ENGLISH HINDI Sunday, January 24, 2021
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
संत कबीर फाउंडेशन के स्पेशल बच्चों ने गणतंत्र दिवस के उपलक्ष पर आयोजित किए रंगारंग कार्यक्रमखेती कानूनों के विरुद्ध संघर्ष में शहीद हुए 162 किसानों को केंद्र 25-25 लाख का मुआवज़ा दे: पंजाबी कल्चरल कौंसलनाबालिग से छेड़छाड़ का मामला:बाबा देवनाथ ने बीजेपी नेता अनिल दूबे के खिलाफ शिकायत देकर फूंका पुतलानैटबॉल के पहले पूल मुक़ाबलों में जिला मानसा के पुरुष/महिला दोनों वर्गों की बल्ले-बल्लेनैशनल शेड्यूल्ड कास्टस एलायंस और दलित संघर्ष मोर्चा ने कैप्टन सरकार के अड़ियल व्यवहार के खिलाफ दलित महापंचायत बुलाने का निर्णयप्रतिबंधित चायना डोर बेचने जा रहा व्यक्ति काबू, डोर के 110 गट्टू बरामदपहली गेंद पर छक्का: जिला ओलंपिक एसोसिएशन के पुनः होंगे चुनाव: उपायुक्तहास्य व्यंग्य: मेरा मोटर साईकल और गणतंत्र दिवस
पंजाब

मेडीकल व अन्य सेवाओं हेतु पायलट प्रोजैक्ट— पुलिस एमरजैंसी सर्विसिज़ एप (पीईएसए) की शुरूआत

March 29, 2020 10:32 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
कोवीड-19 लॉकडाउन के दौरान लोगों को उनके दरवाज़े तक एमरजैंसी डॉक्टरी और नियमित सेवाएं उपलब्ध करवाने के लिए पंजाब पुलिस ने पायलट प्रोजैक्ट के तौर पर पुलिस एमरजैंसी सर्विसिज एप (पीईएसए) की शुरूआत की है जिसका विस्तार जल्द ही राज्यभर में किया जाएगा।   

घर-घर सेवाएं पहुंचाने के लिए प्राईवेट क्लीनिक्स, ऐंबूलैंसें, एनजीओज़, बिग बाज़ार और अन्यों का लिया जा रहा है सहयोग


