ENGLISH HINDI Wednesday, August 12, 2020
Follow us on
 
पंजाब

जनता की जेबें काटने की बजाए माफिया की लूट रोके सरकार: आप

July 15, 2020 02:17 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
आम आदमी पार्टी पंजाब ने आरोप लगाया है कि प्रदेश में धड़ल्ले से हो रहे अवैध खनन को सरकार का सीधा संरक्षण है। यही कारण है कि सरकारी खजाने के लिए रोजाना नए टैक्स लगा कर जनता की जेबें तो काट रही है, परंतु रेत माफिया की अंधी लूट नहीं रोकी जा रही।
पार्टी द्वारा जारी बयान में विधायक अमन अरोड़ा और पार्टी के प्रवक्ता और विधायक मीत हेयर ने शरेआम हो रही नाजायज खनन के मुद्दे पर कैप्टन सरकार को आड़े हाथों लिया।
अरोड़ा ने कहा कि प्रदेश में कोई भी अवैध धंधा या नाजायज खनन सरकार के संरक्षण के बिना संभव नहीं। श्री अनन्दपुर साहिब, रोपड़, नवां शहर, लुधियाना, जगरावां और मोहाली में बड़े स्तर पर हो रही अवैध खनन के लिए सीधा मुख्य मंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह को जिम्मेदार ठहराते हुए अमन अरोड़ा ने कहा कि रेत माफिया को मुख्य मंत्री खुद संरक्षण दे रहे हैं, यही कारण है कि नैशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) की तरफ से रेत कारोबारियों को नाजायज खनन के कारण लगाए करोड़ों रुपए के जुर्माने भी सरकार वसूल नहीं रही।
अरोड़ा ने विधान सभा सदन में दर्ज रिकार्ड के हवाले से कहा कि अकाली-भाजपा के रेत माफिया की सूची मुख्य मंत्री के पास होने के बावजूद रेत माफिया पर कोई कार्यवाही साढ़े तीन सालों में कैप्टन सरकार ने नहीं की।
मीत हेयर ने कहा कि कैप्टन ने चुनाव के समय श्री गुटका साहिब की कसम लेकर बेशक अकाली-भाजपा सरकार के सभी ‘माफिए’ को खत्म करने का प्रण लिया था, परंतु सत्ता में आ कर कैप्टन ने सुखबीर सिंह बादल और बिक्रम सिंह मजीठिया के माफिया की कमान ही खुद संभाल ली। यही कारण है कि बसों के किराए, डीजल-पेट्रोल, बिजली, रजिस्टरियां-इंतकाल आदि महंगे करके लोगों पर रोज नया बोझ खजाना भरने के नाम पर डाल दिया जाता है। परंतु सरकारी खजाने की अंधी लूट कर रहे माफिया को खुला छोड़ रखा है।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
जन्माष्टमी की रात कफ्र्यू में ढील सरकारी स्कूलों में दाखि़ले के लिए ट्रांसफर सर्टिफिकेट की बन्दिश ख़त्म करने की हिदायत कोविड के मद्देनजऱ 4000 तक और कैदी रिहा किये जाएंगे: रंधावा ‘ऐजूकेशन हब्ब’ के तौर पर विकसित होगा मोहाली, यूनिवर्सिटी की स्थापना के लिए ‘लैटर ऑफ इनटैंट’ जारी सेना के गुम हुए जवान सतविंदर कुतबा के परिवार को अभी भी वापस आने की उम्मीद शहीदों को याद करना मतलब युवा पीढ़ी को जागरूक करना रेहड़ी—फड़ी वालों ने कब्जा कर लोगों के लिए की परेशानी खड़ी, ना मास्क— ना ही सोशल डिस्टेंसिंग सीचेवाल मॉडल की तर्ज पर 15 गांवों की नुहार बदलने का लक्ष्य मेडीकल अधिकारियों के 323 पदों के लिए इंटरव्यू द्वारा की जायेगी भर्ती पुलिस द्वारा कार्यवाही, 400 किलो लाहन, पाँच किश्तियां बरामद