ENGLISH HINDI Saturday, October 31, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
उच्च गुणवत्ता वाला मलमल का मास्क लांचफसलों के अवशेष किसानों के लिए एक प्रकार से सोना, जलाने की बजाय उचित प्रबंधन चाहिएनिजी सुरक्षा एजेंसी लाइसेंसिंग प्रक्रिया 1 नवंबर से होगी ऑनलाइनबिजनेस रिफॉर्म एक्शन प्लान 31 दिसंबर तक शत-प्रतिशत कार्यान्वयन के निर्देश1 नवंबर को हरियाणा दिवस के अवसर पर करनाल में होगा राज्य स्तरीय समारोहशराब तस्करी पर शिकंजा, 1080 अंग्रेजी शराब की बोतलें से लदे ट्रक सहित एक गिरफ्तारहवाई अड्डों के विस्तार से हिमाचल में पर्यटन क्षेत्र को मिलेगा नया आयामः मुख्यमंत्री जेईई मेन्स पेपर में फर्जीवाड़े का पर्दाफाश: टॉपर, उसके पिता और तीन अन्य आरोपियों को गिरफ्तार किया
राष्ट्रीय

जी-20 देशों के मंत्रियों की बैठक में कोविड-19 से उत्पन्न समस्याओं का हल मिलकर ढूंढने की जरूरत

September 12, 2020 11:25 AM

नई दिल्ली, फेस2न्यूज:
श्रम एवं रोजगार राज्यमंत्री संतोष गंगवार ने कोविड-19 महामारी के चलते पैदा हुई समस्याओं का समाधान ढूंढने के लिए सभी जी-20 देशों से मिलकर काम करने का आह्वान किया। श्री गंगवार जी-20 देशों के श्रम एवं रोजगार मंत्रियों की एक वर्चुअल बैठक को वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से कल शाम को संबोधित कर रहे थे।
उन्होंने रेखांकित किया कि कोविड-19 महामारी ने हमारे काम करने के तौर-तरीकों को बदल दिया है। कोविड-19 महामारी के प्रभाव को नियंत्रित करने के उपायों का जिक्र करते हुए उन्होंने भारत के उन प्रयासों को रेखांकित किया जिसके अंतर्गत कामगारों की समस्याओं का निराकरण करने के लिए भारत में कार्य प्रदाताओं को मजदूरों का भुगतान करने के लिए प्रोत्साहन दिया गया है। श्री गंगवार ने यह भी कहा कि प्रवासी मजदूरों को तत्काल सहायता उपलब्ध कराने के लिए भारत में अस्थाई शिविर बनाए गए, खाद्य एवं दवाओं की आपूर्ति का प्रबंध किया गया। श्री गंगवार ने बैठक में यह भी बताया कि भारत में ‘एक राष्ट्र-एक राशन कार्ड’ योजना का आरंभ किया। जी-20 देशों की बैठक में कोविड-19 और इसके दुष्प्रभावों पर विचार-विमर्श किया गया और श्रम बाजार पर कोविड-19 के प्रभावों को कम करने के उपायों का घोषणा पत्र में जिक्र किया गया।
श्री गंगवार ने जी-20 यूथ रोड मैप 2025 विकसित करने के लिए सऊदी प्रेसिडेंसी के प्रयासों की सराहना की। युवाओं से जुड़े संकेतकों का जिक्र जी-20 मंच पर पहली बार हुआ है। इससे श्रम बाजार में युवाओं की प्रगति का आकलन करने में मदद मिलेगी। श्री गंगवार ने यह भी कहा कि भारत का दृढ़ विश्वास है कि नवाचार, नव उद्यमिता और उद्योग जगत को प्रोत्साहन युवाओं के विकास के लिए महत्वपूर्ण हैं।
उन्होंने कहा कि भारत में औपचारिक क्षेत्रों में प्रभावी और वित्तीय रूप से व्यवहार्य व्यवस्था के तहत सामाजिक सुरक्षा का दायरा बढ़ाया गया है। अनौपचारिक क्षेत्रों के कामगारों को सामाजिक सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए स्वैच्छिक पेंशन योजना की शुरुआत की गई है जिसमें सरकार का भी समान योगदान होगा।
सार्वभौमिक रूप से प्रासंगिक विषय लैंगिक समानता के इस वर्ष भी जी-20 के लिए महत्वपूर्ण होने की सराहना करते हुए उन्होंने बताया कि भारत में महिला कामगारों को खनन क्षेत्र सहित सभी स्थापित क्षेत्रों में काम करने की अनुमति दी गई है, बशर्ते इसमें उनकी सहमति और सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा गया हो। श्री गंगवार ने कहा कि महिला नव उद्यमियों को प्रोत्साहन देने के लिए बिना किसी गारंटी के ऋण देने की व्यवस्था शुरू की गई है जिससे वो अपना व्यवसाय आरंभ कर सकें।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और राष्ट्रीय ख़बरें
उच्च गुणवत्ता वाला मलमल का मास्क लांच जेईई मेन्स पेपर में फर्जीवाड़े का पर्दाफाश: टॉपर, उसके पिता और तीन अन्य आरोपियों को गिरफ्तार किया प्रशासन से बाजारों में स्थाई पार्किंग बनाने की मांग राज्य उपभोक्ता झगड़ा निवारण आयोग का बिल्डर के प्रति रवैया सख्त पहली बार रात्रि में आयोग ने जारी किया आदेश, इसकी वजह यहां जानिए 15-वें वित्त आयोग ने रिपोर्ट पर विचार-विमर्श पूरा गुजरात के केवडिया में आरोग्य वन, आरोग्य कुटीर, एकता मॉल और बाल पोषण पार्क का उद्घाटन किया प्रधानमंत्री मोदी ने आई.आई.टी. रोपड़ ने नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया के साथ दो एमओयू साइन किए नहरों में 29 अक्तूबर से 5 नवंबर तक पानी छोडऩे का प्रोग्राम जारी वैज्ञानिक डॉ. सतीश मिश्रा, राष्ट्रीय आयुर्विज्ञान अकादमी के "डॉ तुलसी दास चुघ अवार्ड" से सम्मानित