हरियाणा

30 अप्रैल तक सरचार्ज या ब्याज सहित सभी बकायों पर नहीं लगेगा

April 10, 2020 01:33 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज

कोविड-19 के कारण बनी अभूतपूर्व परिस्थितियों से आम जनता को होने वाली आर्थिक कठिनाई को ध्यान में रखते हुए हरियाणा सरकार ने सभी विभागों और सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों (पीएसयू) को निर्देश दिए हैं कि वे 15 मार्च, 2020 से 30 अप्रैल, 2020 तक सरचार्ज या दंडात्मक ब्याज सहित विभिन्न प्रकार के बकाए पर कोई जुर्माना ना लगाएं।

वित्त विभाग के एक प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने इस संबंध में एक प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में, राज्य सरकार के पास 52 विभाग, 23 निगम या कंपनियां, 19 सहकारी संस्थान और 20 बोर्ड, प्राधिकरण और संस्थाएं हैं। उन्होंने कहा कि दैनिक आधार पर सरकारी संस्थान विभिन्न प्रकार के बकाये जमा कर रहे हैं जैसे कि वैधानिक भुगतान, विभिन्न प्रकार की सेवाओं के बदले सेवा शुल्क, ऋण वसूली, ब्याज भुगतान आदि। उन्होंने कहा कि इस अवधि के दौरान किसी भी प्रकार की बकाया वसूली के लिए विभाग और (पीएसयू) द्वारा कोई भी कठोर कार्रवाई नहीं की जाएगी।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हरियाणा ख़बरें
दो ईनामी अपराधियों को किया काबू विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर लाइव वेबिनार का आयोजन विभिन्न कम्पनियों से सेनेटाइजर के 158 नमूने एकत्र किए हरियाणा में सामाजिक दूरी और अंतरराज्यीय बसों और यात्री वाहनों को लेकर एसओपी जारी काम की तलाश में आने वाले मजदूरों के लिए लेबर चौक पर उपायुक्तों को प्रतिनिधि तैनाती के निर्देश हरियाणा: व्यक्तिगत डिस्टेंसिंग की पालना के साथ सभी दुकानें 9 से सायं 7 बजे तक खोलने की स्वीकृति पत्रकारिता व्यक्ति और समाज के बीच एक सशक्त माध्यम: मुख्यमंत्री सैनिक की गर्भवती पत्नी कोरोना पॉजिटिव, अम्बाला के मिलिट्री अस्पताल में भर्ती चौकसी ब्यूरो ने दिया 7 राजपत्रित व 3 अराजपत्रित अधिकारियों के विरूद्ध जांच सीबीआई से करवाने का सुझाव एक आईएएस अधिकारी स्थानांत्रित