ENGLISH HINDI Monday, July 06, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
पंजाब

लापरवाही: अस्पताल से रैफर हुई नवजन्मी बच्ची को लिटाया कोरोना सैंपल ले जा रही वैन में

June 03, 2020 07:16 PM

प्राईवेट एंबुलेंस और सरकारी गाड़ी के रुकने एवं घटित घटनाक्रम के फुटेज सीसीटीवी कैमरो में हुए कैद।

बरनाला, अखिलेश बंसल/करन अवतार।
जिला के सिविल अस्पताल के जच्चा-बच्चा से पटियाला रैफर हुए नवजात बच्ची को एक प्राईवेट एंबुलेंस चालक ने पैसा बचाने के लिए ख़ुद जाने की बजाय कोरोना सैंपल लेकर पटियाला जा रही सरकारी वैन में लिटा दिया। उसके साथ ही उसके परिवार वालों को भी बिठा दिया गया।

दोनों गाड़ीयां 01 जून की शाम के करीब साढ़े सात बजे आईटीआई चौक के नजदीक रुक गई। जहां दोनों गाडिय़ों के चालकों ने आपस में पहले कुछ बातचीत की। फिर प्राईवेट एंबुलेंस वाले ने रैफर की बच्ची को कोरोना सैंपलों वाली गाड़ी में लिटा दिया, इसके साथ ही नवजन्मी बच्ची के परिवार के दोनों सदस्यों को भी बिठा दिया गया।

 इससे पहले कि यह घटना भेद बनकर रह जाती घटना के फुटेज सीसीटीवी कैमरो में कैद हो गए। जिसका खुलासा शोशल मीडिया पर वायरल हुई वीडियो से हुआ है। गौरतलब है कि कोरोना वायरस के सैंपलों को लेबॉरट्री तक पहुंचाने के लिए निर्धारित तापमान के मद्देनजर समय की सीमा का ख्याल रखना पड़ता है, जिससे कोल्डचेन प्रभावित ना हो सके।
यह बताया मामला -
सिविल अस्पताल के जच्चा-बच्चा कक्ष से मिली जानकारी के मुताबिक 31 मई को गांव बीहला निवासी रुकसाना नामक महिला की कोख से एक बच्ची ने जन्म लिया था। पैदा हुई बच्ची का वजन कम था, जिसे ऑक्सीजन की कमी होने पर बरनाला के सिविल अस्पताल के डाक्टरों की टीम ने 01 जून की शाम को पटियाला राजिंदरा अस्पताल के लिए रैफर कर दिया था। परिवार वालों को मौके पर कोई सरकारी एंबूलेंस का प्रबंध नहीं होने पर उन्हें प्राईवेट एंबुलेंस का सहारा लेना पड़ा। जैसे ही वह वैन बरनाला से रवाना हुई, उसी दौरान कोरोना वायरस के संदिग्ध सैंपलों की जांच के लिए एक कोविड-19 वैन भी पटियाला के लिए रवाना हो गई।

दोनों गाड़ीयां 01 जून की शाम के करीब साढ़े सात बजे आईटीआई चौक के नजदीक रुक गई। जहां दोनों गाडिय़ों के चालकों ने आपस में पहले कुछ बातचीत की। फिर प्राईवेट एंबुलेंस वाले ने रैफर की बच्ची को कोरोना सैंपलों वाली गाड़ी में लिटा दिया, इसके साथ ही नवजन्मी बच्ची के परिवार के दोनों सदस्यों को भी बिठा दिया गया।

वायरल हुई वीडियो नंबर-2 के अनुसार पटियाला रैफर की गई बच्ची की परिवारिक महिला ने बताया है कि बरनाला से निकलते ही बच्ची और उसके वारिसों को दूसरी वैन में शिफट कर दिया था। एंबुलेंस वाले ने हमारे लोगों से पैसे तो लिए हैं, परन्तु कितने लिए हैं इस बारे में जानकारी नहीं।

लेकिन अब की जाएगीं जांच: एसएमओ

सीनियर मैडीकल अफसर डॉक्टर तपिन्दरजोत कौशल (ज्योति कौशल) का कहना है कि घटना की सूचना उनके पास भी पहुंची थी। जिसके आधार पर संबन्धित वैन के चालक को बुलाया गया था, जिसने अपना स्पष्टीकरण दिया है कि गाड़ी में आक्सीजन सिलेंडर खत्म हो गया था। जिस करके गाड़ी बदलने की जरूरत पड़ी। परन्तु अब वायरल हुई वीडियो को देखकर मामला गलत लगता है। जिसकी बारीकी से जांच की जाएगी।
मामला गंभीर :डीसी
डिप्टी कमिश्नर बरनाला तेज प्रताप सिंह फुलका का कहना है कि मामला गंभीर है। जिसके बारे में सिविल सर्जन से रिपोर्ट मांगी जाएगी।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
अस्पतालों का नाम ‘माई दौलतां जच्चा-बच्चा अस्पताल’ रखने का फैसला पंजाब में प्रवेश के लिए ई-रजिस्ट्रेशन हुआ अनिवार्य कोरोना महामारी: जागरूकता के लिए गाड़ीयों में ‘फट्टियाँ’ लगाने की मुहिम डॉक्टरी शिक्षा और अनुसंधान: वर्तमान सैशन के सभी कोर्सों के लिए ली जाएंगी परीक्षाएं खजाने में सेंधमारी- फिर भी तरफदारी गुरुपूर्णिमा पर तथास्तु चैरिटेबल सोसायटी ने लिया गुरु "स्वामी पंचानंद गिरी महाराज" का आशीर्वाद डॉक्टरों का मनोबल ऊपर उठाने के लिए रैप गायक रिखी रील आए आगे विद्यार्थियों की परीक्षा डेटशीट में बदलाव अंतर्राज्यीय नशा तस्करी गिरोह का मुख्य सप्लायर साथी सहित काबू बसों एवं कार्यालयों में कैसे रखें सावधानियां