ENGLISH HINDI Saturday, January 16, 2021
Follow us on
 
पंजाब

पीएम के लाइव कार्यक्रम के दौरान किसानों ने बीजेपी की मीटिंग का किया विरोध

December 25, 2020 06:50 PM

सुमिथा कलेर
जीरकपुर: पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिन और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लाइव कार्यक्रम पर शुक्रवार दोपहर भाजपा की एक मीटिंग का किसान संगठनों ने विरोध किया। बैठक के बाद जब बीजेपी नेता और कार्यकर्ता वहां से चले गए तो किसान यूनियन के नेता वहां पहुंचे और बीजेपी विरोधी नारे लगाने लगे।

किसान नेता कृपाल सिंह स्याऊ सीनियर मीत प्रधान मोहाली भारतीय किसान यूनियन सिधुपुर, जगजीत सिंह कराला प्रधान मोहाली भारतीय किसान यूनियन डकौंदा, पूर्व सैनिक जथेबंदी के प्रधान प्रेम सिंह बनूड ने कहा कि इस मीटिंग को बीजेपी ने गुप्त रखा था, अगर वे सच्चे हैं तो मीटिंग सब के सामने करें। जहां भी भाजपा की मीटिंग होगी, किसान जथेबंदियों द्वारा इसका विरोध किया जाएगा। केंद्र सरकार द्वारा पास किए गये कृषि कानून किसानों के समर्थन में नहीं है इसी कारण किसान उनके खिलाफ लड़ रहे हैं। इस दौरान किसानों ने केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी भी की।

आज मोदी सरकार ने किसान सम्मान निधि योजना की अगली किस्त के लिए एक कार्यक्रम बनाया था। इस योजना के तहत प्रधानमंत्री ने किसानों के खाते में दो-दो हज़ार रुपये जमा करने की घोषणा की थी। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि देने का एक कार्यक्रम आज जीरकपुर के भाजपा मंडल प्रधान शशांक दुग्गल के नेतृत्व में ज़ीरकपुर के ढकोली क्षेत्र में आयोजित किया गया।

जिक्रयोग है कि आज मोदी सरकार ने किसान सम्मान निधि योजना की अगली किस्त के लिए एक कार्यक्रम बनाया था। इस योजना के तहत प्रधानमंत्री ने किसानों के खाते में दो-दो हज़ार रुपये जमा करने की घोषणा की थी। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि देने का एक कार्यक्रम आज जीरकपुर के भाजपा मंडल प्रधान शशांक दुग्गल के नेतृत्व में ज़ीरकपुर के ढकोली क्षेत्र में आयोजित किया गया।

इस कार्यक्रम के मद्देनजर ढकोली पुलिस स्टेशन के एसएचओ दीपिंदर सिंह बराड़ द्वारा विशेष इंतजाम किए गए थे। दूसरी ओर कृषि कानून का विरोध करने वाले किसानों ने दावा किया था कि वे प्रधानमंत्री के कार्यक्रम का बहिष्कार करेंगे। जब पीएम मोदी किसानों से बात करेंगे तो आंदोलनकारी किसान और उनके परिवार टीवी बंद कर देंगे और बर्तन खड़काएंगे।

किसानों ने मांग की कि कृषि कानूनों को रद्द किया जाए जबकि केंद्र सरकार केवल उनमें संशोधन करने के लिए तैयार है। इस मौके जगजीत सिंह छड़बड़, अमरीक सिंह कराला, धर्म सिंह पत्तों, साधु सिंह भूड़ा और भजन सिंह सहित बड़ी संख्या में किसान उपस्थित थे।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
पंजाब प्रदेश में कोरोना वैक्सीनेशन 16 जनवरी से शुरु मोहाली में बर्ड फ़्लू का संदिग्ध मामला सामने आया; पुष्टि के लिए नमूने भोपाल भेजे डेराबस्सी: नगर कौंसिल चुनाव आते ही शहर में बढ़ी हलचल स्कूल से बच्चों को लेकर आ रही महिला से मोटरसाइकिल सवारों ने छीना मोबाइल आबकारी विभाग और पुलिस द्वारा बिना होलोग्राम के बायो ब्रांड्स की बड़ी खेप बरामद प्रतिबंधित डोर के साथ पटाखों का जखीरा , तेजाब, बारूद बरामद टीकाकरण के लिए 20,450 वायल्स (कोवीशील्ड) हुईं प्राप्त: सिद्धू पंजाब में 3 आई.पी.एस. अधिकारी तबदील किसानों की मांगे जायज, कृषि संबंधी काले कानून तुंरत रद करे मोदी सरकार:परनीत कौर फोर्टिस मोहाली के डॉक्टरों ने महिला के कंधे के आर्थराइटिस के इलाज के लिए सफल रिवर्स शोल्डर आर्थोप्लास्टी की