताया कि बाकी रहती किटें भी जल्द से जल्द लेने के लिए यत्न किये जा रहे हैं। सरकार के पास और महत्वपूर्ण वस्तुओं का भी पूरा भंडार है, जिनमें 10425 हैड सैनेटाईजऱ और 17000 वीटीएम किटें उपलब्ध हैं और 2000 सैनेटाईजऱ और 10000 वीटीएम किटेें आ रही हैं, जो पहली अप्रैल तक पहुँचने की संभावना है। उन्होंने आगे बताया कि सरकार अति ज़रुरी वेंटिलेटर खऱीद रही है जिससे गंभीर मरीज़ों को राहत दी जा सके।
सरकार द्वारा कोरोना वायरस संकट का मुकाबला करने के लिए खऱीदी जा रही और सामग्री में आटोमेटिड मिड -हाई न्यूक्लिक एसिड पयोरीफिकेशन मशीनें, बड़ी मात्रा में ऐजीथरोमाईसिन और हाईड्रोक्सीकलोरोक्वीन गोलियों के साथ-साथ लैरीनगोसकोपस -पैडआटरिक और अडलट, ऐंबू बैगस- पैडआटरिक और अडलट, पोरटेबल एक्सरे मशीनें और एबीजी एल्ट्रोलाईट एनालाईजरज़ शामिल हैं। अतिरिक्त मुख्य सचिव के अनुसार इसके अलावा युरिन ऐनेलाईजरज़ और पूरी तरह से स्वचालित बायोकैमिस्टरी अनालाइजऱ पहले ही राज्य के पास उपलब्ध हैं।
पहले से प्रयोग में लाए जा सकने वाले उपकरणों संबंधी बात करते हुये विनी महाजन ने बताया कि अमृतसर के सरकारी मैडीकल कालेज के पास 1,06,000 टी.एल.एमज़, 45,000 एजीथरोमाईसिन गोलियों के अलावा 30,000 दस्ताने, 4510 एन-95 मास्क और 1200 पीपीई और वीटीएम किटें उपलब्ध हैं।
इसी तरह सरकारी मैडीकल कालेज, पटियाला के पास 1,21,500 टी.एल.एमज़, 30,000 दस्ताने, 3100 एन-95 मास्क और 800 सैनेटाईजऱ मौजूद हैं। सरकारी मैडीकल कालेज फरीदकोट को 1,00,000 टीएलएमज़, 30,000 दस्तानों के अलावा 1800 एन-95 मास्क, 1200 वीटीएम और 800 सैनेटाईजऱ मिले हैं।
इसके अलावा एआरवी की 8000 गोलियाँ (रीटनोविर और लिपोनोविर) भी इन तीनों ही मैडीकल इकाईयों को मुहैया करवाई गई हैं। श्रीमती महाजन के अनुसार 36,000 टीएलएम और 5000 एजीथरोमाईसिन गोलियोंं के अलावा एमएस ज्ञान सागर अस्पताल को 280 एन-95 मास्क और 210 वीटीएम किटेंं प्रदान की गई हैं।
उन्होंने कहा कि बाहरी विक्रेताओंं पर निर्भरता घटाने के लिए सरकार ने स्थानीय निर्माताओं की हिमायत की और उनके द्वारा तैयार किये नमूने इस समय जांच के पड़ाव में हैं। महाजन ने कहा कि केंद्र सरकार ने जेसीटी मिल से 10 लाख देसी हैज़मत आर्मर सूट मंगवाए हैं। लॉकडाउन करके पंजाब पुलिस के द्वारा सैंपल लेकर दिल्ली भेजे गए जहाँ से उनको विशेष उड़ान के द्वारा कोयम्बटूर की केंद्रीय जांच प्रयोगशाला ले जाया गया।
श्रीमती महाजन ने बताया कि पीपीई और एन-95 मास्क के नमूने तैयार किये गए हैं और पंजाब की छह अन्य इकाईयां और बनाई गई हैं और टैस्ट के लिए क्रमवार कोयम्बटूर और ग्वालियर के लिए भेजे गए हैं। जबकि दो स्थानीय उद्यमियों की तरफ से वेंटिलेटर बनाने का प्रस्ताव सामने आया है। उन्होंने कहा कि राज्य लगातार स्वास्थ्य मंत्रालय और ओर केंद्रीय मंत्रालयों के साथ विचार -विमर्श कर रहा है जिससे मेड इन पंजाब वेंटिलेटर बनाने के लिए उद्यमियों और फास्ट ट्रैक को मंज़ूरी मिल सके। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार इस सम्बन्धी तुरंत आदेशों को यकीनी बनाऐगी।
श्रीमती महाजन ने कहा कि उद्योग विभाग पैकिंग सामग्री और ढुलाई के साथ-साथ उद्योगों की सैनेटाईजऱ, मास्क, खाद्य पदार्थों, फार्मास्यूटीकल आदि ज़रूरी चीजों के निर्माण में पूरी तरह सहायता करता है।
ए.सी.एस. ने कहा कि ब्रॉडबैंड, आईएसपी आदि समेत संचार प्रणालियों को भी अपेक्षित सहायता दी जा रही है। श्रीमती महाजन ने राज्य के लोगों को किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पूरी तैयारी का भरोसा देते हुये कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह की तरफ से जारी किये निर्देशों के अनुसार राज्य संक्रमण की रोकथाम और इलाज पर ज़ोर दे रहा है। उन्होंने लोगों को संयम बरतने और सामाजिक दूरियाँ वाले प्रोटोकालों को बनाये रखने की अपील की।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
नैशनल शेड्यूल्ड कास्टस एलायंस और दलित संघर्ष मोर्चा ने कैप्टन सरकार के अड़ियल व्यवहार के खिलाफ दलित महापंचायत बुलाने का निर्णय प्रतिबंधित चायना डोर बेचने जा रहा व्यक्ति काबू, डोर के 110 गट्टू बरामद सवाल: ‘केंद्र सरकार खेती कानून रद्द क्यों नहीं करती?’ केंद्र की जि़द्द अमानवीय: कैप्टन डेराबस्सी में वर्ल्ड फ्लू ने दी दस्तक गणतंत्रता दिवस पर सुरक्षा को लेकर महिला पुलिस फ्रंटलाईन पर ‘आप’ ने 26 जनवरी के ‘किसान ट्रैक्टर परेड’ के समर्थन का किया ऐलान आप प्रतिनिधिमंडल निकाय चुनाव को लेकर राज्य चुनाव आयुक्त से मिला 200 जरूरतमंद परिवारों को बांटे जूते और दवाईया तीन अलग-अलग गिरोहों के पांच सदस्य हथियार,जाली भारतीय करंसी और चोरी के वाहनों सहित काबू आंदोलनकारी किसानों को धमकाना मोदी सरकार का बेहद शर्मनाक कार्य: मान