ENGLISH HINDI Saturday, September 19, 2020
Follow us on
 
पंजाब

कोविड-19 के कारण गिरावट दर 9.26 प्रतिशत रही

August 04, 2020 07:30 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
पंजाब का जुलाई 2020 महीने के दौरान कुल जी.एस.टी. राजस्व 1103.31 करोड़ रुपए रहा। पिछले साल इसी महीने का कुल जी.एस.टी. राजस्व 1215.99 करोड़ था, जोकि इस साल 9.26 प्रतिशत की गिरावट को दर्शाता है।
ध्यान देने योग्य है कि कोविड-19 के कारण करदाताओं को फरवरी, मार्च और अप्रैल 2020 के महीनों की रिटर्न भरने के लिए राहत प्रदान की गई थी और पिछले साल 5 करोड़ से कम टर्न ओवर वाले करदाताओं को सितम्बर 2020 तक रिटर्न भरने में ढील दी गई है।
यह जानकारी देते हुए पंजाब के कर कमिश्नर कार्यालय के एक प्रवक्ता ने बताया कि अप्रैल से जुलाई 2020 के दौरान पंजाब का कुल जी.एस.टी. राजस्व 2643.28 करोड़ रुपए था जबकि पिछले साल इसी समय के दौरान कुल जी.एस.टी. राजस्व 4252.03 करोड़ रुपए था। इस तरह 37.83 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है।
सरकारी प्रवक्ता ने आगे जानकारी देते हुए बताया कि जुलाई 2020 के महीने सुरक्षित राजस्व 2403 करोड़ है जिसमें से पंजाब राज्य ने 1103.31 करोड़ रुपए प्राप्त किये हैं, जोकि कुल सुरक्षित राजस्व का 46 प्रतिशत बनता है। इस तरह जुलाई 2020 के महीने के लिए बकाया मुआवजे की रकम 1299.69 करोड़ है। जुलाई के महीने में राज्य को मार्च 2020 महीने के मुआवजे के तौर पर 1077.35 करोड़ प्राप्त हुए हैं। अप्रैल से जून 2020 के समय के दौरान मुआवजे की रकम 5669 करोड़ है, जोकि अभी तक प्राप्त नहीं हुई है।
जी.एस.टी. के अलावा पंजाब राज्य को वैट और सी.एस.टी. से भी टैक्स /राजस्व प्राप्त होता है। वैट और सी.एस.टी. एकत्रित करने में प्रमुख योगदान करने वाले उत्पाद शराब और पाँच पैट्रोलियम उत्पाद हैं। जुलाई 2020 के महीने में वैट और सी.एस.टी. की कुलैक्शन 482.37 करोड़ है, जबकि जुलाई 2019 के महीने के लिए यह कुलेक्शन 519.82 करोड़ थी। जुलाई महीने का राजस्व पिछले साल के इसी महीने में वैट और सी.एस.टी. राजस्व की अपेक्षा 7.2 प्रतिशत कम है। अप्रैल से जुलाई 2020 के लिए वैट और सी.एस.टी. कुल राजस्व 1492.65 करोड़ रहा है जोकि पिछले साल के इसी अवधि के लिए 2002.21 करोड़ था, जोकि 25.44 प्रतिशत की गिरावट को दर्शाता है।
यह जिक्रयोग्य है कि राष्ट्रीय सकल जी.एस.टी. राजस्व संग्रह जुलाई 2020 के महीने के दौरान 87422 करोड़ रुपए है, जिसमें सी.जी.एस.टी. की 16,147 करोड़, एस.जी.एस.टी. 21418 करोड़ रुपए, आई.जी.एस.टी. 42592 करोड़ रुपए (सामान के आयात पर एकत्रित किए 20324 करोड़ रुपए) और सैस 7265 करोड़ है। जबकि जुलाई 2019 के महीने के दौरान राष्ट्रीय सकल जी.एस.टी. राजस्व 1,02,083 करोड़ रुपए एकत्रित हुआ, जिसमें से सी.जी.एस.टी. 17,912 करोड़ था, एस.जी.एस.टी. की 25008 करोड़ और आई.जी.एस.टी. 50612 करोड़ (सामान के आयात पर एकत्रित किये 24246 करोड़) और सैस 8551 करोड़ (सामान के आयात पर एकत्रित किये 797 करोड़) था।
उन्होंने आगे बताया कि जुलाई 2020 के महीने के दौरान राष्ट्रीय सकल जी.एस.टी. राजस्व पिछले साल के इस महीने के एकत्रित हुए जी.एस.टी. राजस्व का 86 प्रतिशत है। इसके अलावा आयात की गई वस्तुओं पर घरेलू लेन-देन से राष्ट्रीय सकल जी.एस.टी. राजस्व पिछले साल इसी महीने के आंकड़ों का क्रमवार 84 प्रतिशत और 86 प्रतिशत रहा है। अप्रैल से जुलाई 2020 के समय के दौरान राष्ट्रीय सकल जी.एस.टी. राजस्व पिछले साल के इसी अवधि के कुल जी.एस.टी. राजस्व 4,16,175 करोड़ के मुकाबले 2,72,662 करोड़ रुपए रहा हैै, जोकि 35 प्रतिशत की गिरावट को दर्शाता है।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
बठिंडा फार्मा पार्क मेडिसन सैक्टर में चीन का एकाधिकार तोड़ेगा: मनप्रीत बादल यूनिवर्सिटिज के लिए क्षेत्र की शर्त में छूट का फैसला केंद्र सरकार की ‘विशाल ड्रग पार्क स्कीम’ के लिए पंजाब करेगा प्रयास जीरकपुर में भारी भरकम बिजली बिलों से लोगों को लगा जोरदार 'करंट' एटीएम नहीं बदला न ही किसी ने ओटीपी मांगा, फिर भी बैंक खाते से हवा हुए 24,500 बाबा बंदा सिंह बहादुर के 350वें जन्म दिवस पर सार्वजनिक अवकाश का ऐलान पुलिस द्वारा बाल अधिकार और सुरक्षा ऑनलाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित 26वीं वाहिनी, भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल द्वारा फिट इंडिया फिडम रन का आयोजन मसाज पार्लर की आड़ में फल-फूल रहा है जिस्मफरोशी का धंधा, पुलिस तमाशबीन स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा पंजाब अचीवमेंट सर्वे के लिए डेटशीट जारी