ENGLISH HINDI Thursday, January 21, 2021
Follow us on
 
पंजाब

जत्थेदार द्वारा ईवीएम पर टिप्पणी से पंजाब में नया विवाद छिड़ा

November 21, 2020 09:42 AM

चंडीगढ, फेस2न्यूज:
श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह की ईवीएम पर टिप्पणी ने पंजाब में नया विवाद छेड़ दिया है। एक साल बाद जब पंजाब में विधानसभा के चुनाव हैं ऐसे में उनके बयान से ईवीएम को लेकर राजनीतिक पार्टियों में एक नई बहस छिड़ गई है। बिहार चुनाव परिणामों पर टिप्पणी करते हुए अकालीदल के प्रधान सुखबीर बादल ने पिछले दिनों एक कार्यक्रम में कहा कि बिहार में आंधी विपक्षी पार्टियों की चल रही थी, लेकिन नतीजा सरकार के पक्ष में आ गया। लगभग इसी तरह का सवाल लोक इंसाफ पार्टी और आम आदमी पार्टी के नेताओं ने भी उठाया। हालांकि भारतीय जनता पार्टी के पंजाब प्रधान अश्वनी शर्मा ने इन्हें कड़ा जवाब देते हुए कहा कि जब पिछले चुनाव में राजस्थान और पंजाब में चुनावी परिणाम इनके पक्ष में आए थे तब तो इन्होंने इस तरह के सवाल नहीं उठाए, जब भाजपा के पक्ष में आ गए तो ईवीएम पर सवाल उठाने लगे हैं। अकाली दल से अलग होकर अपनी पार्टी शिरोमणि अकालीदल डेमाेक्रेटिक बनाने वाले सुखदेव सिंह ढींडसा ने सीधे तौर पर भाजपा का पक्ष नहीं लिया, लेकिन उन्होंने कहा कि अभी तक ईवीएम को हैक करने जैसे कोई सुबूत नहीं मिले हैं, ऐसे में यह कहना कि ईवीएम गलत है यह सही नहीं होगा। बता दें, श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह की ओर से ईवीएम पर सवाल उठाने के कारण वह खुद भी निशाने पर आ गए हैं। भाजपा के हरजीत ग्रेवाल ने उन्हें एक परिवार के पक्ष में उतरने को गलत बताया।ह रजीत ग्रेवाल की तख्त साहिब के जत्थेदार पर की गई टिप्पणी के कारण वह भी घिर गए हैं। उन्होंने जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह के प्रति बरते गए शब्दों के लिए तो माफी मांग ली है, लेकिन साथ ही कहा है कि यदि वह राजनीतिक टिप्पणी करेंगे तो हम उसका जवाब जरूर देंगे।


[11/20, 20:55] Satnarayan Gupta: चंडीगढ़
पंजाब के बठिंडा में शुक्रवार को बठिंडा-चंडीगढ़ नेशनल हाईवे स्थित गांव जेठूके के पास शुक्रवार सुबह एक दर्दनाक हादसे में जीजा-साला और नौ माह के बच्चे की मौत हो गई। बच्चे की मां समेत तीन महिलाएं घायल हो गई। हादसा शुक्रवार सुबह करीब सवा आठ बजे मर्सिडीज के सड़क पर खड़े ट्रक में घुस जाने के कारण हुआ। मृतकों में गुरइकबाल सिंह, सुबेग सिंह एवं नौ माह के बच्चे जगशेर सिंह शामिल है। वहीं गुरइकबाल की पत्नी मनदीप कौर और उसकी भाभियां मनजिंदर कौर और लवप्रीत कौर घायल हो गई। कार चला रहे गुरइकबाल सिंह की शादी एक सप्ताह पहले मनदीप कौर निवासी गांव ढिलवां जिला बरनाला के साथ हुई थी। शादी के चार दिन बाद मनदीप कौर की तबीयत बिगड़ गई थी तो उसे आदेश अस्पताल बठिंडा में दाखिल करवाया गया था। शुक्रवार को मनदीप को अस्पताल से छुट्टी मिली थी। गुरइकबाल सिंह सभी को साथ लेकर अपने गांव महोली कलां जिला संगरूर जा रहा था। शुक्रवार सुबह हुए हादसे का कारण कार चला रहे गुरइकबाल सिंह को झपकी आना बताया जा रहा है। झपकी के कारण कार सड़क किनारे खडे़ ट्रक के नीचे घुस गई। इससे गुरइकबाल सिंह एवं उसकी बगल वाली सीट पर बैठे उसके साले सुबेग सिंह और पिछली सीट पर सो रहे नौ माह के जगशेर सिंह की जान चली हो गई। रामपुरा थाना सदर के इंस्पेक्टर भूपिंदरजीत सिंह ने बताया कि पुलिस ने घायल गमनदीप कौर के बयान पर 174 की कार्रवाई की है।
गुरइकबाल सिंह की शादी मनदीप कौर से एक सप्ताह पहले ही हुई थी। शादी के चार दिन बाद मनदीप कौर की तबीयत बिगड़ गई थी तो उसे आदेश अस्पताल बठिंडा में दाखिल करवाया गया था। मनदीप कौर के पास उसकी भाभी मनजिंदर कौर, लवप्रीत कौर थी। शुक्रवार को अस्पताल से छुट्टी मिली तो गुरइकबाल सिंह सभी के साथ अपने गांव महोली कलां जिला संगरूर जा रहा था। सिविल अस्पताल रामपुरा पहुंचे परिजनों को रो-रोकर बुरा हाल था। सभी की जुबान पर एक ही बात थी कि वाहेगुरु से बड़ी अरदासों के बाद जगशेर का जन्म हुआ था। क्या पता था कि वह आज अपनी जिंदगी का आखिरी सफर कर रहा है।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
गणतंत्रता दिवस पर सुरक्षा को लेकर महिला पुलिस फ्रंटलाईन पर ‘आप’ ने 26 जनवरी के ‘किसान ट्रैक्टर परेड’ के समर्थन का किया ऐलान आप प्रतिनिधिमंडल निकाय चुनाव को लेकर राज्य चुनाव आयुक्त से मिला 200 जरूरतमंद परिवारों को बांटे जूते और दवाईया तीन अलग-अलग गिरोहों के पांच सदस्य हथियार,जाली भारतीय करंसी और चोरी के वाहनों सहित काबू आंदोलनकारी किसानों को धमकाना मोदी सरकार का बेहद शर्मनाक कार्य: मान पंजाब के विश्वविद्यालय और महाविद्यालय 21 जनवरी से पूर्ण रूप में खोले जाएंगे एडीजीपी राय ने मुनीष जिन्दल द्वारा सामयिक घटनाओं बारे लिखी किताब ‘द पंजाब रिव्यू’ की रीलीज़ क्या ये किसान अलगाववादी व आतंकवादी लगते हैं? कैप्टन का केंद्र सरकार से सवाल भारत रत्न गुलजारी लाल नन्दा फ़ाउंडेशन की पंजाब इकाई के प्रबंध संयोजक होंगे बरनाला के एडवोकेट कपिल