संगरूर जि़ले में एप लाँच होने के पहले दिन 1000 से अधिक व्यक्तियों को एप का लाभ मिला। डी.जी.पी. दिनकर गुप्ता के अनुसार यह एप गुगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध है और रातों-रात 700 से अधिक प्रयोगकर्ताओं द्वारा यह एप डाउनलोड की जा चुकी है। इस एप पर सेवाओं की सुपुर्दगी पहले ही शुरू हो गई है।
विभाग ने एप के ज़रिये कोरोना के अलावा अन्य मैडीकल एमरजेंसी ज़रूरतों को पूरा करने के लिए प्राईवेट क्लीनिकों और ऐंबूलैंस के साथ-साथ एनजीओज़ के साथ समझौता किया गया है। यह एप वैटरनरी डॉक्टर, प्लम्बर, इलैकट्रिशन, एल.पी.जी. गैस सिलंडर के अलावा अन्य सेवाएं प्रदान करती है। डीजीपी ने कहा कि उपभोक्ता के फीडबैक के अनुसार सेवाओं की सूची की निरंतर समीक्षा की जा रही है।
24 & 7 एप सेवाओं का प्रबंधन करने के लिए फील्ड अधिकारियों की निगरानी अधीन पाँच फ़ोन नंबरों वाला एक एमरजैंसी कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है। खपतकारों को सभी नियमबद्ध सेवाएं उनके घर तक पहुंचाई जा रही हैं और खपतकार सीधा डिलीवरी करने वाले व्यक्ति को ही इसका भुगतान कर सकता है।
सिर्फ एक दिन में समय से पहले नवजात बच्चे समेत 150 से अधिक व्यक्तियों को निजी क्लिनिकों के साथ जोड़ कर तुरंत डाक्टरी सहायता दी गई है। एप ने गरीब और रोज़ाना दिहाड़ी करने वालों को खाने के पैकेट मुहैया कराने में भी सहायता की है। विभाग ने आटा, दाल, चीनी, गुड़, चाय, मक्खन, घी, टूथपेस्ट, साबुन और अन्य किराने के सामान समेत कुल 40 ज़रूरी चीजें खपतकारों को उपलब्ध करवाने के लिए निजी अदारों जैसे बिग बाज़ार और अन्यों के साथ हिस्सेदारी की है।
डीजीपी के मुताबिक बिजली से सबंधित जैसे गीजऱ, फ्रीज की मुरम्मत और प्लम्बिंग की समस्याओं समेत लगभग 35 काल प्राप्त हुई थी और इनकी तुरंत सेवाएं मुहैया करवाई गई। एलपीजी सिलंडरों के लिए कई काल आईं जिसमें कुछ ऐसी काल भी शामिल थे जो सिलंडर के लिए पैसे देने के समर्थ थे।
मुस्तैदी के साथ हरकत में आते हुये पुलिस ने विभिन्न स्थानों पर फंसे हुए 300 से अधिक लोगों को कफ्र्यू पास दिए। कफ्र्यू के उल्लंघन सम्बन्धी आईं काल पर भी तुरंत कार्यवाही की गई। ज़रूरतमंदों को वैटरनरी सेवाएं मुहैया करवाने के अलावा पशुओं/ पोल्ट्री फीड लाने- ले जाने सम्बन्धी मुद्दों का हल भी किया गया।
एप के प्रयोग सम्बन्धी जानकारी देते हुये पुलिस प्रवक्ता ने कहा कि एप डाउनलोड करने के बाद उपयोगकर्ता को नाम, मोबाइल नंबर और पता दर्ज करना पड़ता है। व्यवस्था अपने -आप डिलीवरी के लिए उपभोक्ता का स्थान तलाश लेता है और डिलीवरी देने वाली चीजें गुणवत्ता या मात्रा में तबदीली या कफ्र्यू संबंधी कोई और अपडेट आदि सम्बन्धी भी नोटीफिकेशनें सांझा करता है।
यह एप ऑनलाइन प्री-पेमेंट का विकल्प भी प्रदान करता है, जिससे नगदी -संकट और नकद प्रबंधन जैसी समस्याओं से निपटा जा सके।
एडमिन डैशबोरड अगले दिन के लिए क्षेत्र/ स्थान के मुताबिक डिलीवरी सूची तैयार करता है। डिलीवरी एप के द्वारा उन लोगों की सूची डिलीवरी देने वाले को फारवर्ड की जाती है जिन्होंने किसी चीज़ की माँग की हो। डिलीवरी की स्थिति को सिफऱ् एक बटन दबा कर देखा जा सकता है।
इस एप में नागरिकों को सप्लाई करने वालों जैसे बिग बाज़ार, मोर और किराना ऐसोसीएशनों के साथ सीधा संपर्क जोडऩे का प्रबंध है, जो माँग के अनुसार सीधे डिलीवरी भेज सकते हैं।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
नैशनल शेड्यूल्ड कास्टस एलायंस और दलित संघर्ष मोर्चा ने कैप्टन सरकार के अड़ियल व्यवहार के खिलाफ दलित महापंचायत बुलाने का निर्णय प्रतिबंधित चायना डोर बेचने जा रहा व्यक्ति काबू, डोर के 110 गट्टू बरामद सवाल: ‘केंद्र सरकार खेती कानून रद्द क्यों नहीं करती?’ केंद्र की जि़द्द अमानवीय: कैप्टन डेराबस्सी में वर्ल्ड फ्लू ने दी दस्तक गणतंत्रता दिवस पर सुरक्षा को लेकर महिला पुलिस फ्रंटलाईन पर ‘आप’ ने 26 जनवरी के ‘किसान ट्रैक्टर परेड’ के समर्थन का किया ऐलान आप प्रतिनिधिमंडल निकाय चुनाव को लेकर राज्य चुनाव आयुक्त से मिला 200 जरूरतमंद परिवारों को बांटे जूते और दवाईया तीन अलग-अलग गिरोहों के पांच सदस्य हथियार,जाली भारतीय करंसी और चोरी के वाहनों सहित काबू आंदोलनकारी किसानों को धमकाना मोदी सरकार का बेहद शर्मनाक कार्य: मान