ENGLISH HINDI Wednesday, January 20, 2021
Follow us on
 
राष्ट्रीय

बिहार: नालंदा जिले में ग्लास ब्रिज तैयार, खोला जा सकता है अगले वर्ष, उठा सकते हैं लुफ्त

December 21, 2020 10:12 AM

— संजय कुमार मिश्रा
आपने सोशल मीडिया या इंटरनेट पर सर्फिंग करते हुए चीन और अमेरिका के ग्लास ब्रिज की तस्वीरें और वीडियो जरूर देखी होंगी। इन्हें देखने के बाद आपका मन भी इन खूबसूरत जगहों पर जाने का करता होगा। लेकिन आप में से ज्यादातर लोग इन जगहों पर अलग-अलग कारणों से नहीं जा पाएंगे होंगे। पर अब ग्लास ब्रिज पर चढ़कर स्काई वॉक करने और वादियों का नजारा लेने का सपना अपने देश में ही साकार होने वाला है। जी हां, बिहार के नालंदा जिले के राजगीर में बनकर तैयार हुआ ग्लास ब्रिज कभी भी आपके लिए खोला जा सकता है और आप यहां जाकर लुफ्त उठा सकते हैं।
पांच पहाड़ियों से घिरी बिहार के राजगीर में ग्लास ब्रिज बन कर तैयार हो गया है। इसे नये साल में पर्यटकों के लिए खोला जाएगा। बिहार का पहला ग्लास ब्रिज 85 फुट लंबा, 6 फुट चौड़ा है। अंतरराष्ट्रीय पर्यटक स्थल राजगीर में जाड़े के दिनों में बड़ी संख्या में पर्यटक आते हैं। इस बार उन्हें यहां अलग ही रोमांच का अनुभव होगा। यहां के घने जंगलों में नेचर सफारी (500 एकड़ में) बनाया जा रहा है। 250 फुट की ऊंचाई पर बने इस ट्रांसपैरेंट ब्रिज पर चलना रोमांचकारी अनुभव होगा।
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के ड्रीम प्रोजेक्ट राजगीर नेचर सफारी में यह ग्लास ब्रिज बना हुआ है। ग्लास ब्रिज के अलावा यहां पर आप जू सफारी का भी मजा ले पाएंगे। पहले से ही खूबसूरत, पांच पहाड़ियों से घिरा, गौतम बुद्ध की विरासत को समेटे हुए और बिहार का अंतरराष्ट्रीय पर्यटन स्थल राजगीत में नेचर सफारी चार चांद लगाने का काम करेगा।
200 फीट ऊंचे, 85 फीट लंबे और 6 फीट चौड़े इस ग्लास ब्रिज को चीन के हांगझोऊ प्रोविंस में स्थित ब्रिज की तर्ज पर बनाया गया है। नेचर सफारी को 500 एकड़ में स्थित ऐतिहासिक बुद्ध मार्ग इलाके में बनाया गया है। इस नेचर सफारी में ग्लास ब्रिज के अलावा, जू सफारी, और रोप साइकलिंग करने की भी सुविधा है। साथ ही बिहार दर्शन और कैफेटेरिया भी आपको कम आकर्षित नहीं करेंगे।
ज्ञात हो कि बिहार का नालंदा विश्वविद्यालय एवम् विक्रमशिला विश्वविद्यालय दुनिया के प्राचीनतम विश्वविद्यालय में गिने जाते है जहां दुनियां के कोने कोने से विद्यार्थी शिक्षा ग्रहण करने आते थे। अब ये ग्लास ब्रिज पर्यटन के रुप में नालंदा के नाम को और ऊंचा करेगा।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और राष्ट्रीय ख़बरें
यात्री और माल वाहनों की आवाजाही पर पड़ोसी देशों के साथ समझौता जेईई (मुख्य) परीक्षा ‘कक्षा 12 में 75 प्रतिशत अंक’ की पात्रता शर्त से दी गई छूट 23 जनवरी को हर साल “पराक्रम दिवस” के रूप में मनाने की घोषणा शेल इंडिया के तरलीकृत प्राकृतिक गैस एलएनजी की ट्रक लदान यूनिट का उद्घाटन भारत- फ्रांस वायुसैनिक अभ्यास डेजर्ट नाइट-21 दुर्घटनाओं में घायलों को मदद पहुॅचाने वालों को सम्मानित करने की अभिनव पहल शुरू रेलवे के माध्‍यम से उन इलाकों को जोड़ रहे हैं जो पीछे छूट गए: प्रधानमंत्री 'आत्मवत् सर्वभूतेषु' के दिव्य सूत्र के साथ कुम्भ में सहभागः स्वामी चिदानन्द सरस्वती लोकपरंपरा व संस्कृति के रंगों से सराबोर हुई कुंभनगरी ब्रिटेन प्रधानमंत्री व संयुक्त राष्ट्र संघ ने किया किसान आंदोलन का समर्थन, सरकार को भी किसानों की मान लेनी चाहिए: शुक्ला