ENGLISH HINDI Friday, August 07, 2020
Follow us on
 
हिमाचल प्रदेश

लॉकडाउन-4: कर्फ्यू में ढील प्रातः सात से दोपहर दो बजे तक: डीसी

May 20, 2020 04:49 PM

स्टांप बेंडर और डाक्यूमेंट राइटर सोमवार तथा वीरवार को कर सकेंगे कार्य, सैलून तथा ब्यूटी पार्लर में कार्य करने वालों को दी जाएगी ट्रेनिंग, कर्मचारियों को फ्लू के लक्ष्ण होेने पर स्वास्थ्य विभाग को सूचित करना जरूरी

 धर्मशाला(विजयेन्दर शर्मा)
उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि कांगड़ा जिला में कर्फ्यू में ढील का समय पहले की तरह ही प्रातः सात बजे से दोपहर दो बजे तक रहेगा इसी दौरान दुकानें इत्यादि खोली जाएंगी। इसके साथ ही नागरिकों को प्रातः साढ़े पांच बजे से लेकर सात बजे तक वॉक तथा रनिंग करने की अनुमति प्रदान की है। नागरिकों को मास्क लगाना जरूरी होगा। उपायुक्त ने कहा कि सामाजिक दूरी की अनुपालना सुनिश्चित करना दुकानदारों का दायित्व होगा तथा दुकानों के बाहर उपभोक्ताओं के खड़े होने के लिए एक से डेढ़ मीटर की दूरी तक गोले के आकार के चिह्न अवश्य प्रदर्शित करें।

स्टांप बेंडर और डाक्यूमेंट राइटर सोमवार तथा वीरवार को कर सकेंगे कार्य
उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि स्टांप बेंडर तथा डाक्यूमेंट राइटर अब सोमवार तथा वीरवार को प्रातः दस बजे से दो बजे तक कार्य सकेंगे तथा इसमें भी सामाजिक दूरी की अनुपालना सुनिश्चित करना जरूरी होगा जबकि तहसीलों में भूमि पंजीकरण का कार्य प्रतिदिन प्रातः दस बजे से दो बजे तक किया जाएगा।

सैलून तथा ब्यूटी पार्लर में कार्य करने वालों को दी जाएगी ट्रेनिंग
उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि सैलून तथा ब्यूटी पार्लर में कार्य करने वालों को प्रशिक्षण दिया जाएगा इस के लिए सैलून तथा ब्यूटी पार्लर संचालक श्रम अधिकारी के माध्यम से आवेदन करेंगे तथा संबंधित उपमंडलों में उनकी ट्रेनिंग की व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने कहा कि ट्रेनिंग लेने के उपरांत सैलून तथा ब्यूटी पार्लर खोले जा सकते हैं।

कांगड़ा जिला में विभिन्न उपमंडलों में 94 क्वांरटीन सेंटर निर्धारित किए गए हैं इंदौरा उपमंडल में 11, फतेहपुर में पांच, देहरा में आठ, जयसिंहपुर में छह, ज्वालामुखी में चार, ज्वाली उपमंडल में सात, बैजनाथ उपमंडल में 18, पालमपुर उमपंडल में तीन, नगरोटा उपमंडल में तीन, कांगड़ा उपमडल में छह, धर्मशाला उपमंडल में तीन, शाहपुर में तीन, नुरपुर उपमंडल में नौ तथा धीरा उपमंडल में आठ क्वांरटीन सेंटर चिह्न्ति किए गए हैं तथा इनमें 8231 नागरिकों को ठहराने की व्यवस्था की गई है। उन्होंने कहा कि कांगड़ा जिला में कोविड-19 के संक्रमण से निपटने के लिए तैयारियां पूर्ण की गई हैं तथा किसी भी स्तर पर लापरवाही नहीं की जाएगी।

कर्मचारियों को फ्लू के लक्ष्ण होेने पर स्वास्थ्य विभाग को सूचित करना जरूरी
उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि सरकारी तथा निजी कार्यालय पहले की तरह ही खुले रहेंगे इसमें तृतीय तथा चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों को रोटेशन आधार पर उपस्थित रहना होगा। उन्होंने कहा कि कर्मचारियों में किसी तरह के फ्लू के लक्षण होने पर स्वास्थ्य विभाग को सूचित करना जरूरी होगा तथा इस स्थिति में कार्यालय परिसर को सेनेटाइज भी करना होगा।

बाहरी राज्यों या अन्य जिलों से आवाजाही के लिए कर्फ्यू पास जरूरी
उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि बाहरी राज्यों या अन्य जिलों में आवाजाही के लिए कर्फ्यू पास जरूरी है तथा इस के लिए कांगड़ा जिला की बेवसाइट पर आनलाइन आवेदन करने का प्रावधान भी किया गया है। 

