ENGLISH HINDI Sunday, January 17, 2021
Follow us on
 
राष्ट्रीय

बहादुर सीमा प्रहरी कठिन भौगोलिक स्थिति और विषम परिस्थितियों के बावजूद पूरी मुस्तैदी से कर रहे हैं देश की सीमाओं की रक्षा

December 01, 2020 08:30 PM

नई दिल्ली, फेस2न्यूज:
सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) आज अपना 56 वां स्थापना दिवस मना रहा है। इस अवसर पर केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने राजधानी दिल्ली के छावला कैंप में आयोजित सीमा सुरक्षा बल स्थापना दिवस परेड-2020 की सलामी ली। कार्यक्रम में प्रमुख रक्षा अध्यक्ष जनरल बिपिन रावत, बीएसएफ के महानिदेशक श्री राकेश अस्थाना, केंद्रीय सशस्त्र बलों और पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी तथा अन्य गणमान्य लोग शामिल हुए।  

सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) का 56 वां स्थापना दिवस


केंद्रीय गृह राज्य मंत्री ने बीएसएफ के शहीद स्मारक पर अमर सीमा प्रहरियों को श्रद्धासुमन अर्पित किए। उन्होंने सीमा सुरक्षा बल कर्मियों को ‘वीरता के लिए पुलिस पदक’ और ‘विशिष्ट सेवाओं के लिए राष्ट्रपति के पुलिस पदक’ प्रदान किए। श्री नित्यानंद राय ने बीएसएफ की वार्षिक ई-पत्रिका "बॉर्डरमैन" का विमोचन भी किया।
अपने सम्बोधन में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री ने कहा कि सीमा सुरक्षा बल के बहादुर सीमा प्रहरी कठिन भौगोलिक स्थिति और विषम परिस्थितियों के बावजूद पूरी मुस्तैदी से देश की सीमाओं की रक्षा कर रहे हैं। बीएसएफ के जवानों द्वारा कर्तव्य की राह में दिए गए सर्वोच्च बलिदान और अदम्य शौर्य को नमन करते हुए श्री नित्यानंद राय ने कहा कि उनकी वजह से देश का हर नागरिक निडर होकर देश के विकास कार्यों में योगदान दे रहा है।  

सीमा सुरक्षा बल की आर्टिलरी विंग के स्वर्ण जयंती वर्ष में प्रवेश करने का जिक्र करते हुए केंद्रीय गृह राज्य मंत्री ने कहा कि उन्हे विश्वास है कि आर्टिलरी विंग पूर्व की भांति अपने गौरवशाली इतिहास को आगे बढ़ाते हुए नई-नई ऊंचाइयां हासिल करेगी। परेड में शामिल महिला दल की प्रशंसा करते हुए श्री राय ने कहा कि देश की सुरक्षा में महिला शक्ति कि बढ़ती भागीदारी देखकर मन प्रसन्न है और बल की महिला प्रहरी प्रधानमंत्री के संकल्प को साकार कर रही हैं। केंद्रीय गृह राज्य मंत्री ने कहा कि सीमा पार से आतंकी घुसपैठ और नशीले पदार्थों की तस्करी के माध्यम से देश को नुकसान पहुंचाने की साजिश को बीएसएफ के जवानों द्वारा बखूबी नाकाम करने के साथ ही उसका उचित जवाब भी दिया जाता है।
कोरोना काल में सीमा सुरक्षा बल द्वारा किए गए कार्यों की सराहना करते हुए केंद्रीय गृह राज्य मंत्री ने कहा कि इस दौरान बीएसएफ कर्मी भी संक्रमित हुए लेकिन उन्होने हौसला नहीं खोया। श्री राय ने कहा कि सीमा सुरक्षा बल की प्रत्येक चुनौती और उसका निदान सरकार की प्राथमिकता है। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह के कुशल नेतृत्व में केंद्र सरकार बल के जवान और उनके परिवारों का पूरा ख्याल रख रही है और पूरा राष्ट्र आपके साथ खड़ा है।
इस अवसर पर सीमा सुरक्षा बल के महानिदेशक श्री राकेश अस्थाना ने देश की सीमाओं की सुरक्षा और अखंडता का आश्वासन देते हुए बीएसएफ की उपलब्धियों, नई पहल और भावी चुनौतियों से निपटने की तैयारियों की जानकारी दी।
बीएसएफ, दुनिया का सबसे बड़ा सीमा सुरक्षा बल है जो पाकिस्तान और बांग्लादेश के साथ 6386.36 किलोमीटर लंबी अंतर्राष्ट्रीय सीमा की सुरक्षा करता है। अपनी स्थापना दिवस के अवसर पर सीमा सुरक्षा बल राष्ट्र और अपने आदर्श ‘जीवन पर्यंत कर्तव्य’ की प्रतिबद्धता को दोहराता है।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और राष्ट्रीय ख़बरें
रूफटॉप सोलर योजना हेतु आवश्यक सलाह/जानकारी नेशनल टेलेंट खोज परीक्षा 14 फरवरी को उपराष्ट्रपति ने भारत के सॉफ्ट पॉवर को बढ़ाने के लिए पर्यटन क्षमता का लाभ उठाने को कहा सरकार और किसान संगठनों के बीच आज नई दिल्ली में आठवें दौर की बैठक हुई जनवरी 2021 के लिए मौसम का पूर्वानुमान राजेश मुनि राष्ट्र संत की उपाधि से अलंकृत पटियाला, बठिंडा, फाजिल्का और मोगा के झुग्गी-झोंपड़ी निवासियों को मालिकाना हक के लिए हरी झंडी ब्रिटेन में पाए गए कोरोना वायरस के नए स्वरूप, संक्रमितों की कुल संख्या 38 हो चुकी भारत की कोविड वैक्सीन विज्ञान की लम्‍बी छलांग आम जनता के लिए 5 जनवरी से फिर खुलेगा राष्ट्रपति भवन संग्रहालय