ENGLISH HINDI Saturday, March 06, 2021
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
मन को शक्तिशाली बनाते हैं सकारात्मक संकल्पवूमेन एंड चाइल्ड वेलफेयर सोसाइटी ने विधवा महिलाओं को हर महीने राशन देने का उठाया बीड़ाभारतीय संस्कृति में नारी के सम्मान को बहुत महत्व : सुमिता कोहलीन्यू मलौया कॉलोनी वासियों ने भाजपा सांसद के खिलाफ किया प्रदर्शन इस वर्ष भी सीधे भारतीय खाद्य निगम के माध्यम से होगी गेहूं की खरीदः राजेंद्र गर्गजन्मदोष का शीघ्र पता लगाने के लिए प्रसव पूर्व परीक्षण का महत्व अहम: डॉ.गुरजीत कौरवीरेंद्र कश्यप पुनः भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनेट्राइडेंट ग्रुप ने सिविल अस्पताल, रेडक्रॉस सोसायटी व जिला जेल को भेंट की साढ़े तीन लाख राशि
राष्ट्रीय

जम्मू कश्मीर प्रशासन ने एनपीपीए की मूल्य निगरानी और संसाधन इकाई स्थापित की

April 01, 2020 08:03 PM

जम्मू कश्मीर, फेस2न्यूज:

राष्ट्रीय औषधि मूल्य निर्धारण प्राधिकरण(एनपीपीए) द्वारा केंद्र शासित प्रदेश जम्मू कश्मीर में मूल्य निर्धारण और संसाधन इकाई (पीएमआरयू) की स्थापना के साथ ही आज देश में पीएमआरयू वाले राज्यों और संघशासित प्रदेशों की संख्या बढकर 12 हो गई है। केरल, ओडिशा, गुजरात, राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, नागालैंड, त्रिपुरा, उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश और मिजोरम में पीएमआरयू की स्थापना पहले ही की जा चुकी है।    

राष्ट्रीय स्तर पर कोरोना संक्रमण से निबटने के प्रयासों के मद्देनजर एक महत्वपूर्ण कदम


पीएमआरयू, एक पंजीकृत सोसाइटी के रूप में, जम्मू कश्मीर प्रशासन के औषध नियंत्रक के प्रत्यक्ष नियंत्रण और पर्यवेक्षण के तहत कार्य करेगा। इसे एनपीपीए द्वारा आवर्ती और गैर-आवर्ती खर्चों के लिए वित्त पोषित किया जाएगा। पीएमआरयू सस्ती कीमतों पर दवाओं की उपलब्धता और पहुंच सुनिश्चित करने में एनपीपीए और राज्य औषध नियंत्रक की मदद करेगा। इसके द्वारा सभी के लिए दवाओं की उपलब्धता और सामर्थ्य वाले क्षेत्रों में सेमिनार, प्रशिक्षण कार्यक्रम और अन्य प्रकार की जानकारियां उपलब्ध कराने के लिए शिक्षा और संचार (आईईसी) गतिविधियों का आयोजन करने की भी संभावना है।
पीएमआरयू औषधि मूल्य नियंत्रण आदेश (डीपीसीओ) के प्रावधानों के तहत कार्रवाई करने के लिए दवाओं के नमूने एकत्रित करेगा, डेटा एकत्र कर उनका विश्लेषण करेगा और दवाओं की उपलब्धता तथा उनकी ज्यादा कीमतें वसूले जाने के संबंध में रिपोर्ट करे गा।
ऐसे समय में जबकि देश कोविड जैसी महामारी से जूझ रहा है, पीएमआरयू द्वारा जम्मू कश्मीर में दवाओं की ज्यादा कीमतें वसूले जाने के मामलों की निगरानी करने के साथ ही स्थानीय स्तर पर जमाखोरी के कारण दवाओं की कमी जैसी समस्याओं का पता लगाये जाने का काम काफी महत्वपूर्ण होगा।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और राष्ट्रीय ख़बरें
मन को शक्तिशाली बनाते हैं सकारात्मक संकल्प औषधियों के लिए उत्‍पादन आधारित प्रोत्‍साहन योजना को मंजूरी हिमाचल में साहसिक खेलों के लिए नए स्थान अधिसूचित दिशा रवि पर झूठा देशद्रोह का मुकदमा थोपने वाले दिल्ली पुलिस पर कार्रवाई कब? बिका हुआ माल वापस नहीं होगा, बिल में इसका मुद्रण उपभोक्ता कानून के खिलाफ बहुत हुई जनता पर पेट्रोल-डीज़ल की मार, अबकी बार मोदी सरकार' सूचना अधिकार कानून के तहत सूचना नहीं देने पर बाड़मेर उपभोक्ता आयोग ने ठोका जुर्माना नौंवी कक्षा मे छात्रा के फेल होने पर आकाश कोचिंग सेंटर को उपभोक्ता आयोग ने लगाया जुर्माना नगर निगम, नगर कौंसिल और पंचायतीं चुनाव प्रचार 12 फरवरी शाम 5 बजे होगा बन्द, 14 फरवरी को पड़ेंगी वोटें उपभोक्ता आयोग शिकायत के जवाब के लिए 45 दिन की समय सीमा को आगे नहीं बढ़ा सकता : सुप्रीम कोर्ट