ENGLISH HINDI Friday, August 14, 2020
Follow us on
 
पंजाब

पंजाब की राजनीति के धुर माने जाने वाले गुरदास बादल का हुआ अंतिम संस्कार

May 15, 2020 07:42 PM

गांव बादल (पंजाब), फेस2न्यूज:
पंजाब के पांच बार मुख्यमंत्री रहे और शिरोमणि अकाली दल के सरपरस्त प्रकाश सिंह बादल के छोटे भाई एवं वर्तमान में कांग्रेस के वित्त मंत्री मनप्रीत बादल के पिता 88 वर्षीय गुरदास सिंह बादल का अंतिम संस्कार आज गांव बादल के श्मशानघाट में कर दिया गया। पंजाब की लंबी क्षेत्र में बादल गांव उनका जद्दी निवास रहा है। गुरदास बादल जिन्हें लोग 'दास जी' के नाम से पहचानते थे, पिछले कुछ दिनों से मोहाली के फोर्टिस अस्पताल में दाखिल थे। पांच दिन से उनकी हालत गंभीर थी। दास जी की चिता को मुखाग्नि मनप्रीत बादल व सुखबीर बादल द्वारा दी गई।

  माना जाता रहा है कि प्रकाशसिंह बादल की राजनीति में गुरदास बादल का काफी योगदान रहा है। दोनों बादल भाइयों में आपस में गूढ प्रेम था, और उन्हें राम लक्ष्मण की जोड़ी कहकर भी पुकारा जाता रहा। दोनों भाईयों के बच्चों के वैचारिक मतभेद के चलते सुखबीर बादल और मनप्रीत बादल व दोनों परिवारों की राहें जुदा हो गई, राजनैतिक प्रतिद्वंद्ता के चलते मनप्रीत सिंह बादल कांग्रेस में आ गए और वित्त मंत्री बन गए। जबकि सुखबीर बादल अकाली दल के प्रधान पूर्व डिप्टी सीएम रहे।
लेकिन गुरदास बादल की मृत्यु पर दोनों परिवार साथ नज़र आए। अंतिम संस्कार में पार्थिव शरीर को सुखबीर और मनप्रीत दोनों एक साथ कांधा दिया। पिता के अंतिम संस्कार पर मनप्रीत बादल ने स्वयं लोगों से अपील की कि कोरोना महामारी के चलते निजी तौर पर शामिल न हों, बावजूद इसके बादल परिवार के इस दु:ख की घड़ी में लोग काफी गिनती में शामिल होते रहे।
दोनों परिवारों के सभी सदस्यों के अलावा मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़ व अन्य कांग्रेसी मंत्री तथा नेता, भाजपा नेता, अकाली नेता और आम आदमी पार्टी के सांसद के अलावा राधा स्वामी डेरा प्रमुख बाबा गुरिंदर ढिल्लों इस दौरान खास तौर पर पहुंचे। पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल बेहद भावुक नज़र आए। छोटे भाई के विछोड़े पर उनकी आंखें नम थी।
करीब डेढ़ माह पूर्व ही वित्तमंत्री मनप्रीत के माता हरमिंदर कौर (84) का भी कैंसर जैसी नामुराद बिमारी से देहांत हो गया था। दास जी की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की गई।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
मुख्यमंत्री द्वारा नकली शराब मामले में डी.जी.पी. को भद्दे ढंग से निशाना बनाने के लिए मजीठिया की कड़ी आलोचना माईक्रो और सीमित ज़ोनों में 100 प्रतिशत टेस्टिंग के निर्देश पटियाला में लगने वाले धरने लोगों की जान के लिए बने खतरा: सिंगला स्कूल के ऑनलाइन पेंटिंग और निबंध प्रतियोगिता 13 अगस्त को जन्माष्टमी की रात कफ्र्यू में ढील सरकारी स्कूलों में दाखि़ले के लिए ट्रांसफर सर्टिफिकेट की बन्दिश ख़त्म करने की हिदायत कोविड के मद्देनजऱ 4000 तक और कैदी रिहा किये जाएंगे: रंधावा ‘ऐजूकेशन हब्ब’ के तौर पर विकसित होगा मोहाली, यूनिवर्सिटी की स्थापना के लिए ‘लैटर ऑफ इनटैंट’ जारी सेना के गुम हुए जवान सतविंदर कुतबा के परिवार को अभी भी वापस आने की उम्मीद शहीदों को याद करना मतलब युवा पीढ़ी को जागरूक करना