ENGLISH HINDI Sunday, August 09, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
कमलम् में हुए कार्यक्रम में नियमों की धज्जियां उड़ाने पर राज नागपाल ने की कड़ी निंदाचंडीगढ़ नगर निगम के कर्मचारी काम छोड़ कलाई की घड़ियों का करेंगे विरोध भारतीय क्रिएटिव यूनिटी ने उठाया वायरल डर को लेकर जागरूकता का बीड़ारेहड़ी—फड़ी वालों ने कब्जा कर लोगों के लिए की परेशानी खड़ी, ना मास्क— ना ही सोशल डिस्टेंसिंगभाजपाइयों द्वारा कोविड नियमों की अवेहलना करने पर ग्रह मंत्रायल से की शिकायतस्वतंत्रता दिवस पर देखो अपना देश वेबिनार श्रृंखला के अंतर्गत पांच वेबिनारों का आयोजनजिन विक्रेताओं के पास पहचान पत्र और विक्रय प्रमाणपत्र नहीं, उन्हें पीएम स्वनिधि योजना में शामिल करने हेतु अनुशंसा पत्र मॉड्यूल लॉन्चजो पढ़ेगा वो लिखेगा, जो लिखेगा वो बचेगा
पंजाब

झूठी डोप टैस्ट रिपोर्टें, फर्जी हैंडीकैप्ड सर्टीफिकेट और झूठी एम.एल.आर. देने वाले तीन कर्मी काबू

June 17, 2020 01:20 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
पंजाब विजीलैंस ब्यूरो ने बड़ी कार्यवाही करते हुये झूठी डोप टैस्ट रिपोर्टें जारी करने, फर्जी हैंडीकैप्ड सर्टीफिकेट देने, डाक्टरी रिपोर्टों (एम.एल.आर) में हेराफेरी करके लड़ाई के दौरान चोटों की किस्म में बदलाव करने और आयुषमान भारत जन स्वास्थ्य योजना के अंतर्गत बड़े स्तर पर रिश्वत लेने वाले मानसा अस्पताल के तीन मुलाजिमों को काबू करके बड़े स्कैंडल का पर्दाफाशकिया है।   

10,000 रुपए लेकर कर देता था डोप टैस्ट का पॉजिटिव की जगह नेगेटिव नतीजा- बी.के. उप्पल

