ENGLISH HINDI Saturday, June 19, 2021
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
तीन संगठनों ने 26 जून को इमरजेंसी का काला दिन मनाने का किया आह्वान21 जून तथा 22 जून को बिजली बंद"कोरोना से हारा" जैसे शब्दों का प्रयोग करने वाले चैनलों ने किया पद्मश्री मिल्खा सिंह का अपमान: सोशल मीडियाबलात्कार एवं हत्या मामले में आरोपी को आजीवन/ जीवनपर्यंत कारावासचंडीगढ़ के मेयर रवि कांत शर्मा के साथ लगातार चौथे महीने विधवाओं को किया मासिक राशन का वितरण 21 जून को निर्जला एकादशी ,योग दिवस और सबसे लंबा दिन एक साथ ?रोपड़ पुलिस द्वारा जाली रैमडेसिविर बनाने वाले करोड़ों रुपए के अंतरराज्यीय रैकेट का पर्दाफाशसूचना और प्रसारण मंत्रालय के जनसंपर्क ब्यूरो द्वारा अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर प्रतियोगिताओं का आयोजन
हिमाचल प्रदेश

हैदराबाद से विशेष ट्रेन से पठानकोट पहुंचे 118 हिमाचली

May 21, 2020 06:21 PM

धर्मशाला, (विजयेन्दर शर्मा) लॉकडाउन के बीच दूसरे राज्यों में फंसे लोगों की घर वापिसी का सिलसिला लगातार जारी है। तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद से आज एक विशेष ट्रेन दोपहर एक बजे 118 हिमाचलियों को लेकर पठानकोट रेलवे स्टेशन पर पहुंची। जहां पर एसडीएम डॉ सुरेन्द्र ठाकुर, नायब तहसीलदार देस राज ठाकुर सहित उपस्थित अन्य नोडल अधिकारियों ने उनका स्वागत किया। यह ट्रेन सोमवार को रात 10 बजे हैदराबाद से रवाना हुई थी।
गौरतलब है कि गत सोमवार को भी एक विशेष ट्रेन 259 हिमाचलियों को लेकर चेन्नई से पठानकोट पहुंची थी।
जानकारी देते हुए एसडीएम सुरेंद्र ठाकुर ने बताया कि इन सभी लोगों को एचआरटीसी की सात विशेष बसों के द्वारा अपने-अपने जिलों में बनाए गए संस्थागत क्वारन्टीन केंद्रों के लिए भेजा गया है।
उन्होंने बताया कि कांगड़ा ज़िला के यात्रियों को प्रशासन द्वारा कोटला में बनाए गए संस्थागत क्वारन्टीन केंद्र में भेजा गया है, जबकि अन्य जिलों के यात्रियों को उनके जिलों में बनाए गए संस्थागत क्वारन्टीन केंद्रों में रखा जाएगा, जहां पर प्रशासन द्वारा इनके ठहरने खान-पान की विशेष व्यवस्था की गई है।
उन्होंने बताया कि इस ट्रेन से कांगड़ा ज़िला के 37, मंडी के 19, शिमला व हमीरपुर ज़िला के 10-10, ऊना व सिरमौर के 7-7, कुल्लू व चंबा के 9-9, बिलासपुर के 6, जबकि सोलन जिला के 4 यात्री पहुंचे।
हैदराबाद में टूरिज्म व्यवसाय में एचएम के तौर पर काम करने वाले मंडी ज़िला के निवासी विक्की रावत जो अपनी पत्नी सपना व 4 वर्षीय बेटे पर्व रावत के साथ पठानकोट रेलवे स्टेशन पहुंचे। उन्होंने बताया कि उन्हें कभी नहीं लगता था कि लॉकडाउन के बीच वे अपने-अपने घरों में वापस पहुंच पाएंगे। इसी ट्रेन में मंडी ज़िला के यात्री गोपाल ठाकुर पत्नी हंसा ठाकुर तथा बेटे कार्तिक के साथ पहुंचे तो उन्होंने बताया कि हमारे परिवार ने अपने घर पहुंचने की उम्मीद ही छोड़ दी थी, परंतु हिमाचल प्रदेश सरकार के प्रयासों से उनका घर पहुंचने का सपना पूरा हुआ है।
शिमला ज़िला के ठियोग की प्रिंयका, इसी ज़िला के चिड़गाव तहसील के संजय, चंबा ज़िला के तीसा के छिन्दों खान के चेहरों पर देवभूमि में पहुंचने की खुशी साफ झलक रही थी। वहीं बैजनाथ तहसील के कल्याण सिंह ने अपनी पत्नी हिमा तथा बेटे सूरज के साथ पहुंचने पर बताया कि घर वापिस लौटकर बेहद खुशी हो रही है।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हिमाचल प्रदेश ख़बरें
21 जून तथा 22 जून को बिजली बंद सेंट्रल यूनिवर्सिटी को भाजपा ने राजनीति का शिकार बना कर प्रदेश की जनता से खेल खेला सहकारी समिति में 30 लाख रुपए का गबन कांगड़ा जिला में अब कोविड के एक्टिव केस 905 17 व 18 जून को टाण्डा फायरिंग रेंज में होगा फायरिंग का अभ्यास प्रदेश सरकार पर स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर हमला बोला प्रगति तथा सक्षम छात्रवृत्ति योजनाएं तकनीकी डिग्री— डिप्लोमा कोर्स करने वाली मेधावी व जरूरतमंद छात्राओं के लिए वरदान कोविड संक्रमण के मामले कम हुए पर अभी भी सावधानी जरूरी राज्य में आने वाले लोगों की कोविड ई-पास साॅफ्टवेयर के माध्यम से की जाएगी निगरानी 10 दिन तक सीयू निर्माण से जुड़ी सभी औपचारिकताएं पूरा करें विभाग: पठानिया