ENGLISH HINDI Thursday, September 24, 2020
Follow us on
 
व्यापार

एम.ई.टी.एल क्षेत्र में जापानी कंपनी टीसुजुकी का बड़ा निवेश

July 12, 2020 11:34 AM

चण्डीगढ़, फेस2न्यूज:

 कोरोना काल के दौर में जापानी कंपनी टीसुजुकी रिलायंस एम.ई.टी क्षेत्र में 75 करोड़ निवेश के लिए पूरी तरह से तैयार है। तीसरी जापानी फर्म टीसुजुकी इंडिया प्रिसिजन एलएलपी अपनी विस्तार योजना के तहत रिलायंस मेट में 6 एकड़ में अपने उद्योग को स्थापित करेगी। जापानी बहुराष्ट्रीय कंपनी आईएसओ 9001:2015 व आईएटीएफ 16949 के प्रमाणीकरण के साथ ऑटोमाबाईल उद्योग के लिए ‘‘स्टेरिंग निकल्स’’ का निर्माण करेगी।

जापानी कंपनी के प्रबंध संचालक ईइची ओया ने बताया कि यह नई इकाई अक्टूबर 2021 तक अपना उत्पादन 100 कर्मचारियों के साथ झज्जर क्षेत्र में शुरू कर देगी। उन्होंने यह जानकारी दी कि इस उद्योग में निर्मित कलपुर्जे घरेलू और निर्यात बाजार के लिए बनाए जायेगें। ओया ने समयबद्ध दस्तावेज और सूचारू प्रक्रिया की दिशा में किये जा रहे प्रयास हेतु रिलायंस मेट और हरियाणा सरकार का आभार व्यक्त किया।

जापानी कंपनी के प्रबंध संचालक ईइची ओया ने बताया कि यह नई इकाई अक्टूबर 2021 तक अपना उत्पादन 100 कर्मचारियों के साथ झज्जर क्षेत्र में शुरू कर देगी। उन्होंने यह जानकारी दी कि इस उद्योग में निर्मित कलपुर्जे घरेलू और निर्यात बाजार के लिए बनाए जायेगें। ओया ने समयबद्ध दस्तावेज और सूचारू प्रक्रिया की दिशा में किये जा रहे प्रयास हेतु रिलायंस मेट और हरियाणा सरकार का आभार व्यक्त किया।

 

रिलायंस समूह के मुख्य कार्यकारी अधिकारी वल्लभ गोयल ने बताया कि टीसुजुकी इंडिया द्वारा व्यापारिक निवेश करने से भारत तथा जापान दोनों देशों के व्यापार में पारस्परिक मेल बढ़ेगा तथा राज्य प्रगति पथ पर अग्रसर होगा। उन्होंने कहा कि एमईटी क्षेत्र के विकास से क्षेत्र में आर्थिक प्रगति आएगी तथा स्थानीय लोगों को रोजगार के अवसर प्राप्त होगें।
मॉडल इकोनोमिक टाउनशिप में इस समय 7 कम्पनियों पैनासोनिक इंडिया, डेंसो, रिलायंस रीटेल, ऑलकार्गो, फिल्पकार्ट, अमेजन, इंडो स्पेस, तिरूपति और अम्बर जैसे अग्रणी संस्थानों ने उत्पादन कार्य प्रारंभ कर दिया है तथा कुछ और इकाइंयों का निर्माण कार्य चल रहा है। सरकार भी क्षेत्र के आर्थिक विकास हेतु विभिन्न प्रयास कर रही है जिसमें परिवहन की सुविधा, पानी की उपलब्धता तथा रोड का विस्तार मुख्य कार्य है।

इसके अलावा 120 से अधिक कंपनियों ने अपनी विनिर्माण इकाइयों की स्थापना के लिए एग्रीमेंट किये है, ये इकाइयां आने वाले दो वर्षो में अपनी निर्माण गतिविधियां शुरू करेंगी। मॉडल इकोनोमिक टाउनशिप में कार्यरत कंम्पनियों में इस समय लगभग 5000 से अधिक आदमी कार्यरत है, इसमें से लगभग 30 प्रतिशत हरियाणा के मूल निवासी है। क्षेत्र में विभिन्न कंम्पनियों के आने से हर वर्ष लगभग 5000 स्थानीय नवयुवकों को रोजगार के सुनहरे अवसर प्राप्त होगे साथ ही क्षेत्र में लोगों को अपना स्वरोजगार प्रारंभ करने का मौका मिलेगा, जिससे इस क्षेत्र के आर्थिक प्रगति आएगी।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और व्यापार ख़बरें
बनारस सिल्क साडि़यों का केन्द्र— साडि़यों की विशेषताएं स्टार्टअप इंडिया कंपनी ने पेश किया "लियोज ऑक्सी वाटर" कोविड बीमारी से लडऩे व इम्युनटी बढ़ाने हेतु मिल्कफैड द्वारा वेरका हल्दी दूध लांच विप्रो ने लान्च किया सेफवाश एंटी-जर्म लिक्विड डिटरजैंट कोविड 19 के कहर के बीच लॉंच किया होम्योपैथिक सेनेटाइजर "बलिस 99" द टॉप थाई ब्रांड्स 2020 का चंडीगढ़ के हिमाचल भवन में हुआ उद्घाटन उषा ने दो नये इंडक्शन कुकटॉप्स लांच किए एनर जेईई अकैडमी की सकारात्मक पहल, गरीब बच्चों को मिलेगी फ्री कोचिंग ट्राईसिटी में घर बैठे राशन पंहुचायेगा जीवाला डॉट.इन ग्रॉसरी स्टोर माइंड, बॉडी और स्किन के लिए नैचुरल पेय औरिक स्मार्ट बनायेगा चंडीगढ़ वासियो को