ENGLISH HINDI Friday, January 22, 2021
Follow us on
 
पंजाब

प्रशासन की लापरवाही से डेरा बस्सी शहर बना नरक: रंधावा

November 27, 2020 10:18 AM

डेराबस्सी, पिंकी सैनी:
केंद्र सरकार के स्वच्छ भारत अभियान तथा पंजाब को गंदगी मुक्त्त बनाने के लिए पंजाब सरकार के अभियान का मजाक उड़ाते हुए, सरकारी तंत्र की लापरवाही ने हलका डेरा बस्सी को नरक में बदल कर रख दिया है। सिटी ब्यूटीफुल के रूप में लोकप्रिय चंडीगढ़ शहर की जड़ में स्थित यह शहर पंजाब के सरकारी तंत्र की लापरवाही के कारण गंदगी का ढेर बन कर रह गया है। शहर में जगह-जगह गंदगी के ढेर देखे जा सकते हैं। जिसकी पोल मुंह बोलती यह तस्वीर डेरा बस्सी बस अड्डे के पीछे एक्सचेंज (BSNL) के साथ छपे प्रशासनिक स्लोगन की पोल खोल रही है। कोरोना जैसी भयानक महामारी के दौरान प्रशासन की इस तरह की घोर लापरवाही ने निर्वाचन क्षेत्र के लोगों का जीना मुश्किल कर दिया है। लोगों की सेहत संभाल हेतु सीतलहर की रातों में कर्फ्यू लगाया पंजाब सरकार की मूर्खता को सिद्ध करता है। गौरतलब है कि नगर कौंसिल डेरा बस्सी के वार्डो नंबर 8 गांव सैदपुरा में अवैध डंपिंग ग्राउंड की बदबू और कचरे के धुएं
से लोग घुट घुट कर जीने को मजबूर है। लोगो दुअरा की जा रही अपीलों व सरकार को भेजे गए पत्र विहारों का कोई असर नहीं हो रहा है।
कुलजीत सिंह रंधावा (अध्यक्ष, पंजाब राज्य पंचायत परिषद पंजाब) नेता आम आदमी पार्टी हलका डेरा बस्सी ने कहा कि डेरा बस्सी शहर प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा की जा रही रिश्वतखोरी और दलाली की भेंट चढ़ गया है। जिस की कीमत यहां के लोगों को भुगतनी पड़ रही है। उन्होंने पंजाब सरकार तथा प्रशासनिक अधिकारियों को चेतावनी देते हुए कहा कि यदि समय रहते इस पहलू पर ध्यान नहीं दिया गया तो आम आदमी पार्टी डेरा बस्सी में प्रशासन तथा पंजाब सरकार के खिलाफ उच्चतम स्तर पर धरना प्रदर्शन करेगी।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
गणतंत्रता दिवस पर सुरक्षा को लेकर महिला पुलिस फ्रंटलाईन पर ‘आप’ ने 26 जनवरी के ‘किसान ट्रैक्टर परेड’ के समर्थन का किया ऐलान आप प्रतिनिधिमंडल निकाय चुनाव को लेकर राज्य चुनाव आयुक्त से मिला 200 जरूरतमंद परिवारों को बांटे जूते और दवाईया तीन अलग-अलग गिरोहों के पांच सदस्य हथियार,जाली भारतीय करंसी और चोरी के वाहनों सहित काबू आंदोलनकारी किसानों को धमकाना मोदी सरकार का बेहद शर्मनाक कार्य: मान पंजाब के विश्वविद्यालय और महाविद्यालय 21 जनवरी से पूर्ण रूप में खोले जाएंगे एडीजीपी राय ने मुनीष जिन्दल द्वारा सामयिक घटनाओं बारे लिखी किताब ‘द पंजाब रिव्यू’ की रीलीज़ क्या ये किसान अलगाववादी व आतंकवादी लगते हैं? कैप्टन का केंद्र सरकार से सवाल भारत रत्न गुलजारी लाल नन्दा फ़ाउंडेशन की पंजाब इकाई के प्रबंध संयोजक होंगे बरनाला के एडवोकेट कपिल