ENGLISH HINDI Thursday, June 04, 2020
Follow us on
 
राष्ट्रीय

सिविल सर्जनों को डेंगू व मच्छर या कीटों से फैलने वाली बीमारियों की रोकथाम के लिए उपाय तेज करने की हिदायत

May 15, 2020 07:49 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
पंजाब में डेंगू और अन्य वैकटर बोर्न डिजीज़ (मच्छर या कीटों के कारण फैलने वाली बीमारियों) के संचार मौसम की शुरूआत के मद्देनजऱ स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री स. बलबीर सिंह सिद्धू ने सिविल सर्जनों को डेंगू और अन्य वैकटर बोर्न रोगों (वी.बी.डी.) की रोकथाम और नियंत्रण के लिए स्टेट टास्क फोर्स के विभाग के साथ मिलकर उपाय तेज करने की हिदायत की है।
आज यह जानकारी देते हुये सिद्धू ने बताया कि आज राष्ट्रीय डेंगू दिवस 2020 सभी जि़ला अस्पतालों में मनाया गया है क्योंकि हर साल डेंगू के मामलों में विस्तार होता है और राज्य में इस बीमारी से बदकिस्मती से लोगों की मौतें भी हुई हैं। उन्होंने कहा कि कोविड -19 की स्क्रीनिंग साथ-साथ अब सरकारी अस्पतालों में मरीज़ों को मलेरिया और डेंगू का टैस्ट करवाना और भी मुश्किल काम बन गया है।
मंत्री ने कहा कि मलेरिया और डेंगू के खतरे से छुटकारा पाने के लिए यह बहुत ही महत्वपूर्ण है कि पिछले साल वाले प्रभावित इलाकों की तरफ विशेष ध्यान दिया जाये और स्वास्थ्य और स्थानीय निकाय विभाग की टीमों के तालमेल के द्वारा माईक्रो -प्लान के अनुसार निश्चित समय में फौगिंग यकीनी तौर पर की जाये। इसके अलावा मंत्री ने पंजाब सरकारों की हिदायतों का उल्लंघन करने वालों के चालान करने पर भी ज़ोर दिया।
कोरोना वायरस के मद्देनजऱ स्वास्थ्य विभाग हर प्रभावित कोविड मरीज़ का पता लगाने के लिए पूरी चौकसी और सख्त मेहनत कर रहा है परन्तु इसके साथ ही डेंगू और मच्छर या कीड़ों के कारण फैलने वाली अन्य बीमारियों से बचाव और नियंत्रण करना ज़रूरी है, जोकि स्टेट टास्क फोर्स का प्रारंभिक उद्देश्य होगा। उन्होंने यह भी कहा कि स्थानीय निकाय, ग्रामीण विकास, शिक्षा, परिवहन और स्टेट टास्क फोर्स के अन्य हिस्सेदार विभागों द्वारा वैकटर बोर्न रोगों के फैलाव वाले मौसम के मद्देनजऱ रोकथाम उपाय तेज करने के लिए यत्न किये जा रहे हैं।
स. बलबीर सिंह सिद्धू ने आगे कहा कि डेंगू और अन्य वैकटर बोर्न रोगों की रोकथाम के लिए फील्ड ड्यूटियों पर तैनात किये जाने वाले स्टाफ की तरफ से कोविड -19 के सुरक्षा के दिशा निर्देशों की सख्ती से पालना की जानी चाहिए। फील्ड स्टाफ को मास्क का प्रयोग करना चाहिए और अक्सर साबुन और पानी के साथ हाथ धोने चाहिएं। कोविड -19 के दिशा निर्देशों के अनुसार सामाजिक दूरी की पालना सभी स्वास्थ्य टीमों से तरफ से फील्ड की गतिविधियों के दौरान करना चाहिए।
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि डेंगू (एडीज़ मच्छर) की रोकथाम के लिए राज्य के ग्रामीण इलाकों और शहरी क्षेत्रों में स्थानीय निकाय विभाग और ग्रामीण विकास विभाग और पंचायतों के सहयोग के साथ स्प्रेय और फौगिंग जैसे उपाय किये जा रहे हैं। डेंगू की जांच के लिए सभी सरकारी प्रयोगशालाओं के पास उचित टैस्ट किटें हैं और इस गतिविधि के लिए अस्पतालों में स्टाफ की तैनाती के बाद शक्की मामलों की जांच शुरू की जानी चाहिए।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और राष्ट्रीय ख़बरें
जेसिका लाल हत्याकांड: जेल में अच्छे व्यवहार के चलते सिद्धार्थ शर्मा उर्फ मनु रिहा मॉनसून ऋतु (जून–सितम्बर) की वर्षा दीर्घावधि औसत के 96 से 104 प्रतिशत होने की संभावना अनलॉक-1 के नाम से देश में 30 जून तक लॉकडाउन 5 लागू, क्या-क्या खुलेगा, किस पर रहेगी पाबंदी आखिर क्यों नहीं पीएमओ पीएम केयर फंड आरटीआई के दायरे में ? कितनी गहरी हैं सनातन संस्कृति की जड़ें कोरोना से युद्ध में रणनीति और वैज्ञानिक दृष्टिकोण का अभाव सीआईपीईटी केंद्रों ने कोरोना से निपटने के लिए सुरक्षात्मक उपकरण के रूप में फेस शील्ड विकसित किया एन.एस.यू.आई. ने छात्रों को एक-बार छूट देकर उत्तीर्ण करने का किया आग्रह एम्स ऋषिकेश में कोविड पॉजिटिव चार अन्य मामले सामने आए एम्स ऋषिकेश में कोविड पॉजिटिव के पांच नए मामले सामने आए