ENGLISH HINDI Saturday, July 04, 2020
Follow us on
 
पंजाब

माह तक 6 एमसीएच अस्पताल कार्यशील कर दिए जाएंगे: सिद्धू

June 05, 2020 10:01 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
राज्य स्तरीय मीटिंग डायरैक्टर स्वास्थ्य और परिवार कल्याण पंजाब, सैक्टर 34-ए, चण्डीगढ़ के कार्यालय में हुई।
मीटिंग की अध्यक्षता करते हुये स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिद्धू ने बताया कि गर्भवती महिलाओं और बच्चों को मानक स्वास्थ्य सेवाएंं देने के लिए एसडीएच दसूहा (जि़ला होशियारपुर), समाना, राजपुरा (पटियाला), खन्ना (लुधियाना), नकोदर (जालंधर) और पठानकोट में नये बने 30 बिस्तरों वाले एमसीएच अस्पताल अगले माह तक मुकम्मल तौर पर कार्यशील कर दिए जाएंगे।   

मेडीकल, पैरा मेडीकल तथा अन्यों के 7055 खाली पद भरने की तैयारी


सिद्धू ने कहा कि राज्य भर में मानक स्वास्थ्य सेवाओं को यकीनी बनाने के लिए कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार मैडीकल, पैरा मैडीकल और अन्यों के 7055 खाली पद भरने जा रही है। इन पदों में मौजूदा समय में खाली पड़े पद, पदोन्नति के बाद खाली होने और 30 सितम्बर, 2020 को सेवा काल में वृद्धि पर काम कर रहे मुलाजिमों की फारगी के बाद खाली होने वाले पद शामिल हैं। उन्होंने कहा कि वह(स्वास्थ्य मंत्री) अगली कैबिनेट मीटिंग में भर्ती की प्रक्रिया शुरू करने सम्बन्धी मंज़ूरी लेने के लिए फाइल पेश करेंगेे।
मंत्री ने स्पष्ट किया कि आम जनता को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएंं प्रदान करने के लिए अलग अलग विशेषताओं वाली डाक्टरी सहूलतें, जिनको आम तौर पर माहिर कैडर में मंज़ूरी नहीं दी जाती जैसे मैडीकल अफ़सर (माईक्रोबायोलोजी), मैडीकल अफ़सर (एसपीएम), मैडीकल अफ़सर (फोरेंसिक मैडिसन) को शामिल किये जाने सम्बन्धी भी कैबिनेट की मीटिंग में विचारा जायेगा जिससे राज्य के ग्रामीण इलाकों के अस्पतालों को और समर्थ बनाया जा सके।
नये जि़ला शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में 732 नयी पद स्थापित करने, जि़ला जालंधर, लुधियाना और अमृतसर में नये बने 11 शहरी सी.एच.सीज़ में 528 पदों को भरने संबंधी भी विचार विमर्श किया गया।
कोविड -19 सम्बन्धी तैयारियों का जायज़ा लेते हुये मंत्री ने कहा कि पंजाब मार्च, 2020 से कोरोना वायरस के खतरे से लड़ रहा है। अब तक 2461 मरीज़ों की कोविड -19 सम्बन्धी जांच पॉजिटिव पाई गई है और 2069 मरीज़ ठीक हुए जोकि 80 प्रतिशत से भी अधिक बनता है। उन्होंने डायरैक्टर (स्वास्थ्य सेवाएं)डा. अवनीत कौर को हिदायत की कि वह कोरोना मरीज़ों के सभी संपर्कों की व्यापक ट्रेसिंग और टेस्टिंग को यकीनी बनाएं।
डा. अवनीत कौर ने मीटिंग में बताया कि राज्य में निगरानी को और बढ़ाने के लिए समूह सिवल सर्जनों को निर्देश जारी किये गए हैं। उन्होंने कहा कि राज्य भर में 30 साल से अधिक आयु के सभी लोगों और सह -रोगों वाले या लक्षण वाले 30 साल से कम उम्र के व्यक्तियों की हाऊस टू हाऊस निगरानी पहले ही एक मोबाइल आधारित एप्लीकेशन पर शुरू की जा चुकी है।
स्वास्थ्य मंत्री ने राज्य प्रोग्राम अफ़सर, आईडीएसपी को हिदायत की कि राज्य में डेंगू, मलेरिया और अन्य वैकटर बोर्न रोगों की जांच और प्रबंधन की तैयारी को यकीनी बनाया जाये। उन्होंने यह भी हिदायत की कि आईडीएसपी प्रोग्राम में स्टाफ की कमी को दूर करने के लिए नये स्टाफ की भर्ती की जाये। सरबत सेहत बीमा योजना, माँ और बाल स्वास्थ्य प्रोग्राम, मानसिक स्वास्थ्य प्रोग्राम, मुखयमंत्री कैंसर राहत कोष योजना, टीबी प्रोग्राम और केयर कंपेंन प्रोग्राम जैसे प्रमुख प्रोग्रामों पर भी विचार विमर्श किया गया।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें