ENGLISH HINDI Saturday, October 31, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
उच्च गुणवत्ता वाला मलमल का मास्क लांचफसलों के अवशेष किसानों के लिए एक प्रकार से सोना, जलाने की बजाय उचित प्रबंधन चाहिएनिजी सुरक्षा एजेंसी लाइसेंसिंग प्रक्रिया 1 नवंबर से होगी ऑनलाइनबिजनेस रिफॉर्म एक्शन प्लान 31 दिसंबर तक शत-प्रतिशत कार्यान्वयन के निर्देश1 नवंबर को हरियाणा दिवस के अवसर पर करनाल में होगा राज्य स्तरीय समारोहशराब तस्करी पर शिकंजा, 1080 अंग्रेजी शराब की बोतलें से लदे ट्रक सहित एक गिरफ्तारहवाई अड्डों के विस्तार से हिमाचल में पर्यटन क्षेत्र को मिलेगा नया आयामः मुख्यमंत्री जेईई मेन्स पेपर में फर्जीवाड़े का पर्दाफाश: टॉपर, उसके पिता और तीन अन्य आरोपियों को गिरफ्तार किया
हरियाणा

बीएसएनएल का बेड़ा गर्क कर रहे अधिकारी, महीनों से सैकड़ों फोन-इंटरनेट बंद

September 16, 2020 07:51 PM

पंचकूला, फेस2न्यूज:
स्थानीय सेक्टर-19 में भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) के टेलीफोन और ब्राडबैंड लगभग डेढ़ से दो महीने से बंद है। सेक्टर में हरियाणा सीआईटी विभाग का मुख्यालय भी है, वहां भी विभाग के फोन और इंटरनेट बंद है। सैकड़ों शिकायतें विभाग के पास हैं लेकिन अभी तक ठीक करने की जहमत नहीं उठाई गई है। तंग आकर उपभोक्ताओं ने कनेक्शन कटा निजी कंपनियों की सेवाएं ले ली हैं। अगर विभाग का यही रवैया रहा तो बाकी लोग भी बीएसएनएल से किनारा कर लेंगे। सरकार को राजस्व नुकसान के अलावा उसकी छवि भी खराब हुई है। इसके लिए अधिकारी जिम्मेवार है लेकिन उन्हें कोई चिंता नहीं क्योंकि उन्हें वेतन और अन्य सुविधाएं समय पर मिल रही है।
उपभोक्ता सरकारी उपक्रम से संतुष्ट हों, लेनकि अधिकारी चाहतें हैं कि कम कम उपभोक्ता रहें ताकि उनके आराम में कोई खलल न पड़े। कहने को पंद्रह दिन से छिटपुट काम चला रखा है पर बिना मशीन के अंदाज से काम हो रहा है, नतीजतन खराबी कहां है उन्हें पता नहीं चल रहा। सैकड़ों लोग परेशान है। छह फुट का ख़ड्डा खोदकर जमीनी तारों की खराबी दूर करने के लिए छह से ज्यादा लोगों की जरूरत है ताकि जल्द काम हो जो विभाग के दिशा निर्देश भी हैं। पर यहां दो आदमी ही होते हैं, इनमें एक मजदूर और दूसरा ठीक करने वाला।
ये ठेकेदार के लोग होते हैं। यह काम विभाग ठेके से कराता है। अधिकारी बेपरवाही या जान बूझकर विभाग को नुकसान और ठेकेदार को फायदा और उपभोक्ताओं को परेशान कर रहे हैं। इसमें उनका फायदा है इसलिए महीने तक तो शिकायतों का नोटिस ही नहीं लिया गया। दिशा निर्देश के मुताबिक कोई भी खराबी सात दिन के अंदर-अंदर ठीक होनी चाहिए अन्यथा कार्रवाई का प्रावधान है पर यहां किसी से कोई जवाबतलबी नहीं हो रही। किसी पर कोई कार्रवाई नहीं हो रही।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हरियाणा ख़बरें
फसलों के अवशेष किसानों के लिए एक प्रकार से सोना, जलाने की बजाय उचित प्रबंधन चाहिए निजी सुरक्षा एजेंसी लाइसेंसिंग प्रक्रिया 1 नवंबर से होगी ऑनलाइन बिजनेस रिफॉर्म एक्शन प्लान 31 दिसंबर तक शत-प्रतिशत कार्यान्वयन के निर्देश 1 नवंबर को हरियाणा दिवस के अवसर पर करनाल में होगा राज्य स्तरीय समारोह शराब तस्करी पर शिकंजा, 1080 अंग्रेजी शराब की बोतलें से लदे ट्रक सहित एक गिरफ्तार दो आईएएस अधिकारियों के स्थानांतरण हरियाणा में 19 और आईएएस अधिकारियों का तबादला कर्मचारियों को ‘फैस्टीवल एडवांस’ देने का निर्णय 20 नई एंबुलेंस को झंडी दिखाकर किया रवाना ‘वॉलमार्ट वृद्धि डिजिटल लर्निंग प्लेटफॉर्म’ नामक पहले ‘ई-इंस्टीट्यूट’ का उदघाटन