ENGLISH HINDI Sunday, August 09, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
कमलम् में हुए कार्यक्रम में नियमों की धज्जियां उड़ाने पर राज नागपाल ने की कड़ी निंदाचंडीगढ़ नगर निगम के कर्मचारी काम छोड़ कलाई की घड़ियों का करेंगे विरोध भारतीय क्रिएटिव यूनिटी ने उठाया वायरल डर को लेकर जागरूकता का बीड़ारेहड़ी—फड़ी वालों ने कब्जा कर लोगों के लिए की परेशानी खड़ी, ना मास्क— ना ही सोशल डिस्टेंसिंगभाजपाइयों द्वारा कोविड नियमों की अवेहलना करने पर ग्रह मंत्रायल से की शिकायतस्वतंत्रता दिवस पर देखो अपना देश वेबिनार श्रृंखला के अंतर्गत पांच वेबिनारों का आयोजनजिन विक्रेताओं के पास पहचान पत्र और विक्रय प्रमाणपत्र नहीं, उन्हें पीएम स्वनिधि योजना में शामिल करने हेतु अनुशंसा पत्र मॉड्यूल लॉन्चजो पढ़ेगा वो लिखेगा, जो लिखेगा वो बचेगा
पंजाब

पंजाब में सार्वजनिक भीड़ पर मुकम्मल रोक

July 14, 2020 01:08 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
पंजाब सरकार ने कोविड के विरुद्ध लड़ाई और तेज़ करते हुये सभी सार्वजनिक भीड़ पर मुकम्मल रोक लगा दी है। इसके साथ ही सार्वजनिक सभा को पाँच व्यक्तियों तक और विवाह/अन्य सामाजिक समागमों में 50 की बजाय 30 व्यक्तियों की सभा तक सीमित कर दिया है।
यह मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह की तरफ से किये ऐलान के मुताबिक जारी किये संशोधित दिशा-निर्देशों का हिस्सा हैं।
सार्वजनिक जलसा करने पर लगाईं रोकों का उल्लंघन करने वालों के विरुद्ध लाजि़मी एफ.आई.आर. दर्ज की जायेगी जिसको अब सख्ती से न -मंज़ूर किया गया है। सरकार द्वारा जारी किये विस्तृत नोटिफिकेशन के मुताबिक पुलिस और सिविल प्रशासन की साझी टीमें सामाजिक सभा (सभी जिलों में लागू धारा 144 के अधीन पाँच तक सीमित) के साथ-साथ विवाहों और सामाजिक समागमों पर रोकों की सख्ती से पालना करवाएँगी। मैरिज पैलेसों /होटलों के प्रबंधकों को जि़म्मेदार ठहराया जायेगा और नियमों का उल्लंघन होने की सूरत में लायसेंस की मुअत्तली का सामना करना पड़ेगा। इससे आगे मैरिज पैलेसों /होटलों /अन्य व्यापारिक स्थानों के प्रबंधकों को यह प्रमाणित करना होगा कि अंदरूनी स्थानों से हवा की निकासी के लिए उचित बंदोबस्त किये गए हैं।
राज्य सरकार आई.आई.टी. चेन्नई के माहिरों के साथ मिल कर निगरानी और बढ़ाएगी और उन भीड़ों जिनके कारण गत में यह रोग फैला है, की निशानदेही के लिए तकनीक का प्रयोग करेगी जिससे अगामी कदम उठाने के लिए सीख मिल सके।
नये दिशा-निर्देशों के मुताबिक काम वाले स्थानों /कार्यालयों/तंग स्थानों में मास्क पहनना लाजि़मी कर दिया गया है। एयर कंडीशनिंग और हवादारी /हवा के चक्र पर स्वास्थ्य विभाग की एडवाइजरी की सख्ती से पालना करने के भी आदेश दिए गए हैं। दिशा-निर्देशों के मुताबिक कार्यालयों में सार्वजनिक कामकाज को ज़रूरत आधारित और आपात मसलों को निपटाने तक सीमित किया जा सकता है और मंत्रीमंडल की तरफ से हाल ही प्रवानित ऑनलाइन सार्वजनिक शिकायत निपटारा प्रणाली को और ज्यादा प्रसिद्ध और प्रयोग में लाना चाहिए।
कोविड के लिए संशोधित प्रबंधन और सीमित रणनीति के मुताबिक एसोसिएशनों के माँग पत्रों की व्यावहारिक पेशकारी नहीं होगी, चाय परोसने आदि से गुरेज़ किया जायेगा और काम वाली जगह पर पाँच से अधिक व्यक्तियों का मीटिंग करना भी वर्जित होगा।
स्वास्थ्य के बुनियादी ढांचे के पूरे सामथ्र्य के अनुसर प्रयोग को यकीनी बनाने के लिए बिना लक्षण वाले /कम प्रभावित मरीज़ों, जिनको अन्य गंभीर बीमारियां /समस्याएँ न हों, उनको ज़रूरत अनुसार कोविड इलाज केन्द्रों /घरेलू एकांतवास में रखा जायेगा। दूसरे और तीसरे दर्जो की सुविधाओं वाले बैड ऐसे मरीज़ों के इलाज के लिए नहीं इस्तेमाल किये जाएंगे। इससे आगे, दूसरे और तीसरे दर्जो की सुविधा वाले व्यक्ति, जिसको इसकी और ज़रूरत न हो, को इससे निचले स्तर की इलाज सुविधा के लिए रैफर किया जायेगा।
राज्य सरकार की तरफ से यह स्पष्ट किया गया है कि निजी इलाज केन्द्रों के साथ समझौते का यह मतलब नहीं कि सरकार के द्वारा बाद के पड़ाव पर रैफर किये जाने वाले मरीज़ों के लिए अब से ही बैड रोक लिए जाएँ, इसके अंतर्गत सरकार की तरफ से सिर्फ रैफर किये गए मरीज़ों के लिए अदा करने योग्य चार्ज ही मुहैया करवाए जाएंगे।
डिप्टी कमीशनरों /पुलिस कमीशनरों /जि़ला पुलिस मुखियों की तरफ से यह लाजि़मी तौर पर यकीनी बनाया जायेगा कि सभी अस्पताल जो कोविड से प्रभावित मरीज़ों का इलाज कर सकते हों, बैडों की उपलब्धता संबंधी जानकारी मुहैया करवाने और किसी भी कोविड पॉजिटिव मरीज़ को इलाज से मना नहीं करेंगे।
मानसून सीजन के दौरान पानी के साथ होने वाली बीमारियों के खतरे को ध्यान में रखते हुये राज्य सरकार ने साफ़ -सफ़ाई की मुहिम का फ़ैसला किया है जिसको शहरी स्थानीय निकाय संस्थाओं और पंचायती राज्य संस्थायों द्वारा चलाया जायेगा जिससे डेंगू/वैकटर बार्न बीमारियों को रोका जा सके।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
रेहड़ी—फड़ी वालों ने कब्जा कर लोगों के लिए की परेशानी खड़ी, ना मास्क— ना ही सोशल डिस्टेंसिंग सीचेवाल मॉडल की तर्ज पर 15 गांवों की नुहार बदलने का लक्ष्य मेडीकल अधिकारियों के 323 पदों के लिए इंटरव्यू द्वारा की जायेगी भर्ती पुलिस द्वारा कार्यवाही, 400 किलो लाहन, पाँच किश्तियां बरामद 197 मामलों में 135 दोषियों की अवैध शराब और मॉड्यूलों में गिरफ्तारी, मौतों की संख्या हुई 113 बाजवा और दूलो को कांग्रेस से तुरंत बाहर निकालने की मांग 5,000 रुपए की रिश्वत लेते ए.एस.आई रंगे हाथों दबोचा नक्शे अब किये जाएंगे सिर्फ ऑनलाईन पोर्टल द्वारा मंज़ूर नौकरी की खोज कर रहे नौजवानों के लिए खोले नये रास्ते नकली शराब: शामिल व्यक्तियों के विरुद्ध धारा 302 के अंतर्गत कत्ल केस दर्ज के आदेश