विजीलैंस ब्यूरो के मुख्य डायरैक्टर-कम-ए.डी.जी.पी. श्री बी.के उप्पल ने यह खुलासा करते हुये बताया कि सिविल अस्पताल, मानसा के कर्मचारियों द्वारा विभिन्न तरीकों से धाँधलियां करके भ्रष्टाचार किया जा रहा है। इस संबंधी विजीलैंस ब्यूरो को प्राप्त सूचना के आधार पर पिछले 4 महीने से चलाए ऑपरेशन के दौरान जानकारी हासिल हुई कि विजय कुमार लैब टैकनीशियन, दर्शन सिंह फार्मासिस्ट और तेजिन्दरपाल शर्मा वित्त कम लॉजिस्टिक अफ़सर (एफ.एल.ओ)के द्वारा लोगों को झूठी डोप टैस्ट रिपोर्ट जारी करने, फर्जी हैंडीकैप्ड सर्टीफिकेट जारी करवाने, एम.एल.आरज़ में हेराफेरी करके चोट की किस्म में बदलाव करने और आयुषमान भारत जन स्वास्थ योजना के अंतर्गत बड़े स्तर पर रिश्वत ले रहे थे।
उन्होंने बताया कि परमजीत सिंह विर्क, सीनियर कप्तान पुलिस, विजीलैस ब्यूरो, बठिंडा रेंज, बठिंडा के नेतृत्व अधीन विजीलैंस ब्यूरो, बठिंडा रेंज की टीम द्वारा कार्यवाही करते हुए उक्त तीनों दोषियों के विरुद्ध धारा 420, 465, 467, 468, 471, 120 -बी, आई.पी.सी, 7,13 (1) (ए) भ्रष्टाचार रोकथाम कानून के अधीन मुकदमा दर्ज करके गिरफ्तार किया गया है।
श्री उप्पल ने बताया कि यह कर्मचारी कुछ प्राईवेट अस्पतालों के मालिकों /डाक्टरों के साथ मिल कर आयुषमान भारत जन स्वास्थ योजना के अंतर्गत मरीजों के केस सिविल अस्पताल मानसा में से प्राईवेट अस्पतालों को इलाज के लिए रैफर कर देते थे, इस तरह इस योजना का दुरुपयोग करते हुए यह कर्मचारी उन मामलों में भी बड़े स्तर पर रिश्वतें हासिल करते थे।
उन्होंने यह भी खुलासा किया कि सिविल अहस्पताल मानसा में डोप टैस्ट करवाने के लिए आए व्यक्तियों में से जिन व्यक्तियों के नतीजे पॉजिटिव आते थे, उनसे करीब 10,000 /-रुपए प्रति व्यक्ति रिश्वत के तौर पर हासिल करके डोप टैस्ट का पॉज़ेटिव नतीजा बदल कर नेगेटिव कर दिया जाता था। इस प्रकार कई नशेड़ी व्यक्ति भी हथियार लायसंस बनवाने और रीन्यू करवाने में सफल हो जाते थे। उन्होंने बताया कि सिविल और पंजाब पुलिस में नौकरी करते कई अधिकारी /कर्मचारी जो नशे के आदी हो चुके थे, वह भी रिश्वत देकर डोप टैस्ट में पास हो जाते थे।
विजीलैंस प्रमुख ने बताया कि इसके अलावा इन दोषियों की तरफ से लड़ाई -झगड़े के दौरान अस्पताल में दाखि़ल होने वाले लोगों से डाक्टरों की मिलीभुगत से रिश्वत हासिल करके चोट की किस्म (नेचर ऑफ इंजरी) तक भी बदल दी जाती थी। यह कर्मचारी अपने पद का दुरुपयोग करते हुए लोगों को फर्जी हैंडीकैंपड सर्टिफिकेट बनवा कर देने के एवज़ में भी उनसे लाखों रुपए रिश्वत हासिल कर रहे थे।
श्री उप्पल ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग में अहम पदों पर काम करते यह कर्मचारी लोगों की जि़ंदगी के साथ खिलवाड़ करते थे और गलत डोप टैस्ट करके समाज पर बुरा प्रभाव डाल रहे थे। इसके अलावा उन्होंने बताया कि इस केस में गिरफ्तार किये दोषियों से गहराई से पूछताछ की जा रही है और अस्पताल के सम्बन्धित रिकॉर्ड को पढ़ा जा रहा है। आगे की जाँच जारी है यदि और जो कोई भी कोई दोषी पाया जाता है तो उसे भी नहीं बक्शा जायेगा।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
रेहड़ी—फड़ी वालों ने कब्जा कर लोगों के लिए की परेशानी खड़ी, ना मास्क— ना ही सोशल डिस्टेंसिंग सीचेवाल मॉडल की तर्ज पर 15 गांवों की नुहार बदलने का लक्ष्य मेडीकल अधिकारियों के 323 पदों के लिए इंटरव्यू द्वारा की जायेगी भर्ती पुलिस द्वारा कार्यवाही, 400 किलो लाहन, पाँच किश्तियां बरामद 197 मामलों में 135 दोषियों की अवैध शराब और मॉड्यूलों में गिरफ्तारी, मौतों की संख्या हुई 113 बाजवा और दूलो को कांग्रेस से तुरंत बाहर निकालने की मांग 5,000 रुपए की रिश्वत लेते ए.एस.आई रंगे हाथों दबोचा नक्शे अब किये जाएंगे सिर्फ ऑनलाईन पोर्टल द्वारा मंज़ूर नौकरी की खोज कर रहे नौजवानों के लिए खोले नये रास्ते नकली शराब: शामिल व्यक्तियों के विरुद्ध धारा 302 के अंतर्गत कत्ल केस दर्ज के आदेश