ENGLISH HINDI Saturday, August 15, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
22 अगस्त ,शनिवार को मनाएं श्री गणेश जन्मोत्सव, रखें सिद्धि विनायक व्रत, न करें चंद्र दर्शनस्वतंत्रता दिवस पर ऑनलाइन प्रतियोगिताओं का आयोजन पंजाब: 9 कृषि-रसायनों की बिक्री पर पाबन्दीए.डी.जी.पी. वरिन्दर कुमार और अनीता पुंज को विलक्षण सेवाओं के लिए राष्ट्रपति पुलिस मैडलवाराणसी में वर्चुअल माध्यम से धनवंतरी चलंत अस्पताल का शुभारंभपूंजीगत खर्च पर सीपीएसई की तीसरी समीक्षा बैठकविशिष्ट सेवा के लिए राष्ट्रपति का पुलिस पदक और सराहनीय सेवाओं के लिए आरपीएफ/आरपीएसएफ कर्मियों को पुलिस पदक से सम्मानितराष्ट्रपति ने सशस्त्र और अर्धसैनिक बलों के कार्मिकों के लिए 84 वीरता पुरस्कारों और अन्य सम्मानों की मंजूरी दी
पंजाब

पंचायती राज के चुने हुए नुमाइंदों की सुरक्षा करना सरकार का फर्ज: आप

May 22, 2020 06:13 PM

चण्डीगढ़, फेस2न्यूज:
आम आदमी पार्टी पंजाब ने राज्य की कानून व्यवस्था पर गहरी चिंता प्रकट करते हुए कहा कि अपराधी प्रवृत्ति वाले समाज विरोधी तत्वों को कानून की कोई प्रवाह नहीं है, वह दिन दिहाड़े किसी भी वारदात को अंजाम देने में हिचकिचाहट नहीं दिखाते। जिस कारण आम लोग ही नहीं पंचायती राज प्रणाली के द्वारा चुने हुए नुमाइंदे भी सुरक्षित नहीं हैं।
पार्टी की प्रवक्ता और विधायक प्रो. बलजिन्दर कौर ने कहा कि राज्य के ज़्यादातर पंच सरपंच डर व भयभीत हैं। पंचों-सरपंचों के प्रतिनिधिमंडल को मुख्यमंत्री से लेकर विपक्ष के नेताओं तक अपनी सुरक्षा के बारे में पहुंच करनी पड़ रही है। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह को फतेहगढ़ साहिब जिले से सम्बन्धित पंचों-सरपंचों और समिति सदस्यों के प्रतिनिधिमंडल की तरफ से अपनी सुरक्षा के लिए मांग पत्र मुख्यमंत्री को देने के लिए बेबस होना सरकार के लिए बेहद शर्मनाक है।
प्रो. बलजिन्दर कौर ने कहा कि ग्राम पंचायत हलोताली, मालूहेड़ा, सराणा, मुक्खेपुर, नलिनी, छलेड़ी खुर्द, ताणा, मुहम्मदीपुर, छलेड़ी कलां, पंजोली खुर्द, अमरगड़, पंजोली कलां, नलिना खुर्द, बागडिय़ां, गुणीया माजरा, पटियाला जिले के ग्राम पंचायत चलैला, लग्ग, रौंगला, नन्दपुर केशो और एस.ए.एस नगर जिले की मछली कलां, झंजेड़ी, सुवाड़ा, चूहड़ माजरा, पत्तो आदि पंचायतों ने पटियाला, अमृतसर और अन्य जिलों में सरपंचों की हुई हत्याओं और पंचायती नुमाइंदों पर लॉकडाउन के दौरान हुए हमले की चिंता प्रकट करते हुए मुख्यमंत्री के पास चुने हुए पंचों, सरपंचों और समिति सदस्यों की सुरक्षा की गुहार लगाई है।
प्रो. ने कहा कि राज्य की खोखली राज्य व्यवस्था के मद्देनजर इन चुने हुए नुमाइंदों की चिंता जायज है। जिसके लिए मुख्य मंत्री को राज्य की कानून व्यवस्था सुधारने के लिए ठोस कदम उठाने चाहिएं, क्योंकि गृह मंत्री की जिम्मेदारी भी मुख्यमंत्री के पास है।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
पंजाब: 9 कृषि-रसायनों की बिक्री पर पाबन्दी ए.डी.जी.पी. वरिन्दर कुमार और अनीता पुंज को विलक्षण सेवाओं के लिए राष्ट्रपति पुलिस मैडल मंत्रियों को छूट, आम लोगों को बताया जा रहा कोरोना है महामारी मुख्यमंत्री द्वारा नकली शराब मामले में डी.जी.पी. को भद्दे ढंग से निशाना बनाने के लिए मजीठिया की कड़ी आलोचना माईक्रो और सीमित ज़ोनों में 100 प्रतिशत टेस्टिंग के निर्देश पटियाला में लगने वाले धरने लोगों की जान के लिए बने खतरा: सिंगला स्कूल के ऑनलाइन पेंटिंग और निबंध प्रतियोगिता 13 अगस्त को जन्माष्टमी की रात कफ्र्यू में ढील सरकारी स्कूलों में दाखि़ले के लिए ट्रांसफर सर्टिफिकेट की बन्दिश ख़त्म करने की हिदायत कोविड के मद्देनजऱ 4000 तक और कैदी रिहा किये जाएंगे: रंधावा