ENGLISH HINDI Sunday, January 17, 2021
Follow us on
 
राष्ट्रीय

टू व्‍हीलर हेलमेट के लिए बीआईएस मानकों में संशोधन

November 27, 2020 07:18 PM

नई दिल्ली, फेस2न्यूज:
सड़क परिवहन तथा राजमार्ग मंत्रालय ने एसओ 4252 (ई) 26 नवम्‍बर, 2020 के माध्‍यम से टू व्‍हीलर मोटर वाहनों (क्‍वालिटी कंट्रोल) के सवारियों के लिए हेलमेट आदेश 2020 जारी किया है। टू व्‍हीलर सवारियों के लिए सुरक्षा हेलमेट को अनिवार्य बीआईएस प्रमाणीकरण तथा गुणवत्ता नियंत्रण प्रकाशन के अंतर्गत शामिल किया गया है।
उच्‍चतम न्‍यायालय के निर्देशों के अनुसार देश की जलवायु स्थिति के अनुकूल हल्‍के भार के हेलमेट के बारे में विचार करने तथा हेलमेट का परिचालन सुनिश्चित करने के लिए सड़क सुरक्षा समिति बनाई गई थी। इस समिति में एम्‍स के विशेषज्ञ डॉक्‍टरों तथा बीआईएस के विशेषज्ञों सहित विभिन्‍न क्षेत्रों के विशेषज्ञ शामिल किए गए। समिति ने मार्च 2018 में अपनी रिपोर्ट के विस्‍तृत विश्‍लेषण के बाद देश में हल्‍के भार के हेलमेट की सिफारिश की। मंत्रालय ने इस सिफारिश को स्‍वीकार कर लिया।
समिति की सिफारिशों के अनुसार बीआईएस ने विशेष विवरणों में संशोधन किया है जिससे हल्‍के भार के हेलमेट बनेंगे। भारतीय बाजार में अच्‍छी स्‍पर्धा और विभिन्‍न हेलमेट नि‍र्माताओं को देखते हुए आशा की जाती है कि इस स्‍पर्धा से अच्‍छी गुणवत्ता के कम भार वाले हेलमेट की मांग बढ़ेगी। भारत में प्रतिवर्ष लगभग 1.7 करोड़ टू व्‍हीलर बनाये जाते हैं।
क्‍यूसीओ का अर्थ होगा कि केवल बीआईएस प्रमाणित टू व्‍हीलर हेलमेट ही बनाए जाएंगे और टू व्‍हीलर बाजार में बेचे जाएंगे। इससे कम गुणवत्ता वाले हेलमेट की बिक्री कम होगी और परिणामस्‍वरूप टू व्‍हीलर चालक घातक दुर्घटना से बचेंगे।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और राष्ट्रीय ख़बरें
रूफटॉप सोलर योजना हेतु आवश्यक सलाह/जानकारी नेशनल टेलेंट खोज परीक्षा 14 फरवरी को उपराष्ट्रपति ने भारत के सॉफ्ट पॉवर को बढ़ाने के लिए पर्यटन क्षमता का लाभ उठाने को कहा सरकार और किसान संगठनों के बीच आज नई दिल्ली में आठवें दौर की बैठक हुई जनवरी 2021 के लिए मौसम का पूर्वानुमान राजेश मुनि राष्ट्र संत की उपाधि से अलंकृत पटियाला, बठिंडा, फाजिल्का और मोगा के झुग्गी-झोंपड़ी निवासियों को मालिकाना हक के लिए हरी झंडी ब्रिटेन में पाए गए कोरोना वायरस के नए स्वरूप, संक्रमितों की कुल संख्या 38 हो चुकी भारत की कोविड वैक्सीन विज्ञान की लम्‍बी छलांग आम जनता के लिए 5 जनवरी से फिर खुलेगा राष्ट्रपति भवन संग्रहालय