ENGLISH HINDI Saturday, August 08, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
कमलम् में हुए कार्यक्रम में नियमों की धज्जियां उड़ाने पर राज नागपाल ने की कड़ी निंदाचंडीगढ़ नगर निगम के कर्मचारी काम छोड़ कलाई की घड़ियों का करेंगे विरोध भारतीय क्रिएटिव यूनिटी ने उठाया वायरल डर को लेकर जागरूकता का बीड़ारेहड़ी—फड़ी वालों ने कब्जा कर लोगों के लिए की परेशानी खड़ी, ना मास्क— ना ही सोशल डिस्टेंसिंगभाजपाइयों द्वारा कोविड नियमों की अवेहलना करने पर ग्रह मंत्रायल से की शिकायतस्वतंत्रता दिवस पर देखो अपना देश वेबिनार श्रृंखला के अंतर्गत पांच वेबिनारों का आयोजनजिन विक्रेताओं के पास पहचान पत्र और विक्रय प्रमाणपत्र नहीं, उन्हें पीएम स्वनिधि योजना में शामिल करने हेतु अनुशंसा पत्र मॉड्यूल लॉन्चजो पढ़ेगा वो लिखेगा, जो लिखेगा वो बचेगा
पंजाब

रिक्शा द्वारा जरूरतमन्द महिलाओं को बनाया जायेगा आत्मनिर्भर

July 12, 2020 11:44 AM

चंडीगढ़/होशियारपुर, फेस2न्यूज:
रोजगार मिशन के अंतर्गत महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए सरकार की तरफ से जरूरतमन्द महिलाओं को होशियारपुर में ई-रिक्शा दिए जा रहे हैं। यह विचार उद्योग और वाणिज्य मंत्री, पंजाब सुन्दर शाम अरोड़ा ने रौशन ग्राउंड होशियारपुर में करीब 50 लाख रुपए की लागत से 38 महिलाओं को मुफ्त ई-रिक्शा सौंपते हुए प्रकट किये। इस दौरान उनके साथ डिप्टी कमिश्नर श्रीमती अपनीत रियात भी मौजूद थे।
कैबिनेट मंत्री ने कहा कि दिव्यांग, तलाकशुदा, विधवा और अन्य जरूरतमन्द महिलाओं को ई-रिक्शा प्रदान करने के लिए कोका कोला सी.एस.आर. फंड के अंतर्गत यह बेहतरीन पहल की गई है, जिसमें जिला प्रशासन की तरफ से बाखूबी अपनी जिम्मेदारी को निभाया गया है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के फैलाव से पहले ही प्रशासन की तरफ से समर्थ महिला, विकसित समाज प्रोग्राम के द्वारा महिलाओं के चयन के लिए इंटरव्यू ले लिया गया था और चुनी र्गइं महिलाओं को मुफ्त प्रशिक्षण मुहैया करवाने के बाद लाइसेंस भी बनवाया जा चुका है।
श्री सुन्दर शाम अरोड़ा ने कहा कि ई-रिक्शा के लिए चार्जिंग पुआइंट फायर ब्रिगेड के साथ बनाई गई पार्क में स्थापित किया गया है, इसके अलावा ई-रिक्शा के लिए पार्किंग पुआइंट जी.एम. रोडवेज दफ्तर के बाहर बनाया गया है। इस दौरान उन्होंने उक्त सभी महिलाओं से बातचीत की और उनकी सराहना करते हुए कहा कि उनकी तरफ से गई यह शानदार पहल अन्य महिलाओं के लिए भी मिसाल बनेगी। उन्होंने कहा कि इन सभी ई-रिक्शों को एक ऐप के द्वारा जोड़ा जायेगा, जिससे इनकी लोकेशन के बारे में पता चलता रहे और महिला पुलिस अधिकारी को इस सम्बन्धी जिम्मेदारी सौंपी जायेगी, जिससे इन सभी महिलाओं की सुरक्षा को यकीनी बनाया जा सके।
डिप्टी कमिश्नर श्रीमती अपनीत रियात ने कहा कि जरूरतमन्द महिलाओं को सौंपे गए ई-रिक्शा से उनके हौसले के साथ-साथ उनकी आर्थिकता को भी उत्साह मिलेगा। उन्होंने कहा कि इस प्रोजैक्ट के अंतर्गत महिला सशक्तिकरण को एक नयी दिशा और ऊर्जा मिली है। उन्होंने कहा कि जिला रोजगार और कारोबार ब्यूरो के द्वारा इस पूरे प्रोजैक्ट को सफलतापूर्वक संपन्न किया गया है। डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि प्रसाशन की तरफ से जरूरतमन्द महिलाओं को पैरों पर खड़ा करने के लिए प्रोग्राम चलाया जा रहा है। उन्होंने सभी लाभार्थी महिलाओं को विश्वास दिलाया कि प्रशासन की तरफ से उनकी सुरक्षा को लेकर पुख्ता प्रबंध किये जाएंगे और उनको कोई समस्या नहीं आने दी जायेगी।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
रेहड़ी—फड़ी वालों ने कब्जा कर लोगों के लिए की परेशानी खड़ी, ना मास्क— ना ही सोशल डिस्टेंसिंग सीचेवाल मॉडल की तर्ज पर 15 गांवों की नुहार बदलने का लक्ष्य मेडीकल अधिकारियों के 323 पदों के लिए इंटरव्यू द्वारा की जायेगी भर्ती पुलिस द्वारा कार्यवाही, 400 किलो लाहन, पाँच किश्तियां बरामद 197 मामलों में 135 दोषियों की अवैध शराब और मॉड्यूलों में गिरफ्तारी, मौतों की संख्या हुई 113 बाजवा और दूलो को कांग्रेस से तुरंत बाहर निकालने की मांग 5,000 रुपए की रिश्वत लेते ए.एस.आई रंगे हाथों दबोचा नक्शे अब किये जाएंगे सिर्फ ऑनलाईन पोर्टल द्वारा मंज़ूर नौकरी की खोज कर रहे नौजवानों के लिए खोले नये रास्ते नकली शराब: शामिल व्यक्तियों के विरुद्ध धारा 302 के अंतर्गत कत्ल केस दर्ज के आदेश