ENGLISH HINDI Sunday, January 17, 2021
Follow us on
 
पंजाब

दिल्ली कूच कर रहे किसानों को रोकने के लिए हरियाणा सरकार की जबरन कोशिशों की कड़ी आलोचना

November 27, 2020 10:04 AM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
खेती कानूनों के विरुद्ध रोष प्रकट करने के लिए दिल्ली की तरफ कूच कर रहे किसानों को हरियाणा द्वारा रोकने की जबरन कोशिशें करने की कड़ी आलोचना करते हुए मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने किसानों को हाशिए पर धकेलने के लिए भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार को चेतावनी दी।
खट्टर सरकार को दिल्ली में शांतमयी ढंग से अपनी आवाज़ उठाने के लिए प्रदर्शनकारी किसानों को राष्ट्रीय मार्ग के द्वारा निकलने की इजाज़त देने की अपील करते हुए कैप्टन ने किसानों को आगे बढऩे से रोकने की ज़रूरत पर सवाल उठाया। मुख्यमंत्री ने कहा कि एम.एल. खट्टर सरकार किसानों को दिल्ली की तरफ जाने से क्यों रोक रही है? उन्होंने कहा कि शांतमयी ढंग से रोष प्रकट कर रहे किसानों पर निर्दयी बल का दमनकारी प्रयोग करना पूरी तरह अलोकतांत्रिक और असंवैधानिक है। मुल्क का पेट भरने वालों के हाथ पकडऩे की ज़रूरत है न कि उन्हें धकेलने की।
मुख्यमंत्री ने संवैधानिक दिवस के अवसर पर इस कार्यवाही को दुखद कदम करार देते हुए कहा कि किसानों के रोष प्रकट करने के संवैधानिक अधिकार को दबाया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने हरियाणा पुलिस द्वारा बल का बेरहम प्रयोग किये जाने की कड़ी आलोचना की जिसने राज्य के द्वारा दिल्ली की तरफ कूच कर रहे पंजाब के किसानों को रोकने के लिए पानी की बौछार और आँसू गैस का प्रयोग किया और बहुत से स्थानों पर हरियाणा के किसानों को उनके गाँवों से बाहर निकलने की आज्ञा नहीं दी गई।
कैप्टन ने कहा कि हिंसा की क्या ज़रूरत थी। उन्होंने कहा कि पंजाब में किसान बिना किसी दिक्कत के पिछले दो महीनों से आंदोलन कर रहे हैं, यहाँ तक कि राज्य को इससे करोड़ों रुपए का घाटा भी सहना पड़ा। हरियाणा सरकार की कार्यवाहियों को भडक़ाऊ करार देते हुए उन्होंने कहा कि पंजाब में हिंसा और अमन-कानून की कोई समस्या पैदा नहीं हुई। मुख्यमंत्री ने कहा कि लगभग दो महीनों से किसान बिना किसी मुश्किल के पंजाब में शांतमयी ढंग से रोष प्रदर्शन कर रहे हैं। हरियाणा सरकार बल का प्रयोग करके किसानों को क्यों भडक़ा रही है? क्या सार्वजनिक मार्ग से शांतमयी तरीके से गुजऱने का किसानों को कोई हक नहीं है?
मुख्यमंत्री ने भारतीय जनता पार्टी की केंद्रीय लीडरशिप को किसानों के विरुद्ध एसे अन्याय वाले हत्थकंडे न अपनाने के लिए अपनी राज्य सरकारों को निर्देश देने की अपील की है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा किसानों की बात सुनी जाये और उनकी चिंताएं दूर की जाएँ।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
पंजाब प्रदेश में कोरोना वैक्सीनेशन 16 जनवरी से शुरु मोहाली में बर्ड फ़्लू का संदिग्ध मामला सामने आया; पुष्टि के लिए नमूने भोपाल भेजे डेराबस्सी: नगर कौंसिल चुनाव आते ही शहर में बढ़ी हलचल स्कूल से बच्चों को लेकर आ रही महिला से मोटरसाइकिल सवारों ने छीना मोबाइल आबकारी विभाग और पुलिस द्वारा बिना होलोग्राम के बायो ब्रांड्स की बड़ी खेप बरामद प्रतिबंधित डोर के साथ पटाखों का जखीरा , तेजाब, बारूद बरामद टीकाकरण के लिए 20,450 वायल्स (कोवीशील्ड) हुईं प्राप्त: सिद्धू पंजाब में 3 आई.पी.एस. अधिकारी तबदील किसानों की मांगे जायज, कृषि संबंधी काले कानून तुंरत रद करे मोदी सरकार:परनीत कौर फोर्टिस मोहाली के डॉक्टरों ने महिला के कंधे के आर्थराइटिस के इलाज के लिए सफल रिवर्स शोल्डर आर्थोप्लास्टी की