ENGLISH HINDI Saturday, September 26, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
अबोहर तस्वीर के सम्पादक राजेश सचदेवा को भार्याशोककिसानों के गुस्से के आगे सिवल-पुलिस प्रशासन की हुई बस, व्यापारी डराकिसान आक्रोष: डेराबस्सी में जाम किया गया चंडीगढ़ दिल्ली हाईवेभारत में हर वर्ष मुंह के कैंसर के सवा लाख नए केस, मुंह के कैंसर के 80 प्रतिशत केसों का कारण तंबाकू: डा. राजन साहूडेराबस्सी में निर्माणाधीन दो मंजिला बिल्डिंग धराशाही, चार की मौत मुख्यमंत्री का निजी सहायक बनकर अधिकारियों और अन्यों को धोखा देने वाला सिपाही गिरफ्तारहरियाणा: पुलिस ने 3 बच्चों सहित चार लापता को परिवार से मिलवायाछात्रवृति योजनाओं की ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि 30 नवम्बर
राष्ट्रीय

‘श्रमिक ट्रेनों’ ने प्रवासी मज़दूरों का आवागमन आसान बनाया

May 08, 2020 06:35 PM

चण्डीगढ़, फेस2न्यूज:
‘श्रमिक ट्रेनों’ ने प्रवासी मज़दूरों को इस क्षेत्र से अपने पुश्तैनी स्थानों पर जाना आसान बना दिया है। भारतीय रेलवे ने सुनिश्चित किया है कि इन प्रवासी कामगारों को कोविड-19 से संबंधित सावधानियों का अनुपालन करते हुए किसी प्रकार की कोई कठिनाई न हो। रेलवे अधिकारियों ने यह सुनिश्चित किया है कि यात्रा कर रहे प्रवासी मज़दूरों व उनके परिवार परस्पर उचित दूरी बना कर बैठें, उन्हें यात्रा हेतु भोजन के पैकेट प्रदान करवाए जा रहे हैं तथा उनका चिकित्सीय निरीक्षण किया जा रहा है।
अपने घरों को लौट रहे ये प्रवासी मज़दूर अत्यंत प्रसन्न दिखाई दे रहे हैं। एक ट्रेन में बैठे एक छोटे बच्चे ने कहा कि सरकार ने यह ट्रेन भेज कर अच्छा काम किया है तथा वह उत्तर प्रदेश के हरदोई स्थित अपने गांव जाने के कारण ख़ुश है। एक अन्य प्रवासी श्रमिक ने कहा कि कोविड-19 के कारण जिस दिन लॉकडाऊन की घोषणा की गई थी, वह उसी दिन से इस अवसर की प्रतीक्षा कर रहा था।
ये ट्रेनें पंजाब व हरियाणा राज्यों के विभिन्न स्टेशनों से नियमित आधार पर प्रस्थान कर रही हैं। एक श्रमिक ट्रेन गुरूवार को 1300 प्रवासी श्रमिकों को लेकर जालन्धर से उत्तर प्रदेश के नगर आज़मगढ़ के लिए रवाना हुई थी। बुधवार को पटियाला से 1,200 अन्य प्रवासी मज़दूर अपने पुश्तैनी स्थान उत्तर प्रदेश के आज़मगढ़ के लिए रवाना हुए थे। हिसार रेलवे स्टेशन पर बिहार के कटिहार जा रही ट्रेन में चढ़ने हेतु अपनी बारी की प्रतीक्षा करते समय प्रवासी मज़दूरों ने एक-दूसरे से उचित दूरी बना कर रखी हुई थी।
ये ‘श्रमिक स्पेशल’ ट्रेनें गृह मंत्रालय द्वारा जारी दिशा-निर्देशानुसार 1 मई से भारतीय रेलवे द्वारा चलाई जा रही हैं, ताकि लॉकडाऊन के कारण विभिन्न स्थानों पर फंसे प्रवासी मज़दूर, तीर्थयात्री, पर्यटक, छात्र व अन्य व्यक्ति अपने ठिकानों पर पहुंच सकें। यह स्पेशल ट्रेनें संबंधित राज्य सरकारों के निवेदन पर पूर्व-निर्धारित मानदण्डों व प्रोटोकोल्स अनुसार ऐसे फंसे लोगों को लाने-ले जाने हेतु चलाई जाएंगी। रेलवे व राज्य सरकारों को समन्वय कायम रखने व ‘श्रमिक स्पेशल’ ट्रेनों के सुचारू संचालन के लिए वरिष्ठ अधिकारियों को नोडल अधिकारियों के रूप में नियुक्त करना होगा।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और राष्ट्रीय ख़बरें
‘आनन्द वन’ का लोकापर्ण, हल्द्वानी और ऋषिकेश में बनाये जा रहे हैं थीम बेस्ड सिटी पार्क कोरोना पॉजिटिव आने से विधानसभा अध्यक्ष नहीं हो पाएंगे सदन में उपस्थित भारतीय रेलवे मना रही है 'स्वच्छता पखवाड़ा' 5 राज्यों का कुल सक्रिय मामले 60 फीसदी, नए मामले 52 फीसदी और रिकवरी दर 60 फीसदी जम्मू कश्मीर को फिर से धरती का स्वर्ग और भारत माता के मुकुट की मणि बनाएँ: राष्ट्रपति कोविन्द कृषि विधेयक परित होने पर प्रधानमंत्री ने कहा, 'बधाई हो' सुशासन और जीरो टाॅलरेंस आन करप्शन सरकार की प्राथमिकता मुख्यमंत्री रावत वो यात्रा जो सफलता से अधिक संघर्ष बयाँ करती है एम्स हैलीपैड परकिसी भी हिस्से से आने वाली हैलीसेवा की लैंडिंग संभव कोविड 19 से औद्योगिक गतिविधियां प्रभावित, नई संभावनाएं भी विकसित हुईः मुख्यमंत्री