ENGLISH HINDI Sunday, October 25, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
बरौदा उपचुनाव के दौरान हरियाणा में प्रशासनिक फेरबदल दस साल तीन खरीदारों को प्लाट नहीं देने पर प्रीत लैंड डेवलपर एंड प्रोमोटर मोहाली को भुगतना होगा खामियाजाइलेक्ट्रॉनिक्स गोदाम में चोरी की नाकाम कोशिश दुकानदारों में दहशत का माहौल लीलाधर शर्मा ने किया भारत पाक सीमा पर सर्वधर्म स्थल निर्माण का भूमि पूजनबस क्यू शेल्टर बनाना भूला प्रशासन व नगर निगम: कांग्रेसभाजपा: झूठ, फरेब और खोखले दावों का लॉलीपॉप, कांग्रेसी नेता परमजीत सिंह ने जनता को चेताया, जाग जाओ कृषि कानूनों के मुद्दे पर बार-बार यू-टर्न लेने से सुखबीर का नैतिकता रहित चेहरा बेनकाबकाव्य संग्रह "खुशबू रिश्तों की का हुआ विमोचन"
पंजाब

पंजाब सरकार ने प्राईवेट लैबज़ के लिए कोविड-19 टेस्ट रेट घटाए

September 23, 2020 08:05 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
राज्य के लोगों कोरोना टेस्टिंग के लिए उत्साहित करने और प्राईवेट लैबॉरटरीज़ की तरफ से की जा रही मुनाफ़ाख़ोरी को रोकने के लिए पंजाब सरकार ने प्राईवेट लैबज़ के लिए कोविड टेस्टिंग के रेट घटा दिए हैं। लैबॉरटरीज़ को कोविड टैस्टों के रेटों को लिखित रूप में दिखाने के लिए भी हिदायत की गई है जिससे रेट आसानी से पढ़े जा सकें।
प्रेस बयान में इस सम्बन्धी जानकारी देते हुये स्वासथ्य मंत्री ने बताया कि पंजाब सरकार ने महामारी एक्ट,1897 (कोविड -19 रैगूलेशन 2020) के अधिकारों का प्रयोग करते हुये हिदायत की है कि कोई भी प्राईवेट लैबॉरटरी कोविड के आर.टी -पी.सी.आर टैस्ट के लिए 1600 रुपए (समेत जी.ऐस.टी, टैक्स, कागज़ी कार्यवाही और रिपोर्टों) से अधिक पैसे नहीं ले सकती। इसी तरह राज्य की सभी प्राईवेट लैबज़ को कोविड 19 के ट्रूनैट टैस्ट के लिए 2000 रुपए और सीबीनैट टैस्ट का रेट 2400 रुपए(समेत जी.एस.टी, टैक्स, कागज़ी कार्यवाही और रिपोर्टें) निर्धारित किया गया है।
सिद्धू ने स्पष्ट किया कि घर जाकर नमूने लेने के लिए अतिरिक्त खर्चा लैब द्वारा निर्धारित किया जा सकता है। परन्तु प्राईवेट लैबॉरेटरियों को पंजाब सरकार की तरफ से जारी दिशा-निर्देशों की पालना करनी होगी। उन्होंने कहा कि प्राईवेट लैबज़ आई.सी.एम.आर. और भारत सरकार और राज्य सरकार की तरफ से समय-समय पर निर्धारित किये सभी टेस्टिंग प्रोटोकालों की सख्ती से पालना को यकीनी बनाऐंगी। निजी लैबॉरटरीज़ कोविड-19 के टैस्टों के नतीजों से सम्बन्धित आंकड़े राज्य सरकार के साथ साझे करेंगी और समय पर आई.सी.एम.आर पोर्टल पर अपलोड करेंगी।
उन्होंने बताया कि सैंपल रैफरल फार्म (एस.आर.एफ) के मुताबिक नमूना लेते समय टैस्ट करवाने वाले व्यक्ति की पहचान, पता और प्रमाणित मोबाइल नंबर नोट करना लाजि़मी है।
उन्होंने आगे कहा कि नमूना लेते समय आरटी-पीसीआर एप और डाटा अपलोड किया जाना चाहिए। टैस्ट की रिपोर्ट मरीज़ को टेस्टिंग मुकम्मल होने से तुरंत बाद पहुंचायी जाये और सभी टैस्ट के नतीजे तुरंत ई-मेल के द्वारा सम्बन्धित जिले के सिविल सर्जन को भेजे जाएँ और एक कापी पंजाब स्टेट आई.डी.एस.पी सैल को भेजी जाएँ।
एन.ए.बी.एल और आई.सी.एम.आर. द्वारा मंजूशुदा सभी प्राईवेट लैबॉरेटरिज को निदेश दिए गए हैं कि मरीज़ की जानकारी को पूरी तरह गोपनीय रखा जायेगा। राज्य सरकार की तरफ से भविष्य की जांच के मद्देनजऱ सभी निजी कोविड-19 टेस्टिंग लैबज़ को आर.टी-पी.सी.आर मशीन के द्वारा तैयार डाटा और ग्राफज़ को संभाल कर रखना होगा।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
दस साल तीन खरीदारों को प्लाट नहीं देने पर प्रीत लैंड डेवलपर एंड प्रोमोटर मोहाली को भुगतना होगा खामियाजा इलेक्ट्रॉनिक्स गोदाम में चोरी की नाकाम कोशिश दुकानदारों में दहशत का माहौल कृषि कानूनों के मुद्दे पर बार-बार यू-टर्न लेने से सुखबीर का नैतिकता रहित चेहरा बेनकाब मिलावटी खाद्य पदार्थों की जांच के लिए विशेष मुहिम का आगाज़ पंजाब शहरी आवास योजना के लिए वैब पोर्टल की शुरूआत प्राचार्यों, मुख्य अध्यापकों और ब्लॉक प्राथमिक शिक्षा अधिकारियों के 585 पद भरने की प्रक्रिया शुरू खाद्य सुरक्षा से परे सोचना चाहिए और किसानों को आय सुरक्षा देनी चाहिए: बदनौर पंजाब: ‘‘ट्रांस-फैट फ्री दीवाली’’ मुहिम की शुरूआत पंजाब राज्य अनुसूचित जाति आयोग द्वारा गाँव जलालपुर मामले में एस.एस.पी. होशियारपुर से रिपोर्ट तलब अमन-शांति बहाली और साम्प्रदायिक सामांज्य स्थापित करने के लिए पुलिस भूमिका को याद किया