ENGLISH HINDI Wednesday, August 12, 2020
Follow us on
 
पंजाब

बरगाड़ी-बहबल कलां कांड में लोगों की कचहरी के मुख्य आरोपी हैं बादल: मान

July 09, 2020 07:29 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
आम आदमी पार्टी पंजाब के अध्यक्ष व सांसद भगवंत मान ने श्री गुरु ग्रंथ साहिब की बरगाड़ी में हुई बेअदबी और बहबल कलां-कोटकपूरा गोलीकांड के संवेदनशील मामले में केंद्र की और पंजाब की कैप्टन सरकार पर मामले को लटकाने और बादलों को बचाने के गंभीर आरोप लगाए हैं।
पार्टी द्वारा जारी बयान में मान ने बहबल कलां गोलीकांड में विशेष जांच दल की जांच रोकने के लिए सीबीआई की तरफ से मोहाली की अदालत में अर्जी दायर करने पर सख्त ऐतराज किया है। भगवंत मान ने सीबीआई के इस कदम को बादलों को बचाने के लिए मोदी सरकार के इशारे पर की गई कार्रवाई करार दिया है।
मान ने आरोप लगाया कि बादलों की सीधी मिलीभुगत के साथ सरकार सीबीआई के द्वारा और रणबीर सिंह खटड़ा की एसआईटी द्वारा कैप्टन इस मामले के संदर्भ में बहुत गंभीरता के साथ जांच कर रही कुंवर विजय प्रताप सिंह वाली विशेष जांच दल को रास्ते से हटाने की कोशिशें कर रहे हैं।
मान ने सीबीआई के इस कदम को अनावश्यक बताते हुए कहा कि जब पंजाब विधानसभा सीबीआई से यह केस वापस ले चुकी है और खुद सीबीआई एक बार कलोजर रिपोर्ट दाखिल कर चुकी है तो सीबीआई अब क्यूं इस मामले में दखल-अन्दाजी कर रही है?
मान ने इसी तरह रणबीर सिंह खटड़ा की बार-बार पुनर्विचार की जा रही एसआईटी पर भी सवाल उठाते हुए कहा कि जो एसआईटी बेअदबी और बरगाड़ी कांड के मुख्य आरोपियों (बादलों) की तरफ से अपनी सरकार के समय गठित की गई थी और जिस रणबीर सिंह खटड़ा का पुत्र सतवीर सिंह खटड़ा पटियाला (देहाती) से अकाली दल (बादल) का उम्मीदवार और बादल परिवार का करीबी हो, उस विशेष जांच दल से इंसाफ की क्या उम्मीद लगाई जा सकती है?
मान ने कहा कि कैप्टन और मोदी सरकार बादलों को बेअदबी और बहबल कलां-कोटकपूरा गोलीकांड से बचाने के लिए बेशक जितनी मर्जी कोशिशें कर ले, परंतु लोगों की कचहरी में बादल आरोपी साबित हो चुके हैं। इसलिए जो भी बादलों को बचाने की कोशिश करेगा उसे जनता की कचहरी में उसी तरह सजा मिलेगी, जैसे 2017 के चुनाव में लोगों ने बादलों को दी थी।
मान ने कहा कि दुनिया भर में बसे समूची नानक नाम लेवा संगत श्री गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी और बहबल कलां-कोटकपूरा गोलीकांड मामले के असली आरोपियों को सजा चाहती है, बेशक वह कितने भी ताकतवर या रसूखदार क्यों न हों।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
जन्माष्टमी की रात कफ्र्यू में ढील सरकारी स्कूलों में दाखि़ले के लिए ट्रांसफर सर्टिफिकेट की बन्दिश ख़त्म करने की हिदायत कोविड के मद्देनजऱ 4000 तक और कैदी रिहा किये जाएंगे: रंधावा ‘ऐजूकेशन हब्ब’ के तौर पर विकसित होगा मोहाली, यूनिवर्सिटी की स्थापना के लिए ‘लैटर ऑफ इनटैंट’ जारी सेना के गुम हुए जवान सतविंदर कुतबा के परिवार को अभी भी वापस आने की उम्मीद शहीदों को याद करना मतलब युवा पीढ़ी को जागरूक करना रेहड़ी—फड़ी वालों ने कब्जा कर लोगों के लिए की परेशानी खड़ी, ना मास्क— ना ही सोशल डिस्टेंसिंग सीचेवाल मॉडल की तर्ज पर 15 गांवों की नुहार बदलने का लक्ष्य मेडीकल अधिकारियों के 323 पदों के लिए इंटरव्यू द्वारा की जायेगी भर्ती पुलिस द्वारा कार्यवाही, 400 किलो लाहन, पाँच किश्तियां बरामद