ENGLISH HINDI Wednesday, December 02, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
समुद्र में कम दबाव क्षेत्र की संभावित स्थिति को लेकर एनसीएमसी के साथ बैठकबहादुर सीमा प्रहरी कठिन भौगोलिक स्थिति और विषम परिस्थितियों के बावजूद पूरी मुस्तैदी से कर रहे हैं देश की सीमाओं की रक्षासात पुलिस कर्मियों विरुद्ध केस दर्ज, 65000 रुपए की रिश्वत लेने वाले 4 पुलिस कर्मी गिरफ्तारम्युनिसीपल चुनाव के मद्देनजर वोटर सूचियों के संशोधन कार्यक्रम जारीआंदोलनकारी किसानों की सेवा में ‘आप’ ने तैनात किए सेवादाररेजिडेंट्स वेलफेयर एसोसिएशंस ने उठाई मनीमाजरा से अगले मेयर की मांग पंजाब के शिक्षा व सेहत क्षेत्र में विकास में एनआरआई भाईचारे का अहम योगदानशिमला में शीघ्र ही स्थापित किया जाएगा आॅक्सीजन प्लांट: भारद्वाज
राष्ट्रीय

भारत के स्वास्थ्य मंत्री डा. हर्षवर्धन बने विश्व स्वास्थ्य संगठन के कार्यकारी बोर्ड के चेयरमैन

May 23, 2020 12:26 PM

नई दिल्ली, फेस2न्यूज:
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के कार्यकारी बोर्ड के चेयरमैन के रूप प्रभार ग्रहण कर लिया है। इनका कार्यकाल तीन साल होगा। कार्यकारी बोर्ड में 34 तकनीकी रूप से योग्य सदस्य शामिल हैं। डब्‍ल्‍यूएचओ कार्यकारी बोर्ड का मुख्य कार्य हेल्‍थ असेंबली की ओर से लिए गए निर्णय और नीतियों को लागू करना तथा इसके कार्य को सुविधाजनक बनाना होता है। भारत के स्वास्थ्य मंत्री का डब्ल्यूएचओ में कार्यकारी बोर्ड का चेयरमैन बनना भारत की एक बहुत बड़ी हिस्सेदारी के तौर पर देखा जा रहा है।
पदभार संभालने के बाद केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कोविड-19 महामारी जैसे संकट ने विश्व स्तर पर सार्वजनिक स्वास्थ्य में फिर से ऊर्जा भरने के लिए वैश्विक साझेदारी मजबूत करने की जरूरत को रेखांकित किया है।
चीन के वुहान में कोरोना वायरस के विकसित होने के कारणों और उसके बाद बीजिंग द्वारा उठाए गए कदमों की जांच की मांग को लेकर अमेरिकन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप सहित दुनिया के कई नेता आवाज उठाते रहे हैं। ऐसे समय में हर्षवर्धन 34 सदस्यीय विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के एक्जिक्युटिव बोर्ड के चेयरमैन बनाए गए हैं। ट्रंप के डब्ल्यूएचओ को चेतावनी देने के बाद संयुक्त राष्ट्र स्वास्थ्य निकाय के भीतर तनाव चरम पर है। अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप ने डब्ल्यूएचओ की सदस्यता पर नए सिरे से विचार करने को कहा है कि अगले 30 दिनों में यदि वह चीन से अपनी स्वतंत्रता प्रदर्शित करने में विफल रहा तो उसकी वित्तीय मदद स्थायी रूप से रोक दी जाएगी।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और राष्ट्रीय ख़बरें
समुद्र में कम दबाव क्षेत्र की संभावित स्थिति को लेकर एनसीएमसी के साथ बैठक बहादुर सीमा प्रहरी कठिन भौगोलिक स्थिति और विषम परिस्थितियों के बावजूद पूरी मुस्तैदी से कर रहे हैं देश की सीमाओं की रक्षा आंदोलनकारी किसानों की सेवा में ‘आप’ ने तैनात किए सेवादार बोर्ड ऑफ ट्रेड की बैठक 2 दिसम्‍बर को गुरुनानक देव जी की सीखें हर काल में प्रासंगिक रहेंगी राष्ट्रपति आर्मी गार्ड बटालियन के औपचारिक बदलाव समारोह के गवाह बने पेंशनभोगियों के जीवन प्रमाण पत्र जमा कराने की समय सीमा को 28 फरवरी 2021 तक बढ़ाया “स्कूली पाठ्यक्रम में शामिल हो विज्ञान संचार” किसानों की इच्छा अनुसार कुंडली में सुविधाओं का प्रबंध करने का ‘आप’ सरकार का दावा क्या विकलांगता केवल शारीरिक ही होती है?