ENGLISH HINDI Thursday, June 04, 2020
Follow us on
 
पंजाब

बरनाला: लघु सचिवालय में ‘ई-पुस्तकालय’ शुरु

May 19, 2020 06:59 PM

बरनाला, अखिलेश बंसल/करन अवतार:

कोविड-19 वैश्विक महामारी से लोगों को बचाने के लिए जिला रोजगार एवं कारोबार विभाग द्वारा ‘ई-पुस्तकालय’ की शुरुआत की गई है। विभाग के अधिकारियों का दावा है कि यह ऑनलाइन लायब्रेरी विद्यार्थियों एवं किताबें पढऩे के इच्छुक लोगों के लिए कारगार हो सकेगी।   

जिला रोजगार व कारोबार ब्यूरो ने दावा किया है कि विद्यार्थियों एवं किताबें पढऩे के इच्छुक लोगों के लिए कारगार होगी ‘ई-पुस्तकालय’।


जिला रोजगार व कारोबार ब्यूरो की प्लेसमेंट अफिसर सुश्री सुनाकशी नंगला ने जानकारी दी है कि ब्यूरो की तरफ से तालाबन्दी के कारण नौजवानों की सुविधा के लिए ई -पुस्तकालय शुरू की गई है, ताकि घर बैठे विद्यार्थी दुनिया भर की गतिविधियों की जानकारी हासिल कर सकें और अपने सामान्य ज्ञान में विस्तार कर सकें। उन्होंने बताया कि भविष्य में बड़ी संख्या में रोजगार के अवसर मिलने वाले हैं। रोजगार के मौके का फायदा उठाने के लिए ई-पुस्तकालय विद्यार्थियों के लिए सहायक साबित होगी। उन्होंने बताया कि ई-पुस्तकालय की ऑनलाइन साईट पर में रोजाना अखबार, सप्ताहिक रोजगार समाचार, किसी भी स्पर्धां के लिए सहायक मैगजीन और परीक्षा की तैयारी के लिए अन्य आवश्यक सामग्री अपलोड की गई है। जिसका लिंक जिला रोजगार व कारोबार ब्यूरो के फेसबुक्क पेज (District Bureau of Employment and Enterprises Barnala) पर उपलब्ध है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
कैमिकल फैक्ट्री में बिना मंजूरी खड़ी कर दी तीन मंजिला बिल्डिंग लापरवाही: अस्पताल से रैफर हुई नवजन्मी बच्ची को लिटाया कोरोना सैंपल ले जा रही वैन में कांग्रेसी नेता के पुत्र की मौत पर शोक की लहर, अंतिम संस्कार अधिकारियों/कर्मचारियों की तरक्की जल्द करने के आदेश कोविड संकट दौरान सिविल डिफेंस द्वारा जरूरतमन्दों को दवाएं पहुंचाने का सिलसिला जारी हाईकोर्ट की निगरानी में न्यायिक आयोग करे पिछले 13 वर्षों के कृषि घोटाले की जांच: चीमा फर्जीवाड़ा: विश्व तंबाकू विरोधी दिवस मनाने का लैक्चर दिया और फुर्रर हो गए सेहत अधिकारी सोना लूटने वाला सरगना पंजाब पुलिस की वर्दी, नकली आईडी, चीनी पिस्तौल सहित काबू 10 जून से पहले मुकम्मल हो जायेगी रजबाहों/माईनरों की सफ़ाई शराब पर कोविड सैस लगाकर लेंगे 145 करोड़ रुपए का अतिरिक्त राजस्व