ENGLISH HINDI Thursday, September 24, 2020
Follow us on
 
राष्ट्रीय

पूंजीगत खर्च पर सीपीएसई की तीसरी समीक्षा बैठक

August 14, 2020 08:30 PM

नई दिल्ली, फेस2न्यूज:
केंद्रीय वित्त एवं कॉरपोरेट कार्य मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने चालू वित्त वर्ष में पूंजीगत खर्च की समीक्षा करने के लिए आज शिपिंग, सड़क परिवहन एवं राजमार्ग, आवास व शहरी कार्य एवं रक्षा मंत्रालयों और दूरसंचार विभाग के सचिवों तथा इन मंत्रालयों से संबंधित 7 सीपीएसई (केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रम) के सीएमडी के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस की। यह कोविड-19 महामारी के मद्देनजर आर्थिक विकास को नई गति देने के लिए विभिन्न हितधारकों के साथ वित्त मंत्री की बैठकों की मौजूदा श्रृंखला में तीसरी बैठक थी।
इन 7 सीपीएसई हेतु वित्त वर्ष 2020-21 के लिए संयुक्त पूंजीगत खर्च लक्ष्य 124824 करोड़ रुपये है। वित्त वर्ष 2019-20 में 7 सीपीएसई के लिए 1,29,821 करोड़ रुपये के पूंजीगत खर्च लक्ष्य के सापेक्ष खर्च 1,14,730 करोड़ रुपये यानी 88.37% का हुआ। वित्त वर्ष 2019-20 की पहली तिमाही के दौरान उपलब्धि यानी खर्च 20,172 करोड़ रुपये (15.53%) का था और जुलाई 2020 तक (वित्त वर्ष 2020-21) तक उपलब्धि यानी खर्च 24,933 करोड़ रुपये (20%) है।
वित्त मंत्री ने संबंधित सचिवों से सीपीएसई के कार्य-प्रदर्शन की बारीकी से निगरानी करने को कहा, ताकि वित्त वर्ष 2020-21 की दूसरी तिमाही के आखिर तक पूंजीगत परिव्यय के 50% तक पूंजीगत खर्च सुनिश्चित किया जा सके और इसके लिए उचित योजना बनाई जा सके।
भारतीय अर्थव्यवस्था के विकास को गति देने में सीपीएसई की महत्वपूर्ण भूमिका का उल्लेख करते हुए वित्त मंत्री ने सीपीएसई को अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए बेहतर प्रदर्शन करने के साथ-साथ यह सुनिश्चित करने के लिए प्रोत्साहित किया कि वित्त वर्ष 2020-21 के लिए उन्हें प्रदान किए गए पूंजीगत परिव्यय को सही ढंग से और समय के भीतर व्‍यय किया जाए। उन्होंने कहा कि सीपीएसई के बेहतर प्रदर्शन से अर्थव्यवस्था को कोविड-19 के प्रभाव से उबरने में काफी हद तक मदद मिल सकती है।
सीपीएसई ने विशेषकर कोविड-19 महामारी के कारण अपने समक्ष मौजूद विभिन्‍न बाधाओं पर चर्चा की। वित्त मंत्री ने कहा कि असाधारण परिस्थितियों में असाधारण प्रयासों की आवश्यकता होती है और सामूहिक प्रयासों से हम न केवल बेहतर प्रदर्शन करेंगे, बल्कि भारतीय अर्थव्यवस्था की भी व्‍यापक मदद बेहतर परिणाम हासिल करने में करेंगे।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और राष्ट्रीय ख़बरें
‘आनन्द वन’ का लोकापर्ण, हल्द्वानी और ऋषिकेश में बनाये जा रहे हैं थीम बेस्ड सिटी पार्क कोरोना पॉजिटिव आने से विधानसभा अध्यक्ष नहीं हो पाएंगे सदन में उपस्थित भारतीय रेलवे मना रही है 'स्वच्छता पखवाड़ा' 5 राज्यों का कुल सक्रिय मामले 60 फीसदी, नए मामले 52 फीसदी और रिकवरी दर 60 फीसदी जम्मू कश्मीर को फिर से धरती का स्वर्ग और भारत माता के मुकुट की मणि बनाएँ: राष्ट्रपति कोविन्द कृषि विधेयक परित होने पर प्रधानमंत्री ने कहा, 'बधाई हो' सुशासन और जीरो टाॅलरेंस आन करप्शन सरकार की प्राथमिकता मुख्यमंत्री रावत वो यात्रा जो सफलता से अधिक संघर्ष बयाँ करती है एम्स हैलीपैड परकिसी भी हिस्से से आने वाली हैलीसेवा की लैंडिंग संभव कोविड 19 से औद्योगिक गतिविधियां प्रभावित, नई संभावनाएं भी विकसित हुईः मुख्यमंत्री