ENGLISH HINDI Thursday, January 28, 2021
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
एसबीपी हाउसिंग प्रोजेक्ट के आनंद टावर की नौवीं मंजिल में लगी आग मां भारती के पाठ के पश्चात कांग्रेस पूर्वांचल सेल ने लहराया तिरंगागणतन्त्र दिवस पर केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो के 30 अधिकारियों व कार्मिकों को विशिष्ट सेवा तथा सराहनीय सेवा पदक30,000 रु. की कथित धूसखोरी मामले में क्षेत्रीय श्रम आयुक्त तथा एक व्यक्ति गिरफ्तारध्वजारोहण करने बरनाला पहुंचे स्वास्थय मंत्री सिद्धू को दिखाये काले झंडेदिल्ली में कुछ अराजक तत्वों द्वारा हिंसा असहनीय, किसानों को दिल्ली की सरहदों पर लौटने की अपीलसीटीयू वार्षिक चुनाव : रेल इंजन पैनल ने शेर पार्टी को करारी शिकस्त दी धरमिंदर सिंह राही बने प्रधानचंडीगढ़ ट्रैफिक पुलिस और ओंकार चैरिटेबल ट्रस्ट ने चलाया ट्रैफिक रूल्स एंड रेगुलेशन अवेयरनेस ड्राइव
चंडीगढ़

जनहित याचिका: लॉकडाउन में स्कूलों द्वारा फीस वसूलने को हाईकोर्ट में चुनौती

May 22, 2020 01:14 PM

चंडीगढ, फेस2न्यूज:
लॉकडाउन पीरियड में प्राइवेट स्कूलों द्वारा फीस वसूले जाने के फैसले को पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट में चुनौती दी गई है। वकील पंकज चांदगोठिया की तरफ से दायर जनहित याचिका में कहा गया कि 23 मार्च-2020 से चंडीगढ़ समेत देशभर में कर्फ्यू और लॉकडाउन की स्थिति है। ऐसे में शिक्षण गतिविधियां ठप हैं। इन परिस्थितियों में कुछ स्कूल महज फीस वसूलने के अपने पक्ष को सही साबित करने के लिए ऑनलाइन क्लास रूम की व्यवस्था कर रहे हैं।   

वकील पंकज चांदगोठिया की तरफ से दायर याचिका में कहा गया कि 23 मार्च 2020 से चंडीगढ़ समेत देशभर में कर्फ्यू और लॉकडाउन की स्थिति है। ऐसे में शिक्षण गतिविधियां ठप हैं। इन परिस्थितियों में कुछ स्कूल महज फीस वसूलने के अपने पक्ष को सही साबित करने के लिए ऑनलाइन क्लास रूम की व्यवस्था कर रहे हैं।


स्कूली बच्चे ऑनलाइन शिक्षण व्यवस्था के अचानक लागू होने से पढ़ने में सहज भी नहीं है। बावजूद इसके प्राइवेट स्कूलों की तरफ से चंडीगढ़ प्रशासन के शिक्षा विभाग के साथ बैठक कर 31 मई तक स्कूल फीस वसूलने का फैसला लिया गया है। इस संबंध में इंडिपेंडेंट स्कूल एसोसिएशन की तरफ से हाईकोर्ट में याचिका भी दायर की गई है, जिस पर शुक्रवार को सुनवाई होनी है। हाईकोर्ट की सिंगल बेंच ने इस याचिका पर सुनवाई करते हुए चंडीगढ़ प्रशासन के शिक्षा विभाग से जवाब मांगते हुए कहा था कि उन्हें उम्मीद है कि मामले की अगली सुनवाई तक बैठक कर स्कूलों का पक्ष जानने के बाद इस मामले में कोई फैसला ले लिया जाएगा।
इसके बाद चंडीगढ़ प्रशासन ने प्राइवेट स्कूलों के दबाव ने 31 मई तक अभिभावकों को फीस का भुगतान करने पर सहमति दे दी। याचिका में कहा गया कि बहुत से अभिभावक ऐसे हैं, जिन्होंने लॉकडाउन अवधि के दौरान बहुत ज्यादा आर्थिक परेशानी का सामना किया है। दूसरी तरफ शहर के कई प्राइवेट स्कूल बड़े-बड़े कॉरपोरेट हाउस द्वारा संचालित किए जा रहे हैं। इन स्कूलों द्वारा 15 मार्च तक नए दाखिले कर पूरी फीस वसूली गई है। ऐसे में स्कूल पहले ही बड़ा हिस्सा अभिभावकों से वसूल चुके हैं। ऐसे में लॉकडाउन अवधि के दौरान ही 31 मई तक फीस का भुगतान करने का फैसला मनमाना और अवैध है, जिसे खारिज किया जाए।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और चंडीगढ़ ख़बरें
मां भारती के पाठ के पश्चात कांग्रेस पूर्वांचल सेल ने लहराया तिरंगा सीटीयू वार्षिक चुनाव : रेल इंजन पैनल ने शेर पार्टी को करारी शिकस्त दी धरमिंदर सिंह राही बने प्रधान चंडीगढ़ ट्रैफिक पुलिस और ओंकार चैरिटेबल ट्रस्ट ने चलाया ट्रैफिक रूल्स एंड रेगुलेशन अवेयरनेस ड्राइव जाने-माने आयुर्वैदिक डॉक्टर राजीव कपिला सम्मानित संत कबीर फाउंडेशन के स्पेशल बच्चों ने गणतंत्र दिवस के उपलक्ष पर आयोजित किए रंगारंग कार्यक्रम नाबालिग से छेड़छाड़ का मामला:बाबा देवनाथ ने बीजेपी नेता अनिल दूबे के खिलाफ शिकायत देकर फूंका पुतला पूर्व आर्मी ऑफिसर संग मनाएंगे गणतंत्र दिवस चंडीगढ़ डिफेंस एकेडमी के कैडेट्स चंडीगढ़ की नीडल फैक्ट्री ने नौकरी से निकाले 37 कर्मचारी आल कॉन्ट्रैक्चुअल कर्मचारी संघ ने मांगों के समर्थन में प्रशासन के खिलाफ की रोष रैली चंडीगढ़ पूर्वांचल एकता मंच ने मनाया गुरुपूरब