राष्ट्रीय

राजयोगिनी दादी जानकी की स्मृति में बनेगा शक्ति स्तम्भ

April 09, 2020 04:46 PM

शांतिवन स्थित सम्मेलन सभागार के सामने हुआ था अंतिम संस्कार

आबू रोड, राज सदोष

ब्रह्माकुमारीज संस्थान की पूर्व मुख्य प्रशासिका  राजयोगिनी दादी जानकी की स्मृति में शक्ति स्तम्भ का निर्माण होगा। जब भी लॉकडाउन समाप्त होगा इसकी प्रक्रिया प्रारम्भ हो जायेगी। इसके लिए इंजिनियरों को डिजाईन बनाने के लिए कहा गया है।

ब्रह्माकुमारीज संस्थान की पूर्व मुख्य प्रशासिका राजयोगिनी दादी जानकी जी एक लौह पुरूष की भांति पूरे विश्व में महिला सशक्तिकरण के लिए महत्वपूर्ण कार्य किया। वे ज्ञान की भंडार तथा शक्ति स्वरूपा थी। इसलिए उनकी स्मृति में संस्थान ने शक्ति स्तम्भ बनाने का निर्णय लिया है। इसके लिए फिलहाल अस्थायी रूप में छोटा स्ट्रक्चर बनाया गया है। इसके लिए कई तरह की डिजाईनों का रिसर्च चल रहा है। कैसे इसे बड़ा प्रारूप बनाया जाये इसके लिए कई स्तर के डिजाईन बनायी जा रही है।

ब्रह्माकुमारीज संस्थान की पूर्व मुख्य प्रशासिका राजयोगिनी दादी जानकी जी एक लौह पुरूष की भांति पूरे विश्व में महिला सशक्तिकरण के लिए महत्वपूर्ण कार्य किया। वे ज्ञान की भंडार तथा शक्ति स्वरूपा थी। इसलिए उनकी स्मृति में संस्थान ने शक्ति स्तम्भ बनाने का निर्णय लिया है। इसके लिए फिलहाल अस्थायी रूप में छोटा स्ट्रक्चर बनाया गया है। इसके लिए कई तरह की डिजाईनों का रिसर्च चल रहा है। कैसे इसे बड़ा प्रारूप बनाया जाये इसके लिए कई स्तर के डिजाईन बनायी जा रही है।

दादी के देहावसान के 13वें दिन परम्परागत क्रिया के बाद यह निश्चय किया गया है। दादी की निजी सचिव बीके हंसा ने बताया कि दादी पूरे विश्व के लिए एक मिसाल थी। दादी जी ने लाखों लोगों को शक्ति का स्वरूप बनाकर जीना सीखाया। इनके पदचिन्हों पर चलकर लाखों लोगों ने अपना जीवन बदला है। इसलिए उनकी याद में शक्ति स्तम्भ बनेगा। जिसकी प्रक्रिया लाक डाउन समाप्त होने के बाद प्रारम्भ होगी।

गौरतलब है कि ब्रह्माकुमारीज संस्था की पूर्व मुख्य प्रशासिका राजयोगिनी दादी जानकी ने 27 मार्च को प्रात: 2 बजे अपने 104 वर्ष की उम्र में नश्वर शरीर का त्याग किया था। जिनका अंतिम संस्कार ब्रह्माकुमारीज संस्थान के अंतर्राष्ट्रीय मुख्यालय शांतिवन में सम्मेलन सभागार के सामने किया गया।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और राष्ट्रीय ख़बरें
मास्क पहनने का औचित्य 'दुखद: समाचार एवं श्रद्धासुमन' जेसिका लाल हत्याकांड: जेल में अच्छे व्यवहार के चलते सिद्धार्थ शर्मा उर्फ मनु रिहा मॉनसून ऋतु (जून–सितम्बर) की वर्षा दीर्घावधि औसत के 96 से 104 प्रतिशत होने की संभावना अनलॉक-1 के नाम से देश में 30 जून तक लॉकडाउन 5 लागू, क्या-क्या खुलेगा, किस पर रहेगी पाबंदी आखिर क्यों नहीं पीएमओ पीएम केयर फंड आरटीआई के दायरे में ? कितनी गहरी हैं सनातन संस्कृति की जड़ें कोरोना से युद्ध में रणनीति और वैज्ञानिक दृष्टिकोण का अभाव सीआईपीईटी केंद्रों ने कोरोना से निपटने के लिए सुरक्षात्मक उपकरण के रूप में फेस शील्ड विकसित किया एन.एस.यू.आई. ने छात्रों को एक-बार छूट देकर उत्तीर्ण करने का किया आग्रह