कांगड़ा जिला में कोरोना पॉजिटिव के आए 11 नए मामले, संस्थागत क्वारंटीन में हो रही 1000 नागरिकों की निगरानी
डाढ, फतेहपुर में भी बने कोविड केयर सेंटर :  उपायुक्त राकेश कुमार प्रजापति ने कहा कि कांगड़ा जिला में बुधवार को कोरोना पॉजिटिव के 11 नये मामले सामने आए हैं। ये नागरिक मुंबई से आए हैं तथा इनको परौर संस्थागत क्वारंटीन सेंटर में रखा गया था वहीं पर मेडिकल चेक तथा कोविड-19 के सेंपल लिए गए हैं इसमें उपमंडल धर्मशाला के झियोल के तीन, उपमंडल जयसिंहपुर के लम्बागांव के 2, ज्वालामुखी उपमंडल का एक, जयसिंहपुर उपमंडल के सरीमोलग के 3 तथा बैजनाथ उपमंडल के कोहली का एक, उपमंडल पालमपुर के चंजेहड़(भवारना) का एक नागरिक संबंधित हैं। इन सभी को कोविड केयर सेंटर बैजनाथ के लिए शिफ्ट कर दिया गया है। अब कांगड़ा जिला में कोरोना पॉजिटिव के कुल 24 एक्टिव केस हो गए हैं।
संस्थागत क्वांरटीन में हो रही 1000 नागरिकों की निगरानी:  उपायुक्त कांगड़ा राकेश प्रजापति ने कहा कि जिला के विभिन्न क्षेत्रों में संस्थागत क्वांरटीन में 1000 नागरिकों की निगरानी की जा रही है जबकि जिला में बाहरी राज्यों से आए 52000 नागरिकों को होम क्वारंटीन किया गया है जिसमें से पैंतीस हजार के करीब नागरिकों का होम क्वारंटीन की अवधि पूर्ण होने जा रही है। उपायुक्त राकेश प्रजापति ने बताया कि विभिन्न राज्यों से अब तक छह ट्रेनों में कांगड़ा के नागरिक आए हैं जिसमें बेंगलौर से 157 नागरिक,नागपुर से 24, गोवा से 321,पुणे से 212 तथा चेन्नई से 69 और मुंबई से 248 नागरिक आए हैं जबकि तेलंगाना से 26 नागरिक आएंगे। उन्होंने कहा कि मुंबई से आए नागरिकों को परौर संस्थागत क्वारंटीन में रखा गया है जबकि चेन्नई से आए नागरिकों को ज्वालामुखी में संस्थागत क्वारंटीन में रखा गया है। उन्होंने कहा कि बाहरी राज्यों से आ रहे सभी नागरिकों के कोविड-19 के सेंपल भी लिए गए हैं। 

डाढ, फतेहपुर में भी कोविड केयर सेंटर बनाए: उपायुक्त कांगड़ा राकेश प्रजापति ने कहा कि बैजनाथ में कोविड केयर सेंटर पूरी तरह से क्रियाशील है तथा अब डाढ तथा फतेहपुर में दो कोविड केयर सेंटर स्थापित किए गए हैं। उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि जिला के विभिन्न क्षेत्रों में 20 कोविड-19 नमूना एकत्रीकरण केंद्र स्थापित किए गए हैं तथा इन केंद्रों के माध्यम से सेंपल लिए जा रहे हैं तथा अब प्रतिदिन कोविड-19 के 400 सेंपल लिए जा रहे हैं। जिला में अब 3245 सेंपल लिए जा चुके हैं।
कांगड़ा जिला में 94 संस्थागत क्वांरटीन सेंटर किए हैं निर्धारित :  कांगड़ा जिला में विभिन्न उपमंडलों में 94 क्वांरटीन सेंटर निर्धारित किए गए हैं इंदौरा उपमंडल में 11, फतेहपुर में पांच, देहरा में आठ, जयसिंहपुर में छह, ज्वालामुखी में चार, ज्वाली उपमंडल में सात, बैजनाथ उपमंडल में 18, पालमपुर उमपंडल में तीन, नगरोटा उपमंडल में तीन, कांगड़ा उपमडल में छह, धर्मशाला उपमंडल में तीन, शाहपुर में तीन, नुरपुर उपमंडल में नौ तथा धीरा उपमंडल में आठ क्वांरटीन सेंटर चिह्न्ति किए गए हैं तथा इनमें 8231 नागरिकों को ठहराने की व्यवस्था की गई है। उन्होंने कहा कि कांगड़ा जिला में कोविड-19 के संक्रमण से निपटने के लिए तैयारियां पूर्ण की गई हैं तथा किसी भी स्तर पर लापरवाही नहीं की जाएगी।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हिमाचल प्रदेश ख़बरें
हिमाचल: प्रदेशभर में रोपित होंगे 1 करोड़ 20 लाख पौधे: चौधरी धौला कुआं में आईआईएम का शिलान्यास राष्ट्रपति द्वारा शहीद के पिता की याचिका पर समुचित कार्यवाही का आश्वासन आईजीएमसी में सहायक प्रोफेसर डॉ. शिखा ने फिर रचा इतिहास होम क्वारंटीन नागरिकों की होगी तीन स्तरीय निगरानी डेढ़ साल की बेटी परिजनों के हवाले छोड़ कोविड मरीजों के इलाज में जुटीं मीना शुरू हुआ स्वचलित कार्डियोवर्टर डिफाइब्रिलेटर उपचार, अचानक होने वाले कार्डिएक अरेस्ट में है जीवनरक्षक पानी के बिलों के सीवरेज शुल्क को 50 प्रतिशत से घटाकर 30 प्रतिशत करने का निर्णय मेधावी बेटियों को प्रतियोगी परीक्षाओं की मिलेगी निशुल्क कोचिंग आवश्यक वस्तुओं के परचून विक्रय मूल्य किए निर्धारित