ENGLISH HINDI Saturday, March 06, 2021
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
वूमेन एंड चाइल्ड वेलफेयर सोसाइटी ने विधवा महिलाओं को हर महीने राशन देने का उठाया बीड़ाभारतीय संस्कृति में नारी के सम्मान को बहुत महत्व : सुमिता कोहलीन्यू मलौया कॉलोनी वासियों ने भाजपा सांसद के खिलाफ किया प्रदर्शन इस वर्ष भी सीधे भारतीय खाद्य निगम के माध्यम से होगी गेहूं की खरीदः राजेंद्र गर्गजन्मदोष का शीघ्र पता लगाने के लिए प्रसव पूर्व परीक्षण का महत्व अहम: डॉ.गुरजीत कौरवीरेंद्र कश्यप पुनः भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनेट्राइडेंट ग्रुप ने सिविल अस्पताल, रेडक्रॉस सोसायटी व जिला जेल को भेंट की साढ़े तीन लाख राशिगुरुद्वारा श्री नानकसर साहिब में 45वां सात दिवसीय सालाना समागम समारोह शुरू
राष्ट्रीय

रूफटॉप सोलर योजना हेतु आवश्यक सलाह/जानकारी

January 15, 2021 08:37 PM

नई दिल्ली, फेस2न्यूज-
भारत सरकार के नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय द्वारा घरों की छत पर सोलर पैनल लगाकर अपनी बिजली बनाने हेतु रूफटॉप सोलर योजना (Phase-II) चलाई जा रही है जिसके तहत पहले 3 kW तक 40 % की अनुदान राशि और उसके बाद 3 kW से 10 kW के लिए 20 % तक की अनुदान राशि मंत्रालय द्वारा दी जा रही है । यह योजना स्थानीय विद्युत वितरण कंपनियों (DISCOMs) द्वारा क्रियान्वित की जा रही है
मंत्रालय के ध्यान में लाया गया है कि कुछ रूफटॉप सोलर प्लांट लगाने वाली कंपनियां / वेंडर्स (vendors) द्वारा स्वयं को मंत्रालय द्वारा प्राधिकृत (Registered) वेंडर्स बताकर रूफटॉप सोलर प्लांट लगा रहे है । इस बारे में स्पष्ट किया जाता है कि मंत्रालय द्वारा किसी भी वेंडर को प्राधिकृत नहीं किया गया है यह योजना केवल राज्यों की विद्युत वितरण कंपनियों द्वारा क्रियान्वित की जा रही है जिसके तहत विद्युत वितरण कंपनियों द्वारा निविदा (Tender) प्रक्रिया द्वारा वेंडर्स का चयन कर सूचीबद्ध किया जाता है तथा रूफटॉप सोलर प्लांट लगाने की दर निर्धारित की जाती है ।
लगभग सभी विद्युत वितरण कंपनियों ने इसके लिए ऑनलाइन प्रक्रिया जारी की है । रूफटॉप सोलर प्लांट लगाने के इच्छुक घरेलू उपभोक्ता ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं और सूचीबद्ध वेंडर्स द्वारा रूफटॉप सोलर प्लांट लगवा सकते हैं इसके लिए उन्हें केवल निर्धारित दर के अनुसार कुल कीमत में से मंत्रालय द्वारा दी जाने वाली अनुदान राशि घटाकर शेष राशि का ही भुगतान वेंडर्स को करना है जिसकी प्रक्रिया विद्युत वितरण कंपनी के ऑनलाइन पोर्टल पर दी गई है । अनुदान की राशि वेंडर्स को मंत्रालय द्वारा विद्युत वितरण कंपनियों के माध्यम से दी जाती है । घरेलू उपभोक्ताओं को जानकारी दी जाती है कि मंत्रालय की योजना के तहत अनुदान पाने के लिए वे केवल विद्युत वितरण कंपनियों द्वारा निर्धारित वेंडर से ही रूफटॉप सोलर प्लांट लगवाए ।
निर्धारित वेंडर्स द्वारा लगाए जाने वाले सोलर पैनल एवं अन्य उपकरण मंत्रालय के मानक एवं विनिर्देशों के अनुसार होंगे तथा इसमें वेंडर्स द्वारा रूफटॉप सोलर प्लांट का 5 साल का रखरखाव भी शामिल है ।
मंत्रालय के ध्यान में यह भी लाया गया है कि कुछ वेंडर्स घरेलू उपभोक्ताओं से निर्धारित दरों से ज्यादा कीमत वसूल कर रहे हैं जो कि गलत है। उपभोक्ताओं को सलाह दी जाती है कि वे विद्युत वितरण कंपनियों द्वारा निर्धारित दरों के अनुसार ही भुगतान करें । विद्युत वितरण कंपनियों को निर्देश दिए गए है कि वे ऐसे वेंडर्स की पहचान कर दंडित करें।
अधिक जानकारी के लिए सम्बंधित विद्युत वितरण कंपनी से संपर्क करें अथवा MNRE का टोल फ्री नंबर 1800-180-3333 डायल करें । अपनी विद्युत वितरण कंपनी का ऑनलाइन पोर्टल जानने के लिए https://solarrooftop.gov.in/grid_others/discomPortalLinks पर क्लिक करें ।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और राष्ट्रीय ख़बरें
औषधियों के लिए उत्‍पादन आधारित प्रोत्‍साहन योजना को मंजूरी हिमाचल में साहसिक खेलों के लिए नए स्थान अधिसूचित दिशा रवि पर झूठा देशद्रोह का मुकदमा थोपने वाले दिल्ली पुलिस पर कार्रवाई कब? बिका हुआ माल वापस नहीं होगा, बिल में इसका मुद्रण उपभोक्ता कानून के खिलाफ बहुत हुई जनता पर पेट्रोल-डीज़ल की मार, अबकी बार मोदी सरकार' सूचना अधिकार कानून के तहत सूचना नहीं देने पर बाड़मेर उपभोक्ता आयोग ने ठोका जुर्माना नौंवी कक्षा मे छात्रा के फेल होने पर आकाश कोचिंग सेंटर को उपभोक्ता आयोग ने लगाया जुर्माना नगर निगम, नगर कौंसिल और पंचायतीं चुनाव प्रचार 12 फरवरी शाम 5 बजे होगा बन्द, 14 फरवरी को पड़ेंगी वोटें उपभोक्ता आयोग शिकायत के जवाब के लिए 45 दिन की समय सीमा को आगे नहीं बढ़ा सकता : सुप्रीम कोर्ट आगे बढ़ें, बहुत कुछ है करने को, लेकिन नींद करें पूरी