ENGLISH HINDI Thursday, August 06, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
नकली शराब: शामिल व्यक्तियों के विरुद्ध धारा 302 के अंतर्गत कत्ल केस दर्ज के आदेशवृद्ध महिला को घर से निकालने का मामला: महिला आयोग ने सीनियर पुलिस कप्तान खन्ना से माँगी रिपोर्ट5 सदियों बाद 5 अगस्त को अभिजित मुहूर्त में राम जन्म भूमि पूजन, राम राज्य की ओर अग्रसर भारतकोविड-19 के कारण गिरावट दर 9.26 प्रतिशत रहीपंजाब: मुख्य चुनाव अधिकारी द्वारा डिजिटल माध्यम से स्वीप गतिविधियों की शुरूआतश्री राम जन्मभूमि निर्माण की ख़ुशी में सैंकड़ों दिए जलाकर मनाई दीपावलीपेट्रोल— डीजल के थोक और खुदरा विपणन का अधिकार नियमों को बनाया सरलजनशिकायतों निपटारे के लिए आईआईटी कानपुर तथा प्रशासनिक सुधार और लोकशिकायत विभाग के साथ त्रिपक्षीय करार
चंडीगढ़

मिली एक नई जिम्मेदारी नया दायित्व, आईसीएसई की बनी राष्ट्रीय सचिव

July 03, 2020 08:36 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
केंद्र शाषित प्रदेश चंडीगढ़ की मिस काजल मंगलामुखी को उनके द्वारा समाजहित में किये गए कार्यो के लिए भारतीय खेल एवं शिक्षा परिषद (आईसीएसई) के राष्ट्रीय अध्य्क्ष मा अरविंद चित्तोरिया ने कोर समिति से बात कर काजल मंगलामुखी को संगठन में राष्ट्रीय सचिव का पदभार देकर मनोनयन किया है। राष्ट्रीय सचिव बनने पर काजल ने बताया कि संगठन खेल एवं शिक्षा के क्षेत्र में समाज के हर वर्ग के लिए भारत के 20 राज्यो में कार्य कर रहा है। जिससे हमारा समाज भी अछूता नहीं है। हम भी चाहते हैं कि हमारा समाज भी खेल व शिक्षा के क्षेत्र में भी अपने समाज का नाम रोशन करे। अब हम ताली बजाना नहीं अपने लिए ताली बजवाना चाहते है। और कहा कि वह चंडीगढ़ ट्रांसजेंडर वेलफेयर बोर्ड की सदस्य व मंगलामुखी वेलफेयर एसोसिएशन की अध्य्क्ष भी है।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और चंडीगढ़ ख़बरें
आनलाइन तीज सेलीब्रेशन मेें काम्या शर्मा ने जीता खिताब तथास्तु चैरिटेबल सोसायटी की बच्चों की चार दिवसीय कार्यशाला सम्पन्न दड़वा में लागू हुआ प्रधानमन्त्री का "घर-घर जल" मिशन, धर्मेंद्र सिंह सैनी ने आभार जताया सावन के आखिरी सोमवार सेक्टर 46 सनातन धर्म मंदिर में उमड़ी भक्तों की भीड़ भाई बहन के प्यार का सर्वश्रेष्ठ बंधन रक्षा बंधन महिलाओं ने ओल्ड ऐज होम में बजुर्गों और पुलिस चौकी में पुलिस कर्मियों को बाँधी राखी राखी के मौके घर में रह कर बनाईं सुंदर राखियां सभी ने मनाई एक साथ ईद तो बन गई मिसाल युगदृष्टा लेखक थे प्रेमचंद, अपनी चेतनता एवं चिंतनशीलता से किया सत्य साबित खस्ता हाल सड़कों को लेकर रोष, शीघ्र मुरम्मत की उठी मांग