ENGLISH HINDI Thursday, May 28, 2020
Follow us on
 
हिमाचल प्रदेश

कोरोना को जरा सा भी टच नॉट

May 19, 2020 06:05 PM

धर्मशाला, (विजयेन्दर शर्मा) कांगड़ा जिला प्रशासन द्वारा कोविड-19 के बारे में जानकारी प्रदान करने और उससे बचाव के उपाए बताने के लिए डिजायन किए गए पोस्टर लोगों में काफी लोकप्रिय हो रहे हैं। जिला प्रशासन द्वारा जारी किए जाने वाले नए पोस्टर तुरन्त लोगों का ध्यान आकर्षित करने में सफल हो रहे हैं। इन सभी पोस्टर में प्रसारित संदेशों को जन-जन के दिलो-दिमाग में पहले से ही घर बना चुके फिल्मी गानों या डायलॉग के साथ जोड़कर इस तरीके से प्रस्तुत किया जाता है कि जिला प्रशासन को जिस भी संदेश की तरफ लोगों का ध्यान आकर्षित करना होता है, वह सीधे उनके दिलों में घर कर जाता है।
उदाहरण के लिए प्रशासन द्वारा जारी आज पोस्टर की बात की जाए तो उसमें, किसी भी टच से पहले या बाद में हाथों को साबुन से अच्छी तरह से धोने का संदेश, एक हिन्दी फिल्म के हिट गाने, ’’जरा जरा टच मी, टच मी, टच मी’’, के साथ प्रस्तुत किया गया है। पोस्टर में प्रस्तुत एक व्यक्ति, जिसने चेहरे पर मास्क लगाया हुआ है और हाथों में सामान के बैग पकड़े हैं, को साबुन अपने इस्तेमाल के लिए आमंत्रित कर रहा है। सृजनात्मकता के साथ प्रस्तुत इस संदेश को अलंकारों के साथ बेहद शालीन और उत्कृष्ट ढंग से आम लोगों में प्रसारित करने में मदद मिल रही है। कांगड़ा जिला प्रशासन की आधिकारिक वेबसाईट पर पोस्ट किए गए यह संदेश सीधे ध्यान आकर्षित करने में सफल हो रहे हैं।
इन पोस्टर की विशेषता है समय के साथ संदेशों में किया जाने वाला बदलाव। इससे पूर्व एक पोस्टर में शोले फिल्म के डायलॉग को ठाकुर के साथ जोड़ा गया था। संदेश साफ था कि संक्रमण फैलाने के लिए एक ही आदमी काफी है। इसी तरह अन्य पोस्टर में ’’मेरा पिया घर आया ओ राम जी’’ गाने के बोलों के साथ प्रसारित संदेश में कहा गया था, ’’अगर आपके पिया के साथ कोरोना आ गया तो रामजी भी आपको नहीं बचा पाएंगे। जहॉं हैं वहीं रहें, सभी के जीवन का बचाव करें।’’ इसी तरह शादी समारोह के साथ जोड़े गए अन्य हास्यबोध से पूर्ण संदेश में ’’कुण्डिलयॉं मिलाते-मिलाते कहीं कोरोना ना मिल जाए। दुर्घटना से देर भली।’’ लोगों को कोविड-19 के संक्रमण काल में समारोहों के लिए उतावले न होकर जीवन को सुरक्षित करने की सलाह दी गई थी।
उपायुक्त राकेश प्रजापति इन संदेशों को डिजायन करने का श्रेय अपने एडीसी राघव शर्मा को देते हुए कहते हैं कि ये पोस्टर उनकी मौलिकता की उपज हैं। वहीं एडीसी राघव शर्मा इसे टीम वर्क बताते हुए कहते हैं कि हमारे एक मित्र, जो अपना नाम जाहिर नहीं करना चाहते हैं, इन पोस्टर को डिजायन करने के लिए अपनी सेवाएं दे रहे हैं। इन पोस्टर का उद्देश्य लोगों के तनाव को कम करते हुए परिस्थितियों की गंभीरता को रेखांकित करना है। राघव कहते हैं कि ’’इससे पहले लोगों ने कभी इस तरह का वैष्विक लॉकडाऊन नहीं झेला है और घरों में लगातार बने रहते से तनाव और अलगाव की भावना में बढ़ोतरी हुई है। यह संदेश लम्बे समय तक जह्न में बने रहते हैं। यह पोस्टर हमारे आस-पास हो रही घटनाओं पर आधारित हैं।’’

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हिमाचल प्रदेश ख़